Submit your post

Follow Us

मोदी के बाद देश का अगला पीएम किसे होना चाहिए, जनता ने बता दिया

इंडिया टुडे कार्वी इनसाइट्स मूड ऑफ द नेशन सर्वे के मुताबिक पीएम मोदी भारत के अगले पीएम के तौर पर सबसे लोकप्रिय विकल्प बने हुए हैं. 66 फीसदी लोगों का मानना है कि पीएम मोदी को ही भारत का अगला प्रधानमंत्री होना चाहिए. दूसरे स्थान पर हैं राहुल गांधी. लेकिन सिर्फ आठ फीसदी लोगों का मानना है कि गांधी को अगला पीएम होना चाहिए. वहीं सोनिया गांधी को पांच फीसदी वोट मिले.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की प्रमुख मायावती, समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख अखिलेश यादव. इन नेताओं को भी लोग अगले पीएम के रूप में देखते हैं.

इंडिया टुडे कार्वी इनसाइट्स मूड ऑफ द नेशन के जनवरी के सर्वे में भी लोगों ने मोदी को अगले पीएम के रूप में चुना था. उस समय 53 फीसदी लोगों की पसंद मोदी थे. जबकि 13 फीसदी ने राहुल को चुना था. हालांकि लोगों ने विपक्ष के नेताओं में राहुल गांधी को पीएम पद के लिए सबसे योग्य माना था. ऐसा मानने वाले 52 फीसदी लोग थे.

भारत का अब तक का सबसे बेस्ट प्रधानमंत्री कौन है?

44 फीसदी लोगों ने पीएम मोदी को अब तक के प्रधानमंत्रियों में सबसे बेस्ट माना है. दूसरे नंबर पर हैं अटल बिहारी वाजपेयी. 14 फीसदी लोग उन्हें अब तक का सबसे बेस्ट पीएम मानते हैं. वहीं 12 फीसदी लोगों ने इंदिरा गांधी को अब तक का बेस्ट पीएम माना है. देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू और 10 साल सरकार चलाने वाले डॉक्टर मनमोहन सिंह को 7-7 फीसदी वोट मिले.

जनवरी के सर्वे में बेस्ट पीएम के तौर पर दूसरी च्वाइस इंदिरा गांधी थीं लेकिन इस बार लोगों ने दूसरे नंबर पर अटल बिहारी वाजपेयी को चुना है. समय के साथ मोदी की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है. जनवरी 2020 के इसी सर्वे में नरेंद्र मोदी 34 प्रतिशत वोटों के साथ देश के सर्वश्रेष्ठ प्रधानमंत्री के रूप में उभरे थे. इंदिरा गांधी को 16 प्रतिशत वोट मिले थे. वो दूसरे नंबर पर थीं. जबकि अटल बिहारी वाजपेयी को 13 प्रतिशत, जवाहरलाल नेहरू को 8 प्रतिशत और राजीव गांधी को 5 प्रतिशत वोट मिले थे.

कैसे हुआ सर्वे?

मूड ऑफ दे नेशन सर्वे में 19 राज्यों की कुल 97 लोकसभा और 194 विधानसभा क्षेत्र के लोगों को शामिल किया गया. 12021 लोगों से बात हुई. जिन 19 राज्यों में ये सर्वे किया गया उनमें आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल शामिल हैं. ये सर्वे 15 जुलाई से 27 जुलाई के बीच किया गया. सर्वे में 52 फीसदी पुरुष, 48 फीसदी महिलाएं शामिल थीं. इनमें से 67 फीसदी ग्रामीण और 33 फीसदी शहरी थे.

सर्वे में 86 फीसदी हिन्दू, 9 फीसदी मुस्लिम और 5 फीसदी अन्य धर्म के लोगों से उनकी राय जानी गई. सर्वे में शामिल 57 फीसदी 10 हजार रुपये महीने से कम की आमदनी वाले थे, जबकि 28 फीसदी 10 से 20 हजार रुपये और 15 फीसदी 20 हजार रुपये महीने से ज्यादा कमाने वाले थे. इनमें किसान, नौकरीपेशा, बेरोजगार, व्यापारी, छात्र और अन्य को शामिल किया गया.


नेता नगरी: राम मंदिर भूमि पूजन के बाद पीएम मोदी के बयान के क्या मायने हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दिल्ली दंगा : मरा है या नहीं, ये चेक करने के लिए ज़िंदा शाहबाज़ पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी गयी!

कोर्ट में सुनवाई में दिल्ली पुलिस ने क्या बताया

अयोध्या भूमिपूजन से पहले मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की 'धमकी' का क्या सुप्रीम कोर्ट लेगा संज्ञान?

AIMPLB ने Tweet पर विवाद देख डिलीट कर लिया है.

दिशा सालियान की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने खुलासा किया कि मौत की असली वजह क्या थी

मुंबई में एक बिल्डिंग के 14वें माले से गिरकर दिशा की जान गई थी.

दिशा सालियान केस में मुंबई पुलिस अब लोगों से क्या मदद मांग रही है?

बीजेपी सांसद नारायण राणे ने गंभीर आरोप लगाए थे.

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के UPSC निकालने वाले कैंडिडेट्स ने बताया एग्ज़ाम की तैयारी कैसे की

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के 16 कैंडिडेट ने परीक्षा पास की है.

अयोध्या : भूमिपूजन में नरेंद्र मोदी और सारे गेस्ट्स की इन तस्वीरों को देखिए!

राम मंदिर का भूमिपूजन.

UPSC रैंकर जिसकी तुलना 'पाताल लोक' के इमरान अंसारी से हो रही है

दिल्ली पुलिस परिवार से पांच लोगों ने इस बार UPSC एग्ज़ाम क्रैक किया है.

इमरान खान ने तमाम छेड़छाड़ करके पाकिस्तान का एक नया नक्शा पेश किया है

उनकी कैबिनेट ने वो नक्शा पास कर दिया है.

मुंबई पुलिस कमिश्नर ने अधिकारियों से कहा, सुशांत की मौत से जुड़ी जानकारी किसी से भी शेयर नहीं करना!

उस मीटिंग में और क्या कहा मुंबई के पुलिस कमिशनर ने?

फ़रवरी में ही परिवार ने मुंबई पुलिस से सुशांत को बचाने की अपील की थी, पुलिस ने कहा, 'नहीं मिली कम्प्लेन'

सुशांत के जीजा ने DCP को लिखे अपने मैसेज में और क्या बताया?