Submit your post

Follow Us

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

IPL 2020 में कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR) और चेन्नई सुपरकिंग्स का मुकाबला हुआ. इसमें KKR की ओर से बैटिंग में राहुल त्रिपाठी ने कमाल किया. ओपनिंग को उतरे इस बल्लेबाज ने 51 गेंद खेली और आठ चौकों और तीन छक्कों की मदद से 81 रन बनाए. उनकी पारी के बूते ही KKR की टीम 167 रन के स्कोर तक पहुंच सकी.

उनके अलावा KKR का कोई बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल पाई. आज बात इन्हीं राहुल त्रिपाठी की. उनका अब तक का IPL सफरनामा काफी दिलचस्प रहा है. अपने पहले ही IPL सीजन में उन्होंने आग लगा दी थी. लेकिन इसके बाद वह लगातार खुद को साबित करने की कोशिश कर रहे हैं. लगता है कि IPL 2020 के जरिए राहुल का सिक्का फिर से चल सकता है. वैसे भी इस साल अभी तक राहुल ही चल रहे हैं. फिर चाहे केएल राहुल हो या राहुल तेवतिया.

पहला सीजन और धमाका

राहुल त्रिपाठी ने साल 2017 में आईपीएल डेब्यू किया. राइजिंग पुणे सुपरजाएंट की ओर से. नीलामी में 10 लाख की बेस प्राइज पर खरीदे गए. अजिंक्य रहाणे के साथ ओपनिंग का जिम्मा मिला. और धमाल मचा दिया. 14 मैच खेले और 146.44 की स्ट्राइक रेट से 391 रन बनाए. दो बार फिफ्टी लगाई. 93 रन सबसे बड़ा स्कोर रहा.

उस सीजन में पुणे की टीम फाइनल खेली थी. केवल एक रन से विजेता बनने से रह गई थी. टीम की कामयाबी में राहुल त्रिपाठी से मिलने वाली तूफानी शुरुआत का तगड़ा रोल था. रहाणे और उनकी जोड़ी बेहद कामयाब रही. IPL 2017 के बाद पुणे की टीम समाप्त हो गई.

राजस्थान में बिगड़ा खेल

बाद में राजस्थान रॉयल्स ने नीलामी में अजिंक्य रहाणे और राहुल त्रिपाठी दोनों को खरीद लिया. राहुल के लिए राजस्थान के साथ ही किंग्स इलेवन पंजाब, आरसीबी और दिल्ली कैपिटल्स ने भी बोली लगाई. लेकिन 3.40 करोड़ रुपये के साथ बाजी राजस्थान ने मारी. हालांकि यहां काम गड़बड़ हो गया.

IPL 2018 में रहाणे ओपनर बने तो राहुल के हिस्से मिडिल ऑर्डर आया. पुणे वाला जादू राहुल राजस्थान के लिए नहीं कर सके. क्योंकि वे ओपनर थे, ऐसे में मिडिल ऑर्डर में बैटिंग करना उनके लिए आसान नहीं था. उनके आंकड़ों ने भी यही कहानी सुनाई. IPL 2018 में 12 मैचों में वे 226 रन बना सके. नाबाद 80 रन उनका बेस्ट प्रदर्शन रहा. IPL 2019 में तो हाल और बुरा रहा. आठ मैच खेले और 141 रन बना सके. हालांकि एक फिफ्टी लगाने में सफल रहे. इस बार भी मिडिल ऑर्डर में ही खिलाया गया.

फिर… मचा दी तोड़फोड़

IPL 2019 के बाद रॉयल्स ने राहुल त्रिपाठी को वणक्कम कर दिया. IPL 2020 की नीलामी में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और केकेआर ने उन पर दांव लगाया. 60 लाख रुपये में राहुल त्रिपाठी केकेआर के हुए. सीजन के पहले तीन मैचों में तो केकेआर ने उन्हें नहीं खिलाया. दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मौका मिला.

राहुल को आठवें नंबर पर बैटिंग दी गई. सबने आलोचना की. लेकिन राहुल ने खेलने के इस मौके का पूरा फायदा उठाया. 16 गेंद में तीन चौकों और तीन छक्कों की मदद से 36 रन उड़ाए. अपनी टीम को जीत के करीब पहंचा दिया था. जिता नहीं सके. लेकिन अपनी हिटिंग से राहुल ने IPL 2017 वाली झलक दी.

चेन्नई के खिलाफ मैच में केकेआर के मैनेजमेंट ने राहुल त्रिपाठी को ओपनर की भूमिका दी. और उन्होंने कमाल कर दिया.

दो बार एक ही ओवर में छह छक्के

राहुल त्रिपाठी आर्मी बैकग्राउंड से आते हैं. उनके पिता कर्नल अजय त्रिपाठी भारतीय सेना में रहे हैं. इस वजह से राहुल का बचपन कई शहरों में गुजरा. वे मूल रूप से यूपी के रहने वाले हैं. उनका जन्म रांची में हुआ. लेकिन वे क्रिकेट महाराष्ट्र के लिए खेलते हैं. अभी पुणे ही उनका होमटाउन है. उनके पिता की पोस्टिंग जब पुणे में हुई तब राहुल ने क्रिकेट को गंभीरता से लिया.

