Submit your post

Follow Us

मैच के उस मोड़ पर क्रुणाल को ओवर क्यों दिया, ये या तो भगवान जानता है या फिर रोहित शर्मा

पारी के 17 ओवर खत्म हो चुके थे. चेन्नई सुपर किंग्स को जीत के लिए 18 गेंदों पर 38 रन चाहिए थे. मामला कहीं भी जा सकता था. क्रीज पर शेन वॉटसन अभी भी कब्जा किए हुए थए. बड़े मैचों का बड़ा खिलाड़ी. 56 रन बना चुका था. रोहित शर्मा ने यहां ओवर थमाया क्रुणाल पंड्या को. पंड्या पहले भी पिट चुके थे. हार्दिक पंड्या को ओवर दिया जाना चाहिए था क्योंकि हार्दिक ने एक ही ओवर फेंका था और उसमें भी 3 रन ही दिए थे. मगर रोहित के दिमाग में क्या चल रहा था, ये तो सिर्फ वही जानें.

पहली गेंद ब्रावो ने फेस की. सिंगल लिया और आ गए वॉटसन. दूसरी गेंद पर वॉटसन ने बल्ला चलाया और गेंद एक्सट्रा कवर के ऊपर से छक्के के लिए चली गई. तीसरी गेंद साइटस्क्रीन पर छक्के के लिए दे मारी. पूरा प्रेशर क्रुणाल पंड्या पर और चेन्नई के लिए प्रेशर रिलीज. चौथी गेंद को भी वॉटसन ने डीप मिडविकेट की तरफ से छक्के के लिए टांग दिया. यानी तीन गेंदों पर तीन छक्के. मुंबई मैच से लगभग बाहर ही हो गई थी. इस ओवर में 20 रन पड़ गए और अब चेन्नई को जीत लिए सिर्फ12 गेंदों पर 18 रन चाहिए थे.

तीनों छक्कों की वीडियो यहां देखिए-

1.

2.

3.

पिछले ओवर तक 50 गेंदों पर 56 रन मारकर खेल रहे वॉटसन एक ही ओवर में 55 गेंदों पर 75 के आंकड़े पर पहुंच गए. सभी को इस बात पर अब कतई शक नहीं था कि वॉटसन मैच निकाल लेंगे. 2018 के आईपीएल फाइनल में भी वॉटसन ने शानदार शतक मारा था. उस मैच में 57 गेंदों पर 117 रन मारे थे वॉटसन ने. मगर यहां 2019 में सामने मुंबई थी और उससे भी ऊपर जसप्रीत बुमराह. 19वें ओवर में बुमराह ने फिर से प्रेशर चेन्नई पर डाल दिया जब ब्रावो दूसरी ही गेंद पर विकेट के पीछे लपके गए. साथ में चार गेंदों पर जडेजा को भी कोई कमाल नहीं करने दिया. फिर आखिरी ओवर में मलिंगा ने वॉटसन और शार्दुल ठाकुर को निपटा कर आईपीएल ट्रॉफी मुंबई को जितवा ही दी.

ये एक मैच शेन वॉटसन के लिए इसलिए भी याद रखा जाएगा क्योंकि इनके अलावा चेन्नई का कोई बल्लेबाज नहीं चला. अकेले वॉटसन डटे रहे. आखिर में जीत नहीं मिली, मगर वॉटसन ही वो प्लेयर थे जिन्होंने मैच को चेन्नई के दरवाजे तक पहुंचा दिया था.


लल्लनटॉप वीडियो भी देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आयुष्मान कार्ड वालों की फ़्री कोरोना जांच होगी, लेकिन 2 करोड़ परिवार इस लिस्ट से ही ग़ायब!

क्या गड़बड़ी हुई गिनती में?

20 अप्रैल से कौन-कौन से लोग अपना काम-धंधा शुरू कर सकते हैं?

और खाने-पीने के सामान को लेकर सरकार ने क्या कहा?

लॉकडाउन के बीच ज़रूरी सामान भेजना है? बस एक कॉल पर हो जाएगा काम

रेलवे अधिकारियों ने शुरू की है 'सेतु' सर्विस.

सड़क पर मजदूरों संग खाना खाने वाले अर्थशास्त्री ने सरकार को कमाल का फॉर्मूला सुझाया है

कोरोना और लॉकडाउन ने मजदूर को कहीं का नहीं छोड़ा.

सरकार की नई गाइडलाइंस, जानिए किन इलाकों में, किन लोगों को लॉकडाउन से छूट

कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन पहले ही बढ़ाया जा चुका है.

टेस्टिंग किट की बात पर राहुल गांधी ने भारत की तुलना किन देशों से की?

कहा, 'हम पूरे खेल में कहीं नहीं हैं.'

चीन से भारत के लिए चली टेस्टिंग किट की खेप अमरीका निकल गयी!

और अभी तक भारत में नहीं शुरू हो पाई मास टेस्टिंग.

कोरोना: मरीजों की खातिर बेड और लैब के लिए कितना तैयार है भारत, PM मोदी ने बताया

लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा पीएम ने क्या-क्या कहा?

15 अप्रैल को लॉकडाउन-2 की जो गाइडलाइंस आनी हैं, उनमें क्या-क्या हो सकता है

पूरे देश में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ चुका है.

सुप्रीम कोर्ट ने बता दिया है कि किन लोगों का कोरोना वायरस टेस्ट फ्री में होगा

प्राइवेट लैब भी नहीं ले सकेंगे इनसे पैसा.