Submit your post

Follow Us

गोरक्षकों की वापसी: गोमांस की अफवाह में तीन मुस्लिमों को पीटा, जबरन 'जय श्रीराम के नारे' लगवाए!

54.05 K
शेयर्स

मध्य प्रदेश. यहां का एक जिला है सिवनी. खुद को गोरक्षक बताने वाले कुछ लोगों ने तीन मुस्लिमों को गोमांस ले जाने के अफवाह में बेरहमी से पीटा. इस घटना का वीडियो भी सामने आया है. वीडियो में दिख रहा है कि कुछ युवक एक महिला सहित तीन लोगों को बंधक बनाकर पीट रहे हैं. पीड़ितों का कहना है कि उनकी पिटाई करने वालों ने ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने के लिए मजबूर किया. वीडियो में दिख भी रहा है कि पिटाई करने वाले जय श्री राम के नारे लगाने के लिए कह रहे हैं.

खुद को गोरक्षक बताने वाले कुछ लोगों की नोकझोंक हुई थी. उनका कहना था कि ऑटो में यात्रा कर रहे दो मुस्लिम युवक और एक महिला गोमांस ले जा रहे थे. इंडिया टुडे में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. एक व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया गया है. अन्य आरोपियों की तलाश जारी है.

वीडियो में क्या है

वीडियो में दिख रहा है दो युवक एक युवक पर लाठी-डंडे बरसा रहे हैं. युवक चिल्ला रहा है, गिड़गिड़ाता रहा है, रहम की भीख मांग रहा है लेकिन कथित गोरक्षक उसे पीट रहे हैं. पहले पेड़ से बांधकर पीटा गया. फिर युवक को जमीन पर गिराकर पीटा गया. दूसरे युवक के साथ भी वैसा ही सलूक किया गया. दूसरे शख्स को भी जमकर पीटा गया. इतना ही नहीं इन गुंडों ने महिला को भी नहीं बख्शा. उसके साथियों के हाथों ही उस पर चप्पल चलवाई. जबरन जय श्रीराम के नारे लगवाए.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक घटना 22 मई की है लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद 24 मई को पुलिस को इसका पता चला. डुंडा सिवनी पुलिस स्टेशन के प्रभारी गणपत उइके ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि,

शुभम बघेल, एक आदतन अपराधी, योगेश उइके, दीपेश नामदेव, रोहित यादव और श्याम डेहरिया को मारपीट के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. पांचों के खिलाफ आईपीसी की धारा 143, 148, 149, 341, 294, 323 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है.साथ ही उन पर हथियार अधिनियम की धाराएं भी दर्ज की गई हैं.

22 मई की घटना

22 मई को, गोरक्षकों ने पुलिस को सूचित किया था कि कुछ लोग गोमांस लेकर जा रहे हैं. इसके बाद पुलिस ने तौफीक, अंजुम शमा और दिलीप मालवीय को गोहत्या अधिनियम के तहत गिरफ्तार कर लिया. मांस को परीक्षण के लिए प्रयोगशाला में भेज दिया गया. सिवनी के एसपी ललित शाक्यवार ने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है. गणपत ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि तीन में से एक व्यक्ति के रिश्तेदार ने वीडियो सामने आने के बाद एफआईआर दर्ज कराई है.

इस घटना पर एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर कहा कि,

मोदी के मतदाताओं द्वारा चुने गए गोरक्षक मुसलमानों के साथ किस तरह का व्यवहार करते हैं, देख लीजिए. न्यू इंडिया में आपका स्वागत है जो कि सबको साथ लेकर चलने की बात करता है. और मोदी कहते हैं कि सेक्युलरिज्म का नकाब… (पीएम मोदी ने कहा था कि इस चुनाव में सेक्युलरिज्म का नकाब उतर गया है, अब कोई सेक्युलरिज्म की बात नहीं करता)

मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है. कमलनाथ मुख्यमंत्री हैं. लॉ एंड ऑर्डर राज्य सरकार की जिम्मेदारी है. सवाल ये है कि आखिर इस तरह की घटनाएं कब बंद होंगी? राज्य कोई भी हो, सरकार किसी की भी हो इस तरह के लोगों की हिम्मत बढ़ क्यों रही हैं. ऐसे लोग कानून को अपने हाथ में क्यों ले रहे हैं. एक मिनट के लिए मान लेते हैं कि आरोपी गोमांस ले जा रहे थे. लेकिन ये अधिकार किसने दे दिया कि उन्हें पीटा जाए. जबरदस्ती जय श्री राम के नारे लगवाए जाएं.


कन्नौज में कैसे सुब्रत पाठक ने डिंपल यादव को हराया?| दी लल्लनटॉप शो| Episode 223

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी के स्कूल में नमक-रोटी खाते बच्चों का वीडियो बनाने वाला पत्रकार फंस गया

बदनामी से गुस्साए डीएम ने केस करने की धमकी दी थी!

मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार में आर्थिक मंदी पर क्या कहा?

मनमोहन सिंह की बात पढ़ेंगे तो समझ जाएंगे कि मंदी क्यों आई.

असम के विधायक हैं, विपक्ष के नेता हैं, लेकिन NRC की लिस्ट में नहीं हैं अनंत कुमार मालो

कई नेताओं और सैनिकों के साथ ऐसा ही हुआ है.

BJP ने बड़बोली प्रज्ञा ठाकुर को चुप कराने का आईडिया निकाल लिया है

और प्रज्ञा ठाकुर बहुते परेशान हो गयी हैं

इमरान खान की भयानक बेज्ज़ती बिजली विभाग के क्लर्क ने कर दी है

सोचा होगा, 'हमरा एक्के मकसद है, बदला!'

जज साहब ने भ्रष्टाचार पर जजों का धागा खोला, मगर फिर जो हुआ वो बहुत बुरा है

कहानी पटना हाईकोर्ट के जज राकेश कुमार की, जो चारा घोटाले के हीरो हैं.

अयोध्या में बाबरी मस्जिद को बाबर ने बनवाया ही नहीं?

ये बात सुनकर मुग़लों की बीच मार हो गयी होती.

पेरू में लगभग 250 बच्चों की बलि चढ़ा दी गयी और लाशें अब जाकर मिली हैं

खुदाई करने वालों ने जो कहा वो तो बहुत भयानक है

देश के आधे पुलिसवाले मानकर बैठे हैं कि मुसलमान अपराधी होते ही हैं

पुलिसवाले और क्या सोचते हैं, ये सर्वे पढ़ लो

वो आदमी, जिसने पद्म श्री, पद्म भूषण और पद्म विभूषण ठुकरा दिया था

उस्ताद विलायत ख़ान का सितार और उनकी बातें.