पिता ने भी बेटे का पूरा सपोर्ट किया. क्योंकि वे भी अपनी जवानी के दिनों में क्रिकेट खेला करते थे. वे यूनिवर्सिटी लेवल तक खेले. लेकिन बाद मे फौज में चले गए थे. पुणे में राहुल त्रिपाठी ने घरेलू स्तर पर काफी नाम कमाया. वे तगड़े शॉट खेलने के लिए जाने जाते थे. उन्होंने एक लोकल टूर्नामेंट में दो बार एक ही ओवर में छह छक्के लगाने का कारनामा कर रखा है.

क्रिकेट में बल्ला-गणित में दिमाग

क्रिकेट के साथ ही राहुल पढ़ाई-लिखाई में भी डटे रहे. उन्होंने काफी अच्छे नंबरों से बीएससी की डिग्री ले रखी है. गणित में उनका दिमाग काफी चलता है. उनके पिता का कहना है कि गणित में राहुल कभी 98 से कम नंबर नहीं लाए. राहुल ने साल 2012 में बड़ौदा के खिलाफ फर्स्ट क्लास डेब्यू किया. लेकिन पहचान बनाई 2014-15 के सीजन से. इस सीजन में उन्होंने 500 रन मारे. और महाराष्ट्र को रणजी ट्रॉफी के फाइनल तक ले गए.

राहुल अब उम्मीद कर रहे होंगे कि IPL 2020 में रनों की बरसात करें ताकि टीम इंडिया की जर्सी पहनने का मौका मिल सके.


Video: राहुल चाहर की कहानी, जो सिर्फ दिग्गजों के विकेट उड़ाता है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

वीडियो : हार में भी चेन्नई फैंस को सुकून देगा जडेजा और डु प्लेसी का ये कारनामा

वीडियो : हार में भी चेन्नई फैंस को सुकून देगा जडेजा और डु प्लेसी का ये कारनामा

IPL के दो बेस्ट फील्डर्स की जुगलबंदी जरूर देखें.

IPL 2020: चेन्नई की हार में भी धोनी का यह कारनामा याद किया जाएगा!

IPL 2020: चेन्नई की हार में भी धोनी का यह कारनामा याद किया जाएगा!

कहीं न कहीं, कुछ न कुछ तो कर ही देते हैं धोनी.

वो एक गेंद, जिसके बाद SRK बोले होंगे- 'डॉन' की टीम को हराना आसान नहीं

वो एक गेंद, जिसके बाद SRK बोले होंगे- 'डॉन' की टीम को हराना आसान नहीं

अब खुद को क्या दिलासा दे रहे होंगे CSK फैंस?

गोल्ड स्मगलिंग केस: आरोपियों को जमानत मिली, तब जाकर ED ने चार्जशीट दाखिल की

गोल्ड स्मगलिंग केस: आरोपियों को जमानत मिली, तब जाकर ED ने चार्जशीट दाखिल की

स्वप्ना सुरेश के खिलाफ तय समय में कस्टम विभाग चार्जशीट दाखिल करने में नाकाम रहा.

नगालैंड के पूर्व गवर्नर और CBI डायरेक्टर रहे अश्विनी कुमार का शव फंदे से लटकता मिला

नगालैंड के पूर्व गवर्नर और CBI डायरेक्टर रहे अश्विनी कुमार का शव फंदे से लटकता मिला

बताया जाता है कि वे पिछले कुछ समय से डिप्रेशन में थे.

कंगना ने अवॉर्ड वापस करने की मांग करने वालों को क्या जवाब दिया?

कंगना ने अवॉर्ड वापस करने की मांग करने वालों को क्या जवाब दिया?

कंगना ने कहा था कि अगर सुशांत के बारे में उनका दावा गलत निकला, तो वो अवॉर्ड वापस कर देंगी.

IPL 2020 से तीन दिन में तीन धाकड़ खिलाड़ी बाहर, तीनों की वजह एक है

IPL 2020 से तीन दिन में तीन धाकड़ खिलाड़ी बाहर, तीनों की वजह एक है

आईपीएल को लग गई किसकी नज़र!

हाथरस: यूपी में दंगों के लिए हुई थी 100 करोड़ की फंडिंग?

हाथरस: यूपी में दंगों के लिए हुई थी 100 करोड़ की फंडिंग?

हाथरस मामले में अब तक क्या-क्या हुआ, एक नजर डाल लीजिए.

AAP विधायक कुलदीप एपिडेमिक एक्ट के तहत केस दर्ज होने पर अपनी सफाई में क्या बोले?

AAP विधायक कुलदीप एपिडेमिक एक्ट के तहत केस दर्ज होने पर अपनी सफाई में क्या बोले?

यूपी में हाथरस के पीड़ित परिवार से मिलने गए थे विधायक. अब वीडियो जारी किया है.

ऋचा चड्ढा से माफी मांगने को तैयार हो गईं पायल घोष

ऋचा चड्ढा से माफी मांगने को तैयार हो गईं पायल घोष

पायल घोष ने ट्वीट करके अपनी बात साफ कर दी है.