Submit your post

Follow Us

ड्रग बेचने का आरोप है, पर इस प्रेसिडेंट को विपक्षी भी जिता रहे हैं

पैराग्वे के प्रेसिडेंट होरेसिओ कार्टेस ने संविधान में संशोधन करने का प्रस्ताव दिया है, ताकि वो 2018 में प्रेसिडेंट पद के लिए फिर से चुने जा सकें. अब ये चीज इस देश को अल्फ्रेडो स्ट्रॉसनर के 30 साल की तानाशाही की याद दिला रहा है.

राइटविंग की कोलोरेडो पार्टी पैराग्वे के 70 साल के आधुनिक इतिहास में 66 साल सत्ता में रही है. अब वो लोग विपक्षी पार्टियों के सांसदों को भी इस बात के लिए तैयार कर रहे हैं कि बदलाव लाया जा सके.

वहीं लेफ्टविंग वाले कह रहे हैं कि जनतंत्र को बचाने के लिए पैराग्वे के लोगों को सड़कों पर उतरना होगा.

कार्टेस तंबाकू के व्यापारी हैं. उनके सपोर्टर उनको ही सत्ता में चाहते हैं क्योंकि वो व्यापार से जुड़े रिफॉर्म जल्दी कर देते हैं. विपक्ष का कहना है कि ये लोग सपोर्ट जुटाने के लिए सांसदों को खरीद रहे हैं.

2012 में लेफ्टविंग के पूर्व प्रेसिडेंट फर्नांडो लुगो को इंपीच कर दिया गया था. अब स्थिति ऐसी हो गई है कि उनके भी सपोर्टर राइटविंग के कार्टेस का समर्थन कर रहे हैं. 2013 में कार्टेस पर फ्रॉड और ड्रग स्मगलिंग का चार्ज लगा था. इसके बावजूद वो जीत गए थे. कार्टेस को 46 प्रतिशत वोट मिले थे. इस बार उनको 50 प्रतिशत से ज्यादा वोट मिलने की संभावना है.

पिछली बार कार्टेस जब प्रेसिडेंट पद के लिए लड़ रहे थे, उस वक्त 20 कंपनियों में उनके शेयर थे. उस वक्त उन्होंने वादा किया था कि खूब नौकरियां आएंगी, हेल्थ और एजुकेशन में खूब बढ़ोत्तरी होगी. पैराग्वे एक गरीब देश है. लोगों को ये बात भा गई.

पैराग्वे के लोग काम के लिए अर्जेंटीना और स्पेन जाते हैं. सबको लगा कि कार्टेस की वजह से सब अपने घर में काम पा सकेंगे. लोगों को इस बात से कोई मतलब नहीं था कि कार्टेस अवैध रूप से देश की मुद्रा इधर-उधर करने के चक्कर में 1989 में साल भर की जेल भी काट चुके हैं.

विकीलीक्स के मुताबिक अमेरिका ने कार्टेस को ड्रग ट्रैफिकिंग के आरोप में इन्वेस्टिगेट किया था. इनके फॉर्महाउस पर ड्रग से भरा प्लेन मिलने का आरोप लगा था. पर कार्टेस कहते हैं कि ये सब कहानियां हैं.

वहीं 2006 में जनरल अल्फ्रेडो स्ट्रॉसनर 93 साल की उम्र में मर गए थे. 35 साल की तानाशाही के बाद 1989 में वो ब्राजील भाग गए थे. वहीं पर मौत हुई. पर उनको कभी पकड़ा नहीं जा सका. 1954 में उन्होंने पैराग्वे की सत्ता हड़प ली थी. इसको उन्होंने क्रांति कहा था. क्रांति की शुरुआत में एक अफसर की मौत हुई थी जो गरीबों को जमीन बांटने के काम में लगा था. पर अमेरिका की कथित मदद से अल्फ्रेडो ने सीक्रेट पुलिस बना ली थी. ये पुलिस इतनी एफिशिएंट थी कि किसी भी तरह के विरोधी को ठिकाने लगा देती थी. चुनाव दर चुनाव अल्फ्रेडो जीतते ही गए.

पैराग्वे दुनिया के उन देशों में है, जहां पर गरीबों के पास बहुत ही कम जमीन है. ब्राजील भी कुछ इसी तरह का देश है.

ये भी पढ़ें:

10 क्विक बातेंः दिल्ली के इस थियेटर के लिए पीएम नेहरू रंगून से फिल्म लाए थे

अगर आप मार्केट से कुछ खरीदते हैं तो GST उसमें क्या बदलाव लाएगा

कौन हैं हृदय नारायण दीक्षित, जिन्हें यूपी में विधानसभा अध्यक्ष बनाया गया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?

सलमान खान की रेकी करने वाला शार्प शूटर पकड़ा गया

जनवरी में रची गई थी सलमान खान की हत्या की साजिश!

रोहित शर्मा और इन तीन खिलाड़ियों को मिलेगा इस साल का खेल रत्न!

इसमें यंग टेबल टेनिस सेंसेशन का भी नाम शामिल है.

प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक पंडित जसराज नहीं रहे

पिछले कुछ समय से अमेरिका में रह रहे थे.

प. बंगाल: विश्व भारती यूनिवर्सिटी में जबरदस्त हंगामा, उपद्रवियों ने ऐतिहासिक ