Submit your post

Follow Us

इलियाना डिक्रूज ने बताया लोग उनकी तस्वीरों के साथ ऐसी गंदी हरकतें करते हैं

5
शेयर्स

इलियाना डिक्रूज. बॉलीवुड एक्ट्रेस हैं. तमिल, तेलुगु और कन्नड़ फिल्मों में भी काम कर चुकी हैं. हाल ही में उन्होंने एक वेबसाइट को इंटरव्यू दिया. वहां उन्होंने ऑनलाइन ट्रोलिंग और बुलिंग (परेशान करना ) पर बात की. इलियाना ने बताया कि बचपन में उन्हें कई बार बॉडी को लेकर ट्रोल किया गया. आज भी ऐसा किया जाता है. उनकी तस्वीरों से छेड़छाड़ करके शेयर किया जाता है. ये सब चीजें उन्हें परेशान करती हैं.

इलियाना ने कहा-

जब मेरी कुछ इस तरह की तस्वीरें सामने आईं, तो मुझे काफी गुस्सा आया. उनमें मेरे अंगों को वास्तविकता से ज्यादा उभारकर दिखाया गया था. अगर मेरा वजन बढ़ गया है, तो इसे माना जा सकता है. मैं आज से नहीं 13-14 साल की उम्र से बॉडी शेमिंग का सामना कर रही हूं. वो एक संवेदनशील उम्र होती है. तब आप लड़कों से बातचीत करना शुरू कर रही होती हैं. मुझे अपने शरीर के प्रकार को लेकर इतना परेशान किया गया कि अब मुझे महसूस होता है कि मैंने कितना कुछ सुना है. उस वक्त मैं खुद को दूसरों के नजरिये से देख रही होती थी. अब मैं ऐसे पॉइन्ट पर पहुंच गई हूं, जहां मैं जैसी हूं वैसी खुश हूं. अब ये (ट्रोलिंग, बॉडीशेम) मनोरंजक और मजेदार लगता है.

Maxresdefault

ये पहली बार नहीं है, जब उन्होंने इस मसले पर पर बात की हो. 2017 में एक ब्रांड के ऐड में उन्होंने कुछ ऐसा ही कहा था.

मैं कभी एक्ट्रेस नहीं बनना चाहती थी. मैं बहुत शर्मीली थी. एक सेल्फ कॉन्शियस इंसान थी. मेरी बॉडी को लेकर मुझसे इतना कुछ कहा गया था कि 15 साल की उम्र में मेरा एकमात्र लक्ष्य था कि सब मुझे स्वीकार करें. मैं ऐसी हो जाऊं कि कोई मेरी बॉडी को लेकर कुछ न कहे. इस दौरान मैं नहीं जानती थी कि ये एक डिसऑर्डर है. फिर 3 साल पहले मैं ऐसी ही वजहों से पूरी तरह से डिप्रेस्ड हो गई. मैं सोचती थी कि ये सब खत्म करना सबसे बेहतर ऑप्शन है. लेकिन फिर अचानक मुझे अहसास हुआ कि ये ठीक नहीं है. इसके बाद मैंने इस ओर ध्यान देना शुरू किया. अब मुझे किसी की स्वीकृति की जरूरत नहीं है.

इस वीडियो को इलियाना ने अपने ट्विटर पर भी शेयर किया है.

इलियाना सोशल मीडिया पर ट्रोल्स को भी लताड़ देती हैं. कुछ वक्त पहले उन्होंने इंस्‍टाग्राम पर ‘Ask Me Anything’ (मुझसे कुछ भी पूछें) सेशन रखा था. इस दौरान एक शख्‍स ने उनकी वर्जिनिटी को लेकर सवाल पूछा था. उसने लिखा- आपने वर्जिनिटी कब खोई थी?

इसके जवाब में इलियाना ने लिखा-

दूसरों के पर्सनल मैटर में घुसना बंद करें, इस बारे में तुम्हारी मां क्या कहेंगी?’

