Submit your post

Follow Us

कोरोना के बीच सरकार ने गठिया वाली दवा के एक्सपोर्ट पर रोक क्यों लगा दी?

कोरोना की ख़बरों के बीच दो शब्द आए हैं. Chloroquine और hydroxychloroquine. इन दो शब्दों के आने के बाद लोगबाग सोच रहे कि कोरोना की दवा आ गयी. ICMR यानी इंडियन काउन्सिल ऑफ़ मेडिकल रीसर्च ने कहा कि कोरोना के मरीज़ों के साथ रहने वाले लोग और उनका इलाज करने वाले डॉक्टर और नर्स hydroxychloroquine का डोज़ ले लें.

इसके साथ ही एक नया आदेश आया. भारत सरकार ने इसको बनाने वाली भारतीय कम्पनियों को निर्देश जारी किए कि वे hydroxychloroquine या उससे बनने वाली दूसरी दवाओं का विदेशों में निर्यात रोक दें. Indian Express में छपी ख़बर की मानें तो बुधवार को वाणिज्य मंत्रालय के फ़ॉरेन ट्रेड के निदेशालय से इस बाबत आदेश जारी किया गया. दवा कंपनियों को तत्काल प्रभाव से इसका पालन करने के लिए कहा गया. ताकि भारत में इस दवा की ठीकठाक मात्रा उपलब्ध रहे.

लेकिन इसके साथ ही आदेश में ये भी कहा गया कि विदेश मंत्रालय से सलाह लेने के बाद ही इन दवाओं का निर्यात केस के आधार पर किया जाएगा. आदेश जारी होने से पहले की तारीख़ों पर यदि दवा कम्पनियों के पास कोई ऑर्डर आया है, और उन्होंने उसका निर्यात कर दिया है, तो उस निर्यात को नहीं रोका जाएगा. उस स्थिति में भी निर्यात को नहीं रोका जाएगा अगर दवा कम्पनियों को hydroxychloroquine के निर्यात के लिए पहले ही एडवांस दिया जा चुका है. लेकिन इसके लिए कम्पनियों को सबूत दिखाने होंगे.

Who Twitter Corona
भारत में कोरोना को तीसरे चरण में पहुंचने से रोकने के प्रयास हो रहे हैं. कितनी सफलता मिलेगी? सरकार के प्रयासों पर ही निर्भर है. (सांकेतिक तस्वीर: Pexels)

बीते हफ़्ते जब अमरीकी राष्ट्रपति डानल्ड ट्रम्प ने कहा कि hydroxychloroquine और chloroquine से कोरोना का इलाज सम्भव है, इसके बाद इस दवा का निर्यात काफ़ी बढ़ गया. लोग भी दुकानों से इस दवा को ख़रीद-ख़रीदकर ले जाने लगे. इसके बाद इन दवाओं को बनाने वाली प्रमुख कम्पनियों इपका और जाइडस कैडिला के शेयरों में ज़बरदस्त उछाल देखा गया. अमरीका से भारी मात्रा में hydroxychloroquine और chloroquine के ऑर्डर भारत आए, ऐसी भी ख़बरें चली थीं. फ़िलहाल, भारत सरकार ने इन दवाओं के निर्यात पर रोक लगा दी है.

इसके पहले भी सरकार ने फ़ेस मास्क और हैंड सैनिटाईज़र के निर्यात पर रोक लगा दी थी.

क्या है chloroquine और hydroxychloroquine?

मोटामोटी तो जानते हैं आप chloroquine के बारे में. मलेरिया के इलाज में इसका इस्तेमाल हुआ करता है. सबसे पहले 1934 में जर्मन वैज्ञानिकों ने इसे बनाया. क्विनीन नाम के पदार्थ से, जो सिंकोना पेड़ की छाल से निकलता है. मलेरिया के इलाज के साथ ही इसका इस्तेमाल prophylaxis में होता है. Prophylaxis मतलब रोग होने के पहले ही दवा खाने वाली स्थिति. कि दवा ख़ा ली, अब हो सकता है कि रोग न हो. लेकिन साल 2006 से मलेरिया के इलाज में chloroquine का इस्तेमाल बेहद कम हो गया है. क्यों? क्योंकि कहा जा रहा है कि मलेरिया के वायरस ने इसके खिलाफ़ रेज़िस्टन्स यानी प्रतिरोधक क्षमता बना ली है. फिर भी वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनायज़ेशन यानी WHO ने chloroquine को ज़रूरी दवाईयों की सूची में डाला है. मतलब जनता के लिए chloroquine सुलभ और सस्ती होनी चाहिए.

