Submit your post

Follow Us

मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने से लेंकशर को लगा करोड़ों का फटका!

भारत और इंग्लैंड के बीच पांचवां टेस्ट मैच रद्द हो गया है. फ़ैन्स इस बात से निराश हैं लेकिन लेंकशर क्रिकेट क्लब जितने नहीं. दरअसल फ़ैन्स तो बस मैच ना देख पाने से दुखी हैं लेकिन लेंकशर क्रिकेट क्लब को तो करोड़ों का नुकसान हो गया है. इस मैच के रद्द होने के चलते लेंकशर को करोड़ों का नुकसान होना है और इससे उबरने के लिए वे मदद की तलाश में हैं.

लेंकशर ने मैच देखने आने वाले दर्शकों की टिकट के पैसे वापस करने का ऐलान भी कर दिया है. इसके साथ ही वो खेल के दौरान अस्थायी रूप से रखे गए कर्मचारियों के लिए भी ऑप्शन तलाश रहे हैं. क्रिकइंफो के अनुसार, जब लेंकशर के CEO डैनियल गिडनी से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा,

‘नहीं, हम ये नुकसान झेल पाने की हालत में नहीं हैं. ये विशेष स्थिति है. हम इसके प्रभाव को कम करने की कोशिश कर रहे हैं. इसके लिए हमें ECB के साथ काम करना होगा. हमको नुकसान कितना हुआ है? हम यहां महत्वपूर्ण रकम के बारे में बात कर रहे है. हम सात अंकों की बात कर रहे है. ये कई मिलियन पाउंड है. यह बहुत चुनौतीपूर्ण है. हमको ECB के साथ काम करना होगा ताकि हम इस स्थिति से निकल सकें.’

दर्शकों को हुई परेशानी के बारे में बात करते हुए गिडनी ने कहा,

‘मेरी पहली चिंता उनके प्रति है जिन्होंने टिकट खरीदा है. मुझे नहीं लगता कि हममें से किसी को भी इस बात का अंदाजा था कि खेल रद्द हो जाएगा. अंतिम निर्णय आज सुबह 9 बजे से ठीक पहले लिया गया है. हम दर्शकों को हुई परेशानी से दुखी है. इसके लिए वो लम्बे समय से इंतजार कर रहे थे. मैं उनसे माफी मांगता हूं. अधिकतर दर्शक धैर्यवान और समझदार रहे हैं. वे परेशान और निराश हैं लेकिन वे अविश्वसनीय रूप से सहायक रहे हैं.’

वहीं मैच के लिए रखे गए अस्थायी कर्मचारियों की सैलेरी को लेकर ECB और लेंकशर के बीच बातचीत जारी है. क्लब, कर्मचारियों को चार दिन की सैलेरी देने पर विचार कर रहा है. इसके साथ ही क्लब ने ये भी पुष्टि की है कि अगर मैच को 2022 में फिर से शेड्यूल किया जाता है, तो वो मेजबानी करने के लिए उत्साहित होंगे.


 

क्या भारत ने पांचवां टेस्ट खेलने से इनकार करते हुए इंग्लैंड को विजयी मान लिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने के लिए यूपी सरकार को एक दिन का वक्त दिया है.

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

रविवार 3 अक्टूबर की शाम से यहां कर्फ्यू लगा है.

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

ब्रिटेन की अदालतों में इन दोनों ने अपनी आय शून्य बताई थी.

लखीमपुर का रोंगटे खड़े करने वाला वीडियो, प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पीछे से कैसे चढ़ा दी गाड़ी!

लखीमपुर का रोंगटे खड़े करने वाला वीडियो, प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पीछे से कैसे चढ़ा दी गाड़ी!

घटना में घायल शख्स ने 'दी लल्लनटॉप' को बताई पूरी कहानी.

फोन पर नेताओं की कुर्सी फिक्स करती थी, अब नई तरह की हैट्रिक बनाई है

फोन पर नेताओं की कुर्सी फिक्स करती थी, अब नई तरह की हैट्रिक बनाई है

पनामा हो या पैराडाइज़, या हो पैंडोरा. लीक जहां, नीरा राडिया का नाम वहां.