Ileana
इलियाना ने इस कमेंट का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया था.

2018 में भी कुछ ऐसा ही हुआ था, जब इंस्टाग्राम पर एक यूजर ने उनसे पूछा था- क्या उन्हें अपनी अजीब बॉडी को लेकर किसी परेशानी का सामना करना पड़ा है?

उन्होंने करारा जवाब देते हुए कहा था-

मेरा शरीर अजीब नहीं है. किसी का भी नहीं होता. मेरी बॉडी टाइप को लेकर मैंने बहुत आलोचना झेली है, लेकिन मैं जैसी हूं अब खुद वैसे ही प्यार करना सीख रही हूं. अब मैं किसी और के आदर्शों को खुद पर नहीं थोपती हूं.

पिछले साल उनकी कुछ तस्वीरें वायरल होने लगी थीं. न्यूज वेबसाइट से सोशल मीडिया तक एक ही बात लिखी जा रही थी. वो प्रेगनेंट हैं. जल्द ही शादी कर सकती हैं और उन्होंने गुपचुप तरीके से शादी कर ली है. सिर्फ वजन बढ़ गया है, इसलिए लोगों ने तमाम (कु)तर्क दे डाले.

Ileana Is No More The Zero Size Marriage Effect

जब एक फिल्म के प्रमोशन के दौरान भी उनसे प्रेगनेंसी पर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा-

दुनिया को यह बताना जरूरी नहीं है कि मैं शादीशुदा हूं या नहीं. मैं एक तय तरीके से दुनिया को अपने बारे में बताती हूं. थोड़ा अपने बारे में उन पर छोड़ देती हूं. मैंने इन सब अफवाहों के साथ रहना सीख लिया है. मैं पिछले 12 साल से इंडस्ट्री में हूं. और मैं प्रेग्नेंट नहीं हूं. हालांकि, मैं होती तो मुझे काफी खुशी होती. मैं हमेशा से ऐसा चाहती हूं. लेकिन अभी इसमें वक्त है. मैं अभी प्रेग्नेंट नहीं होना चाहती.

विद्या बालन, सोनम कपूर, सोनाक्षी सिन्हा, प्रियंका चोपड़ा वो सेलेब्रिटी हैं, जो भी स्किन कलर, शरीर के आकार और बॉडी पार्ट्स की वजह से ट्रोल होते रहे हैं. ये बात सच है कि फिल्म स्टार सबसे ज्यादा ट्रोल्स के निशाने पर रहते हैं. क्योंकि लोग उन्हें हर हाल में परफेक्ट देखना चाहते हैं. लेकिन हैं, तो वो भी इंसान ही. आपकी और हमारी तरह.

आप नहाकर मॉल जाते हैं. 20-25 फोटो क्लिक करते हैं. तब कहीं जाकर 1-2 फोटो अच्छी आती हैं. उनमें से भी 1 सबसे बेस्ट चुनकर आप उसे अपनी प्रोफाइल पिक्चर/डीपी में जड़ देते हैं. कई बार आपका ‘बैड हेयर डे’ होता है. किसी दिन ज्यादा खाना खाने की वजह से तोंद दिखती है. किसी दिन मूड ऑफ का असर चेहरे पर भी दिखता है. हर रोज आप भी सुंदर और अट्रैक्टिव नहीं लगते न.

अगर आप फिल्म के लुक से किसी एक्टर या एक्ट्रेस की तुलना कर रहे हैं, तो वो सरासर गलत है. क्योंकि जिस तरह आप रोज अपनी डीपी जैसे नहीं दिखते. वैसे ही एक्टर्स भी हर रोज वैसे नहीं दिख सकते जैसे फिल्म में नजर आते हैं. इसलिए जज करना है, तो एक्टिंग के बेसिस पर कीजिए.

