Submit your post

Follow Us

लद्दाख में चीन की चुनौती से निपटने के लिए भारत ने बड़ा कदम उठाया है

लद्दाख में भारत और चीन के बीच तनाव बरकरार है. चीन ने अपनी सीमा में काफी सैनिकों का जमावड़ा खड़ा कर रखा है. ऐसे में भारत भी पीछे नहीं है. खबर है कि भारत ने शोल्डर फायर्ड एयर डिफेंस मिसाइल, हिन्दी में कहें, तो कंधे पर रखकर दागी जाने वाली मिसाइलों से लैस जवानों को पूर्वी लद्दाख में तैनात किया है. चीन सीमा के पास ऊंचाई वाले इलाके में.

रूसी मूल की मिसाइलों की तैनाती

सरकारी सूत्रों ने ‘इंडिया टुडे’ को बताया कि भारतीय सेना ने रूसी मूल की इग्ला एयर डिफेंस सिस्टम से लैस सैनिकों को उन इलाकों में तैनात किया है. इसे दुश्मन के इरादों को नाकाम करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है. भारतीय सेना और वायुसेना रूसी मूल की इग्ला एयर डिफेंस सिस्टम का इस्तेमाल तब करती हैं, जब दुश्मन के फाइटर जेट या हेलीकॉप्टर सीमा के नजदीक आ जाते हैं. कंधे पर रखकर दागी जाने वाली ये मिसाइलें दुश्मन के फाइटर जेट और हेलीकॉप्टर को मार गिराने में सक्षम हैं. निशाना लगते ही चंदे सेकंड में जमीन पर.

रडार भी तैनात

वहीं पूर्वी लद्दाख में दुश्मन के विमानों की निगरानी के लिए रडार भी तैनात किए गए हैं. इसके अलावा जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल सिस्टम को भी तैनात किया है. पूर्वी लद्दाख में गलवन घाटी और पेट्रोलिग पॉइंट 14 के अलावा पैंगांग झील इलाके में चीन ने अपनी सैन्य तैयारी बढ़ा दी है. बीते कुछ दिनों के दौरान कई बार चीनी सेना के हेलीकॉप्टरों ने एलएसी पर भारतीय वायुसीमा के उल्लंघन का प्रयास किया है.

T-90 टैंक भी तैनात किए गए थे

इससे पहले खबर आई थी कि भारत ने देपसांग इलाके में T-90 टैंक तैनात किए थे. भारत में इन्हें ‘भीष्म’ कहा जाता है. साथ ही बख्तरबंद गाड़ियों और सैनिकों को भी यहां पर भेजा गया. भारत ने इससे पहले 1962 की जंग में AMX-13 लाइट टैंक चीन सीमा के पास तैनात किए थे. यह टैंक फ्रांस से खरीदे गए थे. वहीं साल 2016 में T-72 टैंक लद्दाख में भेजे गए थे.

अगस्त की शुरुआत में ही खबर आई कि भारत ने लद्दाख के दौलत बेग ओल्डी और देपसांग इलाके में 15 हजार से अधिक सैनिकों की तैनाती की है. इसके अलावा बख्तरबंद वाहनों की भी तैनाती की गई, क्योंकि चीन इस इलाके में पहले से ही मौजूद है, टैंक और अन्य हथियारों के साथ.

एक दिन पहले ही चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने कहा था,

अगर दोनों देशों के बीच सैन्य और राजनयिक स्तर पर वार्ता विफल रहती है, तो हमारे पास सैन्य विकल्प भी खुले हैं.

लद्दाख में चीन और भारत के बीच बरकरार सैन्य गतिरोध को खत्म करने के लिए दोनों देशों के बीच राजनयिक और सैन्य स्तर पर बातचीत के कई दौर हो चुके हैं. इनमें लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की वार्ता के पांच दौर भी शामिल हैं. लेकिन बातचीत अभी किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है.


रखवाले: LCA तेजस अब ऑपरेशनल एरिया में तैनात, क्या इन समस्याओं का कोई हल निकलेगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?

सलमान खान की रेकी करने वाला शार्प शूटर पकड़ा गया

जनवरी में रची गई थी सलमान खान की हत्या की साजिश!

रोहित शर्मा और इन तीन खिलाड़ियों को मिलेगा इस साल का खेल रत्न!

इसमें यंग टेबल टेनिस सेंसेशन का भी नाम शामिल है.