Submit your post

Follow Us

इटावा: ट्रांसफर के खिलाफ 60 किमी दौड़ लगाने वाले दारोगा को अब वकीलों ने क्यों पीट दिया?

उत्तर प्रदेश का इटावा. यहां कचहरी परिसर में वकीलों ने सस्पेंड चल रहे एक दारोगा को पीट दिया. इसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. दारोगा ने एसएसपी कार्यालय पहुंचकर अपनी जान बचाई.

क्या है मामला?

आजतक से जुड़े शबीर शेख की रिपोर्ट के मुताबिक, दारोगा विजय प्रताप पिछले कई महीने से सस्पेंड चल रहे हैं. वह किसी केस के सिलसिले में अपने वकील से मिलने गए थे. बताया जा रहा है कि दारोगा ने अपने वकील के साथ अभद्रता की. इसके बाद वकीलों ने उनकी पिटाई कर दी.

दारोगा विजय प्रताप उस समय सुर्खियों में आए थे, जब उन्होंने अपने ट्रांसफर से नाराज होकर थाने में जॉइनिंग के लिए 60 किलोमीटर की दौड़ लगा दी थी. दारोगा पर कई आरोप हैं. वहीं पिटाई के मामले में दारोगा का कहना है कि एक मामले में वकील ने रुपये लिए थे, उसे वापस नहीं कर रहे थे. जब अपने पैसे वापस मांगे, तो अन्य वकीलों के साथ मिलकर मारपीट की.

वहीं इस पूरे मामले में एसएसपी आकाश तोमर का कहना है,

सब इंस्पेक्टर के द्वारा अपने वकील से मारपीट की गई है. यह बहुत ही अनुशासनहीन सब इंस्पेक्टर है. वर्तमान में निलंबित चल रहा है. उसके खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई चल रही है. पूर्व में भी इस पर कई आरोप लगे हैं. आज उसने खुद के अधिवक्ता के साथ मारपीट की. इसके बाद वकीलों ने मारपीट की. ये प्रकरण मेरे संज्ञान में आया है. इसकी जांच करवा रहा हूं. जो भी उचित कार्रवाई होगी, की जाएगी.

वहीं आरोप है कि पिछले दिनों सब इंस्पेक्टर विजय प्रताप ने पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया था. ये भी आरोप है कि लॉकडाउन के दौरान सब इंस्पेक्टर ने लोगों के साथ मारपीट की. हिन्दू देवी-देवताओं के खिलाफ आपत्तिजनक और भड़काऊ भाषा का प्रयोग करने और मूर्ति खंडित करने के प्रयास का भी आरोप है. इस मामले में भी केस दर्ज किया गया था. ये भी आरोप है कि वो इटावा जनपद में होने वाले राजनीतिक धरना-प्रदर्शनों में भी लगातार भाग लेते रहे हैं.


इस IIT पास-आउट ने अपनी ही किडनैपिंग का प्लान बना डाला!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इंडिया में कोरोना की वैक्सीन का दाम पता चल गया है, लेकिन पैसे आपको नहीं देने होंगे!

क्या कहा बनाने वाले आदर पूनावाला ने?

बाइक चला रहे CJI बोबड़े पर ट्वीट करने पर twitter और वकील प्रशांत भूषण पर अवमानना का केस हो गया!

सुनवाई में ट्वीट डिलीट करने की बात पर कोर्ट ने क्या कहा?

जाटों-पंजाबियों को बिना बुद्धि का बोलकर माफ़ी मांगने लगे बीजेपी के सीएम

और कौन? वही त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब.

इन तीन परिवारों के उजड़ने की कहानी से समझिए कि कोरोना से बचाव कितना ज़रूरी है

पहले मां की मौत, फिर एक के बाद एक 5 बेटों की मौत

दिशा सालियान की मौत के बाद क्या सुशांत सिंह ने डिप्रेशन की दवाइयां लेनी बंद कर दी थीं?

डॉक्टर ने पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में बताया

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन नहीं रहे

वो 85 बरस के थे, कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे.

उत्तर बिहार में हर साल क्यों आती है बाढ़, अभी कैसे हैं हालात

भौगोलिक स्थिति समझना बहुत जरूरी है.

बिहार महादलित विकास मिशन घोटाला: 'स्पोकन इंग्लिश' के नाम पर कैसे हुई हेरा-फेरी

एक निलंबित और तीन रिटायर्ड IAS अधिकारियों समेत 10 लोगों पर FIR.

राजस्थान में सियासी संकट के बीच अशोक गहलोत ने एक और मोर्चा मार लिया है!

19 जुलाई को राजस्थान की राजनीति से संबंधित ये 5 चीजें हुईं.

ये 'एयर बबल' क्या है, जिस पर हवाई यात्रा करने वाले टकटकी लगाए देख रहे हैं

भारत ने 'एयर बबल' को लेकर कदम उठाए हैं.