Submit your post

Follow Us

भारत-चीन के बीच अब जो बातचीत हुई, उसे देखकर लग रहा है कि शायद कुछ अच्छा हो

भारत-चीन सीमा पर तनाव को लेकर दोनों देशों के बीच कोर कमांडर लेवल की छठे दौर की बातचीत हुई. 21 सितंबर को. 14 घंटे तक चली. इसके बाद दोनों पक्षों ने संयुक्त बयान जारी किया. इसमें एक बड़ी सहमति बनी. तय हुआ कि दोनों देश LAC यानी लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर अब और सैनिक नहीं भेजेंगे. जमीनी हालात को एकतरफा तौर पर बदलने से बचेंगे. और भी कई मसलों पर सहमति बनी.

इस जॉइंट स्टेटमेंट में लिखा है-

21 सितंबर को भारत और चीन के सीनियर कमांडर्स ने छठे दौर की सैन्य कमांडर लेवल की मीटिंग की. LAC पर हालात को स्थिर बनाने के लिए दोनों तरफ से गहन और स्पष्ट विचारों का आदान-प्रदान हुआ. तय हुआ कि दोनों देशों के नेताओं के बीच जो महत्वपूर्ण सहमति बनी है, उसे ईमानदारी से लागू किया जाएगा. ग्राउंड लेवल पर कम्युनिकेशन को मजबूत किया जाएगा. गलतफहमियों और गलत फैसले लेने से बचेंगे. फ्रंटलाइन (मोर्चे) पर और सैनिक भेजने पर रोक लगाई जाएगी. मौजूदा ज़मीनी हालात में एकतरफा बदलाव नहीं होगा. ऐसा कोई कदम नहीं उठाया जाएगा, जिससे स्थिति और जटिल हो जाए.”

स्टेटमेंट में ये भी कहा गया है कि ज़मीनी स्तर पर समस्या को हल करने के लिए व्यावहारिक उपाय किए जाएं. साथ मिलकर बॉर्डर पर शांति बनाए रखी जाए. दोनों पक्ष जल्द ही सातवें दौर की बातचीत करने पर भी सहमत हुए.

इंडिया टुडे के सीनियर एडिटर शिव अरूर ने लिखा कि इस वार्ता की बड़ी बात यही है कि दोनों पक्षों ने सीमा पर और फौज न भेजने पर सहमति जताई है. हालात की गंभीरता को स्वीकार करते हुए तनाव को बढ़ने से रोकने की बात कही है. हालांकि इसका यह मतलब निकालना अभी जल्दबाजी होगी कि अब बॉर्डर पर टकराव नहीं होगा क्योंकि दोनों देशों के सैनिक भारी संख्या में हथियारों के साथ पहले से तैनात हैं.

भारत और चीन के बीच लद्दाख के LAC वाले इलाकों में कई महीनों से तनाव बना हुआ है. शुरुआती बैठकों में कुछ सफलता हासिल होती दिखी थी लेकिन चौथे और पांचवे दौर की बातचीत कमोबेश बेनतीजा रही. गलवान घाटी को छोड़कर चीन कहीं पूरी तरह पीछे नहीं हटा. अगस्त के आखिर में भारत की सेना ने पैंगोंग सो के दक्षिणी किनारे पर सामरिक महत्व की चोटियों पर फिर से कब्ज़ा कर लिया. तब से चीन दक्षिणी किनारे पर विवाद को प्राथमिकता से सुलझाना चाहता है. लेकिन भारत की कोशिश है कि LAC पर जहां-जहां तनाव है, उन सब जगहों की बात हो, जैसे गोगरा पोस्ट, हॉट स्प्रिंग्स, और सबसे प्रमुख पैंगोंग त्सो (उत्तरी और दक्षिणी किनारा). छठे दौर की बातचीत के बाद आए स्टेटमेंट से लग रहा है कि इसका सकारात्मक असर आगे देखने को मिल सकता है.


वीडियो देखें: उइगर मुसलमानों की आबादी पर पूरी दुनिया को क्या सफाई दे रहा है चीन?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?

किस बात पर पंजाब में सनी देओल के 'सामाजिक बहिष्कार' की बात हो रही है?

कुछ लोग कह रहे हैं कि अपने गांवों में घुसने नहीं देंगे.

एक्ट्रेस के यौन शोषण के इल्ज़ाम पर अनुराग कश्यप का जवाब आया है

पायल घोष ने आरोप लगाया है.

चीन की इंटेलीजेंस को गोपनीय रिपोर्ट्स भेजने के आरोप में चीन की महिला सहित पत्रकार गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने कई सारे मोबाइल फोन, लैपटॉप समेत कई सेंसिटिव दस्तावेज भी बरामद किए हैं.

केरल और बंगाल से अल कायदा के 9 संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार!

एनआईए ने दोनों राज्यों में छापे मारे.

हरसिमरत कौर बादल ने किसानों से जुड़े मुद्दे को लेकर मोदी सरकार से इस्तीफा दिया

हरसिमरत कौर केंद्र सरकार में फूड प्रॉसेसिंग इंडस्ट्रीज मिनिस्टर थीं.

20 सैनिकों की मौत के बाद भारत सरकार ने चीन में मौजूद बैंक से कई हज़ार करोड़ रुपए उधार लिए

सरकार ने ये जानकारी दी तो कांग्रेस ने इसे हथियार बना लिया

संसद सत्र से पहले दो जगह कराई कोरोना जांच, रिपोर्ट देखकर चकरा गए सांसद महोदय

मॉनसून सत्र से पहले हुई जांच में 17 MP कोविड पॉजिटिव मिले हैं.

बिहार: 70 साल के इस शख्स ने दशरथ मांझी जैसा काम कर दिया है

और इस नेक काम में उन्हें 30 साल लगे.