Submit your post

Follow Us

अफगानी महिला सांसद को दिल्ली एयरपोर्ट से बैरंग लौटाने पर सरकार ने गलती मानी, दिया ये ऑफर

अफगानिस्तान की महिला सांसद रंगीना करगर (Rangina Kargar) 20 अगस्त को भारत आई थीं. उन्होंने कुछ ही घंटों के बाद दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट से वापस इस्तांबुल डिपोर्ट कर दिए जाने का दावा किया था. भारत सरकार (Indian Government) पर सवाल उठाते हुए अपराधियों जैसा सलूक करने के आरोप लगाए थे. अब भारत सरकार से इस मामले पर प्रतिक्रिया सामने आई है. सरकार ने इसे inadvertent error यानी अनजाने में हुई गलती करार दिया है.

सर्वदलीय बैठक में उठा मुद्दा

अफगानिस्तान की हालिया स्थिति पर नेताओं को जानकारी देने के लिए सरकार की ओर से गुरुवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई गई थी. विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने काबुल से भारतीयों के रेस्क्यू और ऑपरेशन देवी शक्ति के बारे में भी जानकारी दी थी. द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, इसी बैठक में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, आनंद शर्मा और अधीर रंजन चौधरी ने अफगानी सांसद रंगीना करगर को डिपोर्ट करने का मुद्दा उठाया. उन्होंने विदेश मंत्री एस. जयशंकर से पूछा,

“विदेश मंत्रालय ने अफगानिस्तान की एक अनुभवी राजनेता के खिलाफ ऐसा कदम क्यों उठाया, जो अक्सर भारत की यात्रा करती हैं और एक राजनयिक पासपोर्ट भी रखती हैं?”

इससे पहले, कांग्रेस के सांसद मनीष तिवारी ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा था,

“मुझे उम्मीद है कि एस. जयशंकर सर्वदलीय बैठक में स्पष्ट करेंगे कि अफगानिस्तान की इस महिला सांसद को भारत से निर्वासित क्यों किया गया, जबकि उनके पास वैध यात्रा दस्तावेज थे. जब हमें अफगानिस्तान की महिलाओं के साथ खड़े होने की जरूरत है तो हम उनके खिलाफ खड़े नजर आ रहे हैं.”

I hope @DrSJaishankar explains at the all party meeting why this Lady MP from Afghanistan was deported from India when she had valid travel documents:
When we need to be seen standing with the women of Afghanistan we seem to be standing against them .
SAD https://t.co/zYKSHtyXLy

— Manish Tewari (@ManishTewari) August 26, 2021

सरकार ने क्या जवाब दिया?

इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से दावा किया कि सर्वदलीय बैठक में सरकारी अधिकारियों ने कहा,

“यह एक अनपेक्षित गलती थी. तालिबान की ओर से भारतीय वीजा वाले कुछ पासपोर्ट छीन लिए जाने की रिपोर्ट के बाद घबराहट थी. इसी बीच अनजाने में यह गलती हो गई.”

सर्वदलीय बैठक की जानकारी देते हुए राज्यसभा के नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा-

“हमने अफगानी महिला सांसद के निर्वासन का मुद्दा उठाया. जिस पर उन्होंने (एस. जयशंकर ने) कहा कि यह एक गलती थी और भविष्य में ऐसी घटना नहीं होगी. उन्हें (सरकार) इस पर खेद है.”

Untitled Design (82)
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सर्वदलीय बैठक में रंगीना करगर को डिपोर्ट करने का मुद्दा उठाया.

रंगीना से विदेश मंत्रालय ने की बात

इसके बाद सरकार ने रंगीना करगर (Rangina Kargar) से भी बात की. रंगीना ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया,

“(भारतीय विदेश मंत्रालय में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और ईरान मामलों के प्रभारी संयुक्त सचिव) जे.पी. सिंह ने मुझसे बात की. जो कुछ हुआ, उसके लिए माफी मांगी. उन्होंने मुझसे ई-आपातकालीन वीजा के लिए आवेदन करने को कहा. मैंने उनसे पूछा कि क्या राजनयिक पासपोर्ट अब वैध नहीं है, लेकिन उन्होंने जवाब नहीं दिया. मैंने उनसे कहा कि मैंने अपनी बेटी के लिए 19 अगस्त को ई-वीजा की कोशिश की थी, लेकिन आवेदन का कोई जवाब नहीं आया.”

अफगानी महिला सांसद ने लगाए थे आरोप

बता दें कि रंगीना करगर का कहना था कि 20 अगस्त को साउथ दिल्ली में एक डॉक्टर के पास उनका अपॉइंटमेंट था, और 22 अगस्त को इस्तांबुल का वापसी टिकट था. लेकिन इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर इमिग्रेशन अधिकारियों ने उन्हें इंतजार करने के लिए कहा. जब उन्होंने रोके जाने की वजह पूछी तो अधिकारियों ने कहा कि उन्हें अपने सीनियर्स से बात करनी होगी. रंगीना ने दावा किया कि सुबह 6 बजे से रात के 10 बजे तक उन्हें रोका गया, फिर उन्हें डिपोर्ट कर दिया गया. इसी के बाद अफगानी सांसद रंगीना करगर ने कहा कि मेरे साथ अपराधियों जैसा सलूक किया है. मुझे गांधी के भारत से ऐसी उम्मीद नहीं थी.

(ये स्टोरी हमारे यहां इंटर्नशिप कर रहे रौनक भैड़ा ने लिखी है.)


वीडियो- अफगानी महिला सांसद ने भारत पर आरोप लगाते हुए महात्मा गांधी का जिक्र क्यों किया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

लिंक करने का पूरा प्रोसेस बता रहे हैं, जान लीजिए.

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

सपा ने ट्वीट कर कहा- 2022 में मिलकर करेंगे बीजेपी को साफ़!

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

थाने के मालखाने से 25 लाख चोरी के आरोप में पुलिस ने पकड़ा था सफाईकर्मी को.

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.