Submit your post

Follow Us

झारखंड में कोरोना भगाने के लिए अबकी जो किया गया, वो जानकर आप कहेंगे- हद हो गई!

हमारे देश में कोरोना के मामले आने शुरू ही हुए थे कि ‘गो कोरोना गो’ कहते हुए एक मंत्री जी का वीडियो सामने आया था. फिर कोरोना को भगाने के लिए तमाम तरह के उपाय बताए जाते रहे. गोमूत्र से लेकर ‘सुमैया तारा’ तक की खबरें आप तक पहुंची होंगी. इन खबरों पर मीम बने और काफी किरकिरी भी हुई. लेकिन झारखंड के कोडरमा के लोगों का कोरोना से बचने का उपाय आपको दु:खी कर सकता है. रिपोर्ट के मुताबिक, यहां के एक देवी मंदिर में लोगों ने अपने गांव की कोरोना वायरस के संक्रमण से रक्षा के नाम पर 400 बकरों की बलि दे दी.

क्या है मामला

झारखंड के कोडरमा में प्रखंड है चंदवारा. यहां के उरवां गांव में एक परिवार को एक बलि देनी है, ऐसा नियम तय किया गया. बुधवार, 9 जून को सुबह देवी माता के मंदिर में हवन-पूजन का दौर शुरू हुआ. इसके बाद बलि दी गई. ‘दैनिक जागरण’ की रिपोर्ट के अनुसार, मुर्गे की बलि से शुरुआत की गई और फिर बकरों की बली दी गई. गांव में कुल 500 परिवार हैं. इनमें अधिकतर परिवार बलि चढ़ा रहे हैं. गांव की महिलाओं का कहना है कि गांव में कोरोना न फैले, इसलिए देवी माता की सामूहिक पूजा की जा रही है.

बीते दिनों बिहार, झारखंड सहित असम के कई इलाकों में ‘कोरोना माई’ की पूजा की भी खबरें सामने आयी थीं. वहां कई महिलाएं कोरोना वायरस का प्रकोप ख़त्म करने के लिए पूजा कर रही हैं, ताकि ‘कोरोना माई’ उन पर नाराज़ न हों.

हमने कोडरमा के एसपी डॉ. एहतेशाम वकारिब से बकरों की बलि देने की खबर के बारे में बात की. उन्होंने ऐसी किसी घटना के बारे में जानकारी से ही इनकार कर दिया. इस बारे में कोई भी नई जानकारी मिलने पर हम आपको अपडेट करेंगे.



 वीडियो देखें: बिहार, झारखंड में कोरोना माई की पूजा करने के लिए औरतें झुंड बनाकर क्यों निकल रही हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

WHO ने कोरोना पर राहत देने वाली बात की तो दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने कहा, “अरी मोरी मईया!”

पलटकर WHO से ही सबूत मांग रहे हैं लोग.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां को हुआ कोरोना इंफेक्शन, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

बीते कुछ दिनों से दोनों की तबीयत खराब थी.

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.