Submit your post

Follow Us

पूरी बस को बंधक बना लिया और रिहाई की शर्त बताई, तो लोग हैरान रह गए!

यूक्रेन में 10 लोगों को बंधक बनाए जाने का मामला फ़िल्मी तरीके से ख़त्म हुआ. बंधक बनाने वाले ने यूक्रेन के राष्ट्रपति को एक वीडियो पोस्ट करने के लिए कहा, जिसमें लोगों से ‘Earthlings’ फ़िल्म को देखने की अपील करनी थी. जब राष्ट्रपति ने अपील वाला वीडियो पोस्ट किया, तब जाकर बंधक बनाए लोगों को शख्स ने रिहा किया. कई घंटों तक चले इस घटनाक्रम का अंत ऐसे होगा, ये किसी ने सोचा भी नहीं था.

बंदूकधारी ने राष्‍ट्रपति वोलोदयमयर जेलेंस्‍की से बात की. इस बंदूकधारी ने राष्‍ट्रपति से बस में बैठे बंधकों को रिहा करने के बदले एक वीडियो मेसेज जारी करने की शर्त रखी थी.

# क्या है पूरा मामला

यूक्रेन के शहर लुट्स्‍क में एक बंदूकधारी ने बस में बैठे लोगों को बस के भीतर बंधक बना लिया. उसकी शुरुआती मांग बेहद उलझी हुई थीं, जिन्हें अधिकारी समझ नहीं पा रहे थे. बाद में बंधक बनाए शख्स ने राष्ट्रपति से बात करने की पेशकश रखी. राष्ट्रपति ने शख्स से बात की और जब उसने बंधकों को रिहा करने की शर्त रखी, तो राष्ट्रपति समेत सभी अधिकारी और पुलिसवाले हैरान रह गए.

राष्ट्रपति को एक वीडियो पोस्ट करना था. उन्हें अपने संदेश में सिर्फ कहना था, ‘सभी लोगों को वर्ष 2005 में आई फिल्‍म अर्थलिंग्‍स को देखना चाहिए.’ राष्‍ट्रपति जेलेंस्‍की ने वीडियो मेसेज जारी करके लोगों से अपील की. राष्‍ट्रपति के अपील के बाद बंधक बनाने वाला शख्स उनकी बात मान गया. उसने वादे के मुताबिक सभी लोगों को रिहा कर दिया. पुलिस ने आरोपी को अरेस्‍ट कर लिया है.

सभी बंधक सुरक्षित हैं. आरोपी का नाम मकयस्‍म क्रयवोश है. अरेस्‍ट करने के बाद क्रयवोश को जेल भेज दिया गया है. इसका क्रिमिनल रिकॉर्ड भी है. इससे पहले भी क्रयवोश 10 साल तक जेल की सजा काट चुका है. यूक्रेन के गृहमंत्री अर्सेन अवाकोव ने ट्वीट कर कहा कि अब हालात सामान्य हैं.

# 10 मिनट की बातचीत में मामला सुलट गया

राष्‍ट्रपति ने मीडिया को बताया-

बंदूकधारी ने पहले कई अधिकारियों से बात की. जब मैं बंदूकधारी से बातचीत को सहमत हुआ, तब उसने असली मांग बताई. सात से 10 मिनट की बातचीत के बाद यात्रियों और गर्भवती महिलाओं तथा बच्‍चों को छोड़ने पर सहमत हो गया. इसके लिए उसने एक शर्त रखी थी कि मुझे एक वीडियो पोस्‍ट करना होगा.

हॉलीवुड स्‍टार जोआकिन फोनिक्‍स की नरेशन वाली इस डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म में पशुओं के अधिकारों के बारे में बताया गया है. इस फ़िल्म को देश-दुनिया में काफ़ी सराहा गया है.

# फ़िल्म के डायरेक्टर ने दुखद बताया

2005 में आई इस डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म ‘Earthlings’ के डायरेक्टर शॉन मैन्सन ने कहा है कि ये घटना दुखद है. इस तरह की चीजों के बारे में जागरूक करने के लिए, आतंक का सहारा नहीं लिया जाना चाहिए. हम इसकी आलोचना करते हैं और इसे किसी भी तरह से प्रमोट नहीं करते हैं.


ये वीडियो भी देखें:

वर्ल्ड लीडर्स से ऐसी हरकतों की उम्मीद भला कौन करेगा!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इंडिया में कोरोना की वैक्सीन का दाम पता चल गया है, लेकिन पैसे आपको नहीं देने होंगे!

क्या कहा बनाने वाले आदर पूनावाला ने?

बाइक चला रहे CJI बोबड़े पर ट्वीट करने पर twitter और वकील प्रशांत भूषण पर अवमानना का केस हो गया!

सुनवाई में ट्वीट डिलीट करने की बात पर कोर्ट ने क्या कहा?

जाटों-पंजाबियों को बिना बुद्धि का बोलकर माफ़ी मांगने लगे बीजेपी के सीएम

और कौन? वही त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब.

इन तीन परिवारों के उजड़ने की कहानी से समझिए कि कोरोना से बचाव कितना ज़रूरी है

पहले मां की मौत, फिर एक के बाद एक 5 बेटों की मौत

दिशा सालियान की मौत के बाद क्या सुशांत सिंह ने डिप्रेशन की दवाइयां लेनी बंद कर दी थीं?

डॉक्टर ने पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में बताया

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन नहीं रहे

वो 85 बरस के थे, कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे.

उत्तर बिहार में हर साल क्यों आती है बाढ़, अभी कैसे हैं हालात

भौगोलिक स्थिति समझना बहुत जरूरी है.

बिहार महादलित विकास मिशन घोटाला: 'स्पोकन इंग्लिश' के नाम पर कैसे हुई हेरा-फेरी

एक निलंबित और तीन रिटायर्ड IAS अधिकारियों समेत 10 लोगों पर FIR.

राजस्थान में सियासी संकट के बीच अशोक गहलोत ने एक और मोर्चा मार लिया है!

19 जुलाई को राजस्थान की राजनीति से संबंधित ये 5 चीजें हुईं.

ये 'एयर बबल' क्या है, जिस पर हवाई यात्रा करने वाले टकटकी लगाए देख रहे हैं

भारत ने 'एयर बबल' को लेकर कदम उठाए हैं.