Submit your post

Follow Us

अच्छा तो इस वजह से रविचन्द्रन अश्विन और ईशांत शर्मा को नहीं खिलाया!

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज़ की शुरुआत हो गई है, और शुरुआत के साथ ही इंडिया की प्लेइंग इलेवन पर सवाल उठने भी शुरू हो गए हैं. नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज में इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने जैसे ही टॉस जीतकर पहले बैटिंग चुनी. भारतीय कप्तान विराट कोहली ने अपनी प्लेइंग इलेवन में से दो सबसे अनुभवी खिलाड़ियों के बाहर होने का ऐलान कर दिया.

विराट कोहली ने पहले टेस्ट के लिए जो प्लेइंग इलेवन में चुनी है. उसमें रोहित शर्मा के साथ केएल राहुल पारी की शुरुआत करेंगे. उनके बाद बैटिंग में चेतेश्वर पुजारा, कप्तान विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, विकेटकीपर ऋषभ पंत शामिल हैं. बतौर ऑल-राउंडर रविन्द्र जडेजा टीम का हिस्सा हैं. जबकि तेज़ गेंदबाज़ी में जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज और शार्दुल ठाकुर हैं.

इस प्लेइंग इलेवन को जानने के बाद ये सवाल ज़हन में आएगा कि इस टीम में टीम के दो सबसे अनुभवी खिलाड़ी बाहर हैं. उन दो खिलाड़ियों का नाम है ईशांत शर्मा और रविचन्द्रन अश्विन.

ईशांत शर्मा क्यों हुए बाहर:

ईशांत शर्मा इंग्लैंड गई भारतीय टेस्ट टीम के अकेले ऐसे गेंदबाज़ हैं. जिन्होंने 102 टेस्ट मैच खेले हैं. ईशांत के नाम 300 टेस्ट विकेट हैं और वो भारत के लिए पिछले कई सालों से टेस्ट में प्रमुख गेंदबाज़ रहे हैं. लेकिन कई रिपोर्ट्स में ऐसा बताया जा रहा है कि ईशांत शर्मा पूरी तरह से फिट नहीं हैं और उन्हें निगल इंजरी है. जिसकी वजह से वो पहले टेस्ट में प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं बन पाए. सोशल मीडिया पर कई लोग ये भी कह रहे हैं कि भारतीय टीम ने इंग्लिश कंडीशन्स में अपनी बैटिंग टेल को लंबा खींचने के लिए शार्दुल ठाकुर को टीम में शामिल किया है.

अश्विन क्यों हुए बाहर:

ईशांत शर्मा को लेकर ये चीज़ समझ में आ रही है कि उन्हें शायद चोट है और वो इस वजह से प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं बन पाए हैं. लेकिन रविचन्द्रन अश्विन को लेकर चोट की कोई भी खबर नहीं है ऐसे सवाल उठ रहे हैं कि आखिर क्यों अश्विन को टीम में शामिल नहीं किया गया है.

रविचन्द्रन अश्विन के प्रदर्शन की बात करें तो हाल में ही तीन हफ्ते पहले उन्होंने काउंटी क्रिकेट में 15 ओवर के स्पेल में 27 रन देकर छह विकेट चटकाए थे. वो इकलौते भारतीय खिलाड़ी थे जो टीम की छुट्टी से अलग टेस्ट सीरीज़ की तैयारी में लगे हुए थे.

इसके अलावा साउथैम्पटन में खेले गए भारत के आखिरी टेस्ट यानि WTC Final में भी उन्होंने चार विकेट अपने नाम किए थे.

हालिया मैचों के अलावा इंग्लैंड में उनके प्रदर्शन की बात करें तो अश्विन ने इंग्लैंड में सात टेस्ट मैच खेले हैं. जिसमें उन्होंने 28.11 की एवरेज से 18 विकेट चटकाए हैं. लेकिन ऐसे प्रदर्शन और फॉर्म के बावजूद अश्विन को पहले टेस्ट में टीम में जगह नहीं मिलना आश्चर्य की बात है.

अश्विन की जगह भारतीय टीम में रविन्द्रन जडेजा को प्लेइंग इलेवन में मौका दिया गया है. इसके पीछे कई क्रिकेट के जानकार ये तर्क दे रहे हैं कि रविन्द्र जडेजा इंग्लिश कंडीशन्स में एक बेहतर बल्लेबाज़ हैं और ज़रूरत पड़ने पर वो निचले क्रम में ज़रूरी रन्स भी बना सकते हैं.

जडेजा और अश्विन को मिले मौके:

पिछले पांच सालों में देश से बाहर SENA कंट्रीज़ यानि साउथ अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूज़ीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में मौकों की बात करें तो रविन्द्र जडेजा पर कप्तान ने अश्विन से ज़्यादा भरोसा जताया है.

पिछले पांच सालों में जडेजा को इन देशों में 12 टेस्ट खेलने का मौका मिला है. जबकि अश्विन को सिर्फ आठ. जडेजा ने इन मैचों में 43 विकेट चटकाए हैं. वहीं अश्विन ने आठ मैचों में 24 विकेट अपने नाम किए हैं. इस दौरान जडेजा की एवरेज 28.23 की रही. जबकि अश्विन की एवरेज 27.25 की रही है.

इस तरह से इन दोनों गेंदबाज़ों में से जडेजा पर भारतीय टीम मैनेजमेंट का भरोसा ज़्यादा रहा है.

अब यही उम्मीद है कि रविन्द्र जडेजा और भारत की चुनी हुई प्लेइंग इलेवन इस मैच में शानदार प्रदर्शन करे और टीम को जीत दिलाए.


टोक्यो ओलंपिक्स 2020:हॉकी के अलावा रेसलिंग और जेवलिन थ्रो में क्या हुआ? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में पीएम मोदी ने नाम ले-लेकर सुनाया.

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

जानकारों ने जहांगीरपुरी में निकले जुलूस पर सवाल उठाए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

मौजूदा आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे के रिटायर्ड होने पर पदभार संभालेंगे.

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC के IPO में बहुत कुछ बदलने जा रहा है. अगले हफ्ते आ सकता है अपडेटेड प्रॉस्पेक्टस.

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

अभी ये सुविधा कुछ ही बैंको तक सीमित है.

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

2013 की बात है जब चहल मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते थे.

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

कोर्ट ने आकार पटेल को बड़ी राहत दी है.

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

ये वेरिएंट कितना खतरनाक है, ये भी जान लें.

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

हंसी होगी, संगीत होगा और होंगे सौरभ द्विवेदी!

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

कार्रवाई पर संजय राउत भड़क गए हैं.