Submit your post

Follow Us

हाथरस केस: 11 दिन पुराने सैम्पल से रेप कन्फर्म नहीं हो सकता, ये कहने वाले CMO ने अब सफाई दी है

हाथरस में दलित लड़की की मौत के मामले में यूपी पुलिस के ADG (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने कहा था कि फ़ॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL ) की रिपोर्ट से रेप की पुष्टि नहीं हुई. लेकिन द इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में मेडिकल कॉलेज के चीफ मेडिकल ऑफिसर (CMO) अज़ीम मलिक ने इस FSL रिपोर्ट को ही खारिज कर दिया है. अखबार ने मलिक के हवाले से दावा किया कि घटना के 11 दिन बाद लिए गए सैम्पल से ये कंफर्म ही नहीं हो सकता कि रेप हुआ था या नहीं. लेकिन अब सीएमओ मलिक ने सामने आकर इस बारे में अपनी सफाई दी है.

पीड़िता के घरवालों का आरोप है कि 14 सितंबर को कथित तौर पर चार लड़कों ने खेत में लड़की के साथ वारदात को अंजाम दिया था. इलाज के लिए लड़की को जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज (JNMC) में भर्ती कराया गया.  22 सितंबर को होश में आने पर विक्टिम ने यौन शोषण होने का बयान दिया था. मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज हुआ. पुलिस ने रेप की धाराओं में FIR दर्ज की और सैम्पल लेकर फॉरेंसिंक साइंस लैब भेजे. ये सैम्पल घटना के 11 दिन बाद 25 सितंबर को लैब पहुंचे. इसी फॉरेंसिंक लैब की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस और प्रशासन लगातार दावा कर रहे हैं कि दलित लड़की से रेप नहीं हुआ था.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, CMO अज़ीम मलिक ने कहा था कि 96 घंटे के अंदर ही फॉरेंसिक सैम्पल लिए जाएं, तभी रेप होने या न होने के बारे में सही नतीजा मिल सकता है. 11 दिन बाद लिए गए सैम्पल के आधार पर तैयार FSL की रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हो सकती. पूरी खबर यहां पढ़ सकते हैं.

लेकिन, इस मामले पर जब इंडिया टुडे के पत्रकार अकरम खान ने अज़ीम मलिक से बात की तो उन्होंने माना कि सैम्पल तीन से चार दिन में कलेक्ट हो जाना चाहिए. चूंकि सैम्पल लेट कलेक्ट हुआ है तो इसमें वो फाइंडिंग नहीं मिलेगी, जो शुरुआती दिनों के सैम्पल में मिलती है. उन्होंने कहा-

ये ऑन द रिकॉर्ड नहीं है. ऑफ द रिकॉर्ड बाते हैं. मुझसे एक सवाल किया गया था, जिसका मैंने सिर्फ रिप्लाई किया था. इससे ज्यादा कुछ नहीं. 

मेरे पास एक जर्नलिस्ट की कॉल आई थी. FSL के संबंध में मेरी राय पूछी गई थी कि जो सैम्पल इतने दिन बाद कलेक्ट किया गया है, तो उस रिपोर्ट की क्या वैल्यू रह जाती है? तो ज़ाहिर सी बात है, मैंने एक डॉक्टर के तौर पर अपनी एक निजी राय दी थी. कहा था कि ऑफिशियल गाइडलाइन्स बोलती हैं कि आपको तीन से चार दिन के अंदर सैम्पल कलेक्ट करने पर जो फाइंडिंग मिलती है, वो 11 दिन के बाद आपको नहीं मिलेगी. और ये मेरी पर्सनल राय है. ये JNMC की या AMU की राय नहीं है. क्योंकि अगर कोई हमारी तरफ ऑफिशियल स्टेटमेंट दिया जाता है तो वो यूनिवर्सिटी के PRO जारी करते हैं.

डॉ. अज़ीम मलिक ने बताया कि मेडिकल कॉलेज में रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. हमज़ा मलिक ने पहले ऐसा स्टेटमेंट दिया था. उसी के संबंध में जर्नलिस्ट ने उनसे ये सवाल किया था. रिपोर्टर के मुताबिक डॉ. हमज़ा ने कहा था-

FSL टीम को घटना के 11 दिन बाद कोई साक्ष्य कैसे मिलेंगे? स्पर्म 2-3 दिन से ज्यादा सर्वाईव नहीं करते. टीम ने बाल, कपड़े, नाखून और वजाइना के सैम्पल लिए. पर उन 11 दिनों में पीरियड्स और दैनिक क्रियाओं की वजह से सैम्पल में सीमेन मौजूद ही नहीं था.

22 सितंबर को डॉक्टर ने पीड़िता की मेडिको-लीगल जांच की थी. इसकी रिपोर्ट में अपनी “अंतिम राय” में कहा था कि लोकल एग्ज़ामिनशेन के आधार पर शरीर पर जबरदस्ती के सुबूत मिले हैं. लेकिन पेनिट्रेशन इंटरकोर्स पर कहा था कि इसकी रिपोर्ट FSL में पेंडिंग है.

लड़की की मौत के बाद पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में भी रेप की पुष्टि नहीं की गई थी. इसमें कहा गया था कि पीड़िता की रीढ़ की हड्डी में चोट की वजह के मौत होना बताया गया.


वीडियो देखें : हाथरस केस: आरोपियों के घर वाले नार्को टेस्ट और जांच को लेकर क्या कह रहे हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

कौन हैं रामबाबू हरित और जसवंत सैनी?

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

ट्रस्ट द्वारा खरीदी जा रही जमीनों के दो और सौदे विवादों के घेरे में.