दूसरी बात, जब कोई अपनी कोई तस्वीर शेयर कर रहा है, तो उसे ट्रोल करने का क्या लॉजिक है. भई, अगर उस एक्टर ने अपनी तस्वीर पोस्ट की है, तो ये उसका स्टेटमेंट है कि फिलहाल वो मोटा है. तो आप उसकी फोटो के नीचे ‘मोटा लग रहा है’, लिखकर क्या बता रहे हैं. उसे पता है, वो मोटा लग रहा है. बल्कि आप इस बात को एक्सेप्ट नहीं कर पा रहे.

ये तो वही बात हो गई कि किसी ने सोशल मीडिया पर लिखा कि उसका नाम रमेश है. आपने हंसना शुरू कर दिया कि अरे इसका नाम तो रमेश है. मतलब ‘ज़ीरो सेंस.

अब ये कहने की या समझाने की बात तो नहीं है कि अच्छे इंसान बनिए, किसी के बारे में बुरा मत बोलिए. ये ज्ञान स्कूल में दिया जाता है. ज्यादातर ट्रोल्स 18वां बर्थडे मनाकर बैठे होंगे. लेकिन अक्ल के दरवाजे पर खूब बड़ा सा ताला लगा होता है. ऐसे लोगों की वजह से हमें भी आर्टीकल लिखना पड़ता है. खैर, जाते-जाते सोनाक्षी सिन्हा का वो संदेश पढ़ लीजिए, जो उन्होंने ऑनलाइन बुली करने वालों के लिए दिया था.

मैं जैसी हूं, वैसी रहूंगी. आपको देखना है, देखो. नहीं देखना है, मत देखो.


Video : पति पत्नी और वो: कार्तिक आर्यन के एक विवादित डायलॉग से फिल्म बेहाल है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

एक तरफ अमित शाह रैली में बोले नक्सलवाद ख़त्म किया, उधर नक्सलियों ने हमला कर दिया

नक्सलियों ने अमित शाह को गलत साबित कर दिया. चार जवान शहीद हो गए.

कांग्रेस ने अलग से प्रेस कॉन्फ्रेंस क्यों की?

और क्या बोले अहमद पटेल?

महाराष्ट्र में रातों रात बदला गेम, देवेंद्र फडणवीस सीएम और एनसीपी के अजित पवार डिप्टी सीएम बने

शिवसेना ने इसे अंधेरे में डाका डालना बताया.

किसका डर है कि अयोध्या मसले में सुन्नी वक्फ बोर्ड रिव्यू पिटीशन नहीं फ़ाइल कर रहा?

चेयरमैन के ऊपर दो-दो केस!

डूबते टेलीकॉम को बचाने के लिए सरकार 42 हज़ार करोड़ की लाइफलाइन लेकर आई है

तो क्या वोडाफोन आईडिया और एयरटेल बंद नहीं होने वाले हैं?

मालेगांव बम ब्लास्ट की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर देश की रक्षा करने जा रही हैं

रक्षा मंत्रालय की कमेटी में शामिल होंगी.

IIT गुवाहाटी के छात्र एक प्रोफेसर के लिए क्यों लड़ रहे हैं?

प्रोफेसर बीके राय लंबे समय से करप्शन के खिलाफ जंग छेड़े हुए हैं.

आर्टिकल 370 हटने के बाद कश्मीर में पत्थरबाजी कम हुई या बढ़ी?

राज्यसभा में सरकार ने आंकड़े बताए हैं.

फोन कंपनियां ये किस बात के लिए हम लोगों से पैसा लेने जा रही हैं?

कॉल और डाटा का पैसा बढ़ने वाला है, पढ़ लो!

BHU के मुस्लिम टीचर के पिता ने कहा, 'बेटे को संस्कृत पढ़ाने से अच्छा था, मुर्गे बेचने की दुकान खुलवा देता'

बीएचयू में मुस्लिम टीचर की नियुक्ति पर बवाल!