Lariago Ds
भारत में Ipca द्वारा बनाया जाने वाला सबसे अधिक बिकने वाला Chloroquine टैबलेट Lariago DS.

अब बात hydroxychloroquine की. ये chloroquine से मिलता-जुलता है. लेकिन chloroquine की तुलना में इसकी toxicity यानी ज़हर बन जाने की क्षमता बेहद कम होती है. Hydroxychloroquine का इस्तेमाल गठिया में होता है. Hydroxychloroquine भी सस्ती दवाओं की श्रेणी में आता है.

Hcqs 200
ipca ही भारत में hydroxychloroquine टैबलेट Hcqs 200 बनाती है

इन्हीं दो दवाओं के बारे में हचककर चल रहा है कि इन्हें से ठीक होगा कोरोनावायरस का संक्रमण. लेकिन अभी कुछ भी पक्का नहीं है. सरकार ने ये भी कहा है कि ख़ुद से कोई दावा न लें. कोई भी दिक़्क़त होने वाले कोरोना के लिए बनी हेल्पलाइन पर फ़ोन करें. या नज़दीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जायें.


लल्लनटॉप वीडियो : PM मोदी के लॉकडाउन के ऐलान के बाद सरकार ने क्या नियम कानून बनाए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

बिहारः इस मंदिर ट्रस्ट ने कोरोना से निपटने के लिए जो किया वो सुनकर अच्छा लगता है

बिहार में अब तक कोरोना वायरस इंफेक्शन के चार मामले सामने आए हैं.

कोरोना वायरस पर एक्ट्रेस शेफाली शाह की ये चेतावनी रोंगटे खड़े कर देती है

'सपने में मिलती है' गाने पर डांस करने वाली शेफाली शाह ने इंस्टाग्राम पर एक चौंका देने वाला वीडियो डाला है

अफगानिस्तानः काबुल में गुरुद्वारे पर हुए आतंकी हमले में 25 लोग मारे गए

सुरक्षाबलों ने हमलावरों को मार गिराया.

लॉकडाउन के बीच गरीबों को तीन रुपये में चावल और दो रुपये में गेंहू देगी केंद्र सरकार

भारत में कोरोना वायरस के केस बढ़कर 562 तक पहुंच गए हैं.

कोरोना वायरस पर पड़ा सनी देओल का ढाई किलो वाला हाथ!

लॉकडाउन के पहले दिन सांसद सनी देओल का बड़ा ऐलान.

कोरोना वायरस पर अपने देश का लेबल लगने से परेशान हो गया है चीन

भारत के विदेश मंत्री को फोन करके कहा- कोरोना को चीनी वायरस मत कहें.

शिल्पा शेट्टी ने कहा, 'शमिता फिल्मों में आई तो लगा था कि अब मुझे कौन काम देगा?'

'मैं जानती थी कि शमिता मुझसे ज्यादा सुंदर और बेहतर एक्ट्रेस है.'

लॉकडाउन: दुकानों में भीड़ न लगाएं, इन राज्यों में रहते हैं तो घर बैठे सामान पाएं

लोगों को चिंता है कि उनकी रोज़मर्रा की ज़रूरतों का क्या होगा?

MP: कमलनाथ और शिवराज दोनों के इवेंट्स में मौजूद पत्रकार को कोरोना वायरस इंफेक्शन

बेटी लंदन से लौटी थी, उसका टेस्ट भी पॉजिटिव निकला है.

कोरोना ने दुनियाभर में कितने करोड़ लोगों को घरों में बंद कर दिया?

इटली, स्पेन में डॉक्टर भेज रहा चीन.