Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

बधाई हो! हम अंडर-19 विश्व-विजेता बन गए हैं

11.87 K
शेयर्स

हुर्रे. जीत गए. जो दो साल पहले होते-होते रह गया था वो आख़िरकार हो गया. इंडिया ने अंडर-19 वर्ल्ड कप जीत लिया है. फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराया. ये बड़ी कन्विंसिंग जीत थी. लड़के ऑस्ट्रेलिया का स्कोर इस आसानी से पार कर गए जैसे कोई बड़ी बात ही न हो. जैसे वर्ल्ड कप का फाइनल न होकर गली क्रिकेट का कोई मुकाबला हो. मनजोत कालरा तो ऐसे खेल रहे थे जैसे दुनिया का सबसे आसान काम वर्ल्ड कप ट्रॉफी के फाइनल में बैटिंग करना हो. धुंआधार शतक लगाया उन्होंने.

ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाज़ी करना चुना. शुरुआती चमक के बाद एक वक़्त उनकी टीम परेशानी में आ गई थी. 12वे ओवर तक उनके तीन टॉप ऑर्डर बल्लेबाज़ आउट हो चुके थे और रन थे 59. वहां से जोनाथन मेर्लो और परम उप्पल ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को संभाला. मैकस्वीनी ने भी मेर्लो का बढ़िया साथ दिया. चौथे विकेट के लिए 75 और पांचवे विकेट के लिए 49 रन की पार्टनरशिप हुई. 39 ओवर के खात्मे तक ऑस्ट्रेलिया के 183 रन थे और अभी 6 विकेट हाथ में थे. 11 ओवर का खेल बाकी था. लग रहा था कि ऑस्ट्रेलिया 280 के आसपास आराम से पहुंच जाएगी. लेकिन तभी इंडियन बॉलर्स ने अपना कमाल दिखा डाला.

कमलेश नागरकोटी.
कमलेश नागरकोटी.

अगले 33 रनों में पूरी टीम घर भेज दी. शिव सिंह, नागरकोटी, शिवम मावी, रॉय सबने संयुक्त योगदान दिया और 280 का सपना देख रही ऑस्ट्रेलियन टीम 216 पर ढेर हो गई. 90 परसेंट मैच यहीं काबू में आ गया था. इंडिया का धाकड़ बैटिंग लाइनअप इसे आसानी से चेज़ कर लेगा इसमें किसी को ज़्यादा शक नहीं था. हुआ भी ऐसा ही.

पृथ्वी शॉ और मनजोत कालरा ने टीम इंडिया को तूफानी शुरुआत दी. इतनी आसानी से खेल रहे थे दोनों कि बड़े मैच का प्रेशर कहीं से महसूस ही नहीं हों रहा था. दोनों में होड़ सी लगी थी कि कौन ज़्यादा दर्शनीय शॉट मारके दिखाता है. 12वे ओवर में जब टीम का स्कोर 71 था तब पृथ्वी चूक गए और बोल्ड हो गए. 29 रन बनाए उन्होंने. उनके जाने के बाद भी मनजोत का बल्ले को तलवार बनाना जारी रहा. उन्हें ज्वाइन किया शुभमन गिल ने जो कि और भी तूफानी खेलने का मन बनाकर आए थे. उन्होंने फटाफट 31 रन बना डाले. जब वो आउट हुए तब तक जीत के लिए ज़रूरी रनों की संख्या 100 से नीचे आ चुकी थी. उसके बाद इंडिया को कोई नुकसान न हुआ. यूं आसानी से उसने मैच जीत लिया जैसे पार्क में वॉक करने निकले हो. मनजोत कालरा ने शतक जड़ दिया. सिर्फ 38.5 ओवर लगे इंडिया को. कप उठा लाए लड़के.

मनजोत कालरा.
मनजोत कालरा.

इंडिया ने इससे पहले 2012 में वर्ल्ड कप जीता था. तब भी इंडिया की टीम ने ऑस्ट्रेलिया को ही हराया था. वो मैच भी कुछ-कुछ ऐसा ही था. वहां भारत ने 6 विकेट से मैच जीता था. यहां 8 विकेट से. द्रविड़ और उनकी टीम को बधाइयां.

शुक्रिया राहुल द्रविड़!

शुक्रिया टीम!


इस वर्ल्ड कप का सारा मसाला यहां पढ़ें:

नागरकोटी: अंडर 19 वर्ल्ड कप ने हमें ये भयानक टैलेंटेड फ़ास्ट बॉलर दिया है

जिसने आज पहले दो विकेट्स लिए वो ऑस्ट्रेलिया से पहले मैच के बाद टीम से बाहर किया जाने वाला था

अंडर-19 टीम का किया ये रन आउट देख लोगे तो बम बम हो जाओगे

अंडर-19 वर्ल्ड कप फाइनल का पहला विकेट ईशान पोरेल के खाते में

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
India wins Under 19 world cup defeating Australia Under 19 at Mount Maunganui in New Zealand

टॉप खबर

EVM 'हैकर' पर कपिल सिब्बल ने बाद में क्या कहा, जो खुद वहां मौजूद थे?

EVM बनाने वाली कंपनी ने भी इस मामले में बहुत कुछ कहा है.

लंदन में हुई प्रेस कांफ्रेंस में EVM 'हैकर' ने किये ये दावे, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

वाईफ़ाई, ब्लूटूथ या वायरलेस डिवाइस से नहीं हो सकती है ईवीएम हैक.

क्या कांग्रेस मध्य प्रदेश में बीजेपी के नेताओं को मरवा रही है?

लगातार राजनीतिक हत्याओं के दावों में कितना सच और कितना झूठ?

ममता बनर्जी की रैली राहुल के प्रधानमंत्री बनने की उम्मीदों पर पानी फेरेगी!

राहुल गांधी और मायावती ममता बनर्जी से दूर क्यों भाग रहे हैं?

रिजॉर्ट पॉलिटिक्स के चक्कर में जेडीएस-कांग्रेस की सरकार गिरने वाली है?

क्या है बीजेपी का'ऑपरेशन लोटस' जो कर्नाटक में सरकार के लिए खतरा बन रहा है.

भारतीय सेना कम करने वाली है अपने एक लाख सैनिक

आर्मी चीफ के इन 4 तरीकों से बदलने वाली है भारतीय सेना की सूरत.

1200 पेज की चार्जशीट में कन्हैया कुमार, उमर खालिद के खिलाफ ये सुबूत!

फरवरी 2016 में जेएनयू कैंपस में नारेबाजी का मामला.

ये दो चिट्ठियां देखकर मोदी खुश होंगे और राहुल गांधी के पसीने छूट जाएंगे!

कर्नाटक में तीनों पार्टियां अपने-अपने विधायकों की गठरी बांध रही हैं.

क्या मोदी के दांव की वजह से आलोक वर्मा को मजबूर होकर इस्तीफ़ा देना पड़ा?

PM मोदी ने CBI डायरेक्टर पद से हटाकर यूं ही आलोक वर्मा को फायर सर्विस में नहीं भेजा था...

CBI में और भसड़ मची, कोर्ट ने नंबर 2 अस्थाना की गिरफ्तारी पर लगी रोक हटाई

CBI डायरेक्टर को हटाने के बाद भी मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं.