Submit your post

Follow Us

पाकिस्तान कह रहा था- भारत पानी नहीं दे रहा; भारत ने कहा- वॉटर टेररिज़्म मत शुरू करो!

भारत और पाकिस्तान के बीच 1960 में इंडस वॉटर ट्रीटी हुई थी. ट्रीटी इस बात पर थी कि सिंधु और इसकी सहायक नदियों का कितना पानी पाकिस्तान को मिलेगा, कितना भारत को.

समझौता हुए 60 साल हो गए. अब कुछ दिन पहले पाकिस्तानी मीडिया में खबर चली कि भारत इंडस वॉटर ट्रीटी तोड़ने के लिए ज़मीन तैयार कर रहा है और इसके लिए वो यूनाइटेड नेशन में दबे पांव कई देशों का समर्थन जुटा रहा है. उनका कहना था कि भारत इन नदियों का पानी पाकिस्तान की ओर बहने से रोकना चाह रहा है.

भारत का जवाब

अब भारत की ओर से इंडस वॉटर कमिश्नर पीके सक्सेना ने जवाब दिया है. उन्होंने कहा है,

“पाकिस्तान में जल संकट से भारत का कोई लेना-देना नहीं है. वो अपने देश की जनता का ध्यान अपनी नाकामियों से हटाना चाहते हैं और इसके लिए भारत का नाम उछाल रहे हैं. भारत ट्रीटी की संधियों पर पहले भी कायम था और अभी भी.”

सक्सेना ने कहा कि पानी को लेकर इस तरह झूठ फैलाना पाकिस्तान का नया ‘वॉटर टेररिज़्म’ है. ये सारी कवायद जम्मू-कश्मीर के हालातों को अस्थिर करने की है. ये ना सिर्फ गलत है, बल्कि वॉटर ट्रीटी के भी खिलाफ है.

पाकिस्तान में पानी का मिस-मैनेजमेंट

पीके सक्सेना ने कहा-

“पाकिस्तान की समस्या ये है कि वो दुनिया का सबसे खराब वॉटर मैनेजमेंट वाला देश है. पाकिस्तान में वॉटर प्रोडक्टिविटी दुनिया के किसी भी बाकी देश से कम है. उनके देश में करीब 90% पानी खेती-किसानी में इस्तेमाल किया जाता है. जबकि ये हिस्सा 70 से 75% होना चाहिए. उनके देश में खेती में ज्यादा पानी लग रहा है, क्योंकि वो अभी भी वही पुराने तरीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं. पाकिस्तान का जितना पानी बर्बाद होकर समुद्र में मिल रहा है, वो भारत की तुलना में दोगुना है.”

क्या है इंडस वॉटर ट्रीटी?

इंडस वॉटर ट्रीटी सितंबर-1960 में की गई थी. भारत की ओर से प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू और पाकिस्तान की ओर से प्रेसिडेंट जनरल अयूब खान ने इस पर सिग्नेचर किए थे. ये ट्रीटी सिंधु और इसकी पांच सहायक नदियों के पानी के बंटवारे को लेकर थी. इन छह नदियों को दो जोन में बांटा गया.

ईस्टर्न जोनः सतलज, व्यास, रावी
वेस्टर्न जोनः झेलम, चिनाब, सिंधु

ट्रीटी में मोटा-माटी ये तय हुआ था कि ईस्टर्न नदियों का पानी भारत को मिलेगा, जबकि वेस्टर्न नदियों का पानी पाकिस्तान को. इसके इस्तेमाल और अपने अधिकारी की नदियों को लेकर दोनों देशों में टेंशन हो जाती है.

इंडस वाटर ट्रीटी के बारे में आप डिटेल में यहां पढ़ सकते हैं.


मुख्यमंत्री: पाकिस्तान के ल्यालपुर से आया शरणार्थी, जो दिल्ली का मुख्यमंत्री बना

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

ग़ज़ब! गोवा के विधायक बोले, 'गाय खाने पर टाइगर को भी सज़ा दो'

ऐसा कहने वाले चर्चिल अलेमाओ भाजपा के विधायक नहीं हैं.

हारने के बाद कोहली ने अपनी टीम के बारे में जो कहा, उससे बहुत लोग सहमत नहीं होंगे

पहले वनडे में बेहद आसानी से जीता न्यूज़ीलैंड.

ऐसा होगा वो ट्रस्ट, जो राम मंदिर निर्माण के लिए मोदी सरकार ने बनाया है

PM ने आज लोकसभा में ऐलान किया था.

कुणाल कामरा के चक्कर में एयर इंडिया ने इस आदमी के साथ बड़ी नाइंसाफी कर दी

एयर इंडिया को लगता है दुनिया में एक ही कुणाल कामरा है.

पहले वनडे में न्यूज़ीलैंड की जीत पर ICC को 13 साल पुराना मैच क्यों याद आ गया?

वाकया हैमिल्टन के मैदान से ही जुड़ा है.

आज़मगढ़ में महिलाएं CAA का विरोध कर रही थीं, पुलिस ने सुबह चार बजे जबरन हटाया

पुलिस के पत्थर फेंकने का वीडियो अब वायरल हो रहा है.

डोनाल्ड ट्रंप ने हाथ नहीं मिलाया, तो संसद की स्पीकर ने गुस्से में भाषण की कॉपी फाड़ दी

भाषण की कॉपी फाड़ने का वीडियो वायरल हो रहा है.

'तान्हाजी' की कमाई ने सलमान खान की फिल्म का रिकॉर्ड तोड़ दिया

आने वाले दिनों में 'कबीर सिंह' को पीछे छोड़ सकती है.

INDvNZ पहले वनडे में कोहली की इस चीते जैसी छलांग के बाद जो हुआ वो कमाल था

हालांकि टीम को कोहली की इस फुर्ती का फायदा नहीं हुआ.

INDvsNZ : मैच खत्म होने से 10 ओवर पहले ही न्यूज़ीलैंड के नाम हो गया था पहला वनडे

शार्दुल ठाकुर के एक ओवर में पलटा मैच.