Submit your post

Follow Us

नीरज चोपड़ा के गोल्ड ने कैसे बदला शिवाजी स्टेडियम का माहौल?

नीरज चोपड़ा. एथलेटिक्स में भारत का पहला गोल्ड मेडल जीतने वाले जैवलिन थ्रोअर. और नीरज के इस गोल्ड मेडल ने अभी से अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है. आजतक के रिपोर्टर आशुतोष मिश्रा ने नीरज के गोल्ड जीतने के बाद उनके शुरुआती ग्राउंड, शिवाजी स्टेडियम में प्रैक्टिस कर रहे एथलीट्स से बात की.

आशुतोष की रिपोर्ट के मुताबिक नीरज के गोल्ड मेडल लाने के बाद कई युवा खिलाड़ी जैवलिन में अपनी किस्मत आजमाने उतर गए है. इनमें कुछ ऐसे भी हैं जो सालों से नीरज को देखते आ रहे थे. और उनको आइकन मानते हुए पहले से ही जैवलिन थ्रो सीख रहे थे. हरियाणा के पानीपत जिले से 15 किलोमीटर दूर खंडरा गांव में कई युवा-युवतियां जैवलिन की प्रैक्टिस करते है.

इनमें से कुछ 2016 से तो कुछ अभी हाल ही से प्रैक्टिस कर रहे हैं. ऐसी ही एक युवा जैवलिन थ्रोअर दीपिका ने बताया,

‘नीरज भैया से प्रभावित होकर मैंने इस खेल को सीखने का इरादा बनाया है और अब माता-पिता भी राजी है. नीरज भैया जब छुट्टियों में अपने घर अपने गांव आते है, तब उनसे सीखने को बहुत कुछ मिलता है.’

गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा का गांव ही नहीं बल्कि अब तो पानीपत शहर का शिवाजी स्टेडियम भी मशहूर हो गया है. नीरज की सफलता के बाद शिवाजी स्टेडियम में हर दिन जैवलिन सीखने वाले बच्चों की संख्या बढ़ती जा रही है. 15 साल के लक्ष्य भी जैवलिन के कोच को खोजते हुए शिवाजी स्टेडियम जा पहुंचे. उन्होंने कहा,

‘अब मैं नीरज चोपड़ा की तरह ही जैवलिन खेलना चाहता हूं और सीखने के लिए शिवाजी स्टेडियम आया हूं. ताकि कोच का मार्गदर्शन मिल सके. टोक्यो ओलंपिक्स में नीरज के खेल से काफी प्रभावित हुआ हूं और अब उनके जैसा ही बनना चाहता हूं.’

वैसे तो ओलंपिक्स ने हर खेल में एक नई ऊर्जा भर दी है. लेकिन जैवलिन थ्रो खेलने वाले खिलाड़ियों की संख्या बढ़ती जा रही है. वहीं कोच महिपाल का कहना है कि वो इन नए खिलाड़ियों का खूब मनोबल बढ़ाएंगे ताकि देश को भविष्य में और मेडल मिले.


ओलंपिक विजेता नीरज चोपड़ा, रवि दहिया, लवलीना और हॉकी टीम का दिल्ली एयरपोर्ट पर जबरदस्त स्वागत

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.