Submit your post

Follow Us

डूबता हुआ लड़का मदद मांगता रहा, लेकिन दोस्तों ने उसकी मौत को रिकॉर्ड करना सही समझा

5
शेयर्स

सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है. जिसमें एक लड़का तालाब में डूबता हुआ दिख रहा है. वहीं उसके दोस्त उसकी मदद करने की जगह उसके डूबने का वीडियो बना रहे हैं. लड़के ने खुद को बचाने की बहुत कोशिश की, लेकिन आखिर में तालाब में डूबकर उसकी मौत हो गई.

जब ये वीडियो सामने आया, तब घटना के बारे में भी लोगों को पता चला. ये घटना कर्नाटक के कलबुर्गी जिले की है. 16 नवंबर की शाम करीब 10 लड़कों का ग्रुप एक तालाब में नहाने गया था. इस ग्रुप के एक लड़के को तैरना नहीं आता था. लड़के का नाम जाफर अयुब था. उम्र 22 साल थी. जाफर अपने एक दोस्त के साथ तालाब में कूद गया. उसका दोस्त तो सुरक्षित बाहर निकल गया. लेकिन थोड़ी देर बाद जाफर डूबने लगा. वीडियो में दिख रहा है कि एक दोस्त तालाब के किनारे खड़ा होकर जाफर की मदद के लिए हाथ भी बढ़ाता है, लेकिन थोड़ी ही देर बाद हाथ पीछे खींच लेता है. (वीडियो दर्दनाक है, इसलिए हम आपको नहीं दिखा सकते.)

वीडियो सामने आने के बाद मामला पुलिस तक पहुंचा. पुलिस ने अप्राकृतिक मौत का केस दर्ज कर लिया है. जांच की जा रही है. आपको बता दें कि जाफर अपने घर का इकलौता बेटा था. घर खर्च वही चलाता था. क्योंकि उसके पिता को शराब की लत है, इसलिए कम उम्र में ही जाफर ने काम करना शुरू कर दिया था.

ऐसा पहले भी हुआ है कि युवा टिकटॉक बनाते हुए या सेल्फी खींचते हुए मौत का का शिकार हुए हैं. ये शायद सोशल मीडिया पर खुद को साबित करने की लत है कि हम किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हैं.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सरकार Facebook से यूजर्स की जानकारी मांग रही है

2 साल में तीन गुनी हुई इमरजेंसी रिक्वेस्ट्स की संख्या.

पुनर्विचार की सभी याचिकाएं खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने रफ़ाल को हरी झंडी दी

राहुल गांधी ने पीएम मोदी को रफ़ाल डील में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए खूब घेरा था.

महाराष्ट्र में नहीं बनी शिवसेना-एनसीपी की सरकार, अब लगेगा राष्ट्रपति शासन

एनसीपी को सरकार बनाने के लिए आज शाम साढ़े आठ बजे तक का समय मिला था.

करतारपुर कॉरिडोर: PM मोदी ने इमरान को शुक्रिया कहा, लेकिन इमरान का जवाब पीएम मोदी को पसंद नहीं आएगा

वहां पर भी कॉरिडोर से ज़्यादा 'विवादित मुद्दे' पर ही बोलता नज़र आया पाकिस्तान.

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: विवादित ज़मीन रामलला को, मुस्लिम पक्ष को कहीं और मिलेगी ज़मीन

जानिए, कोर्ट ने अपने फैसले में और क्या-क्या कहा है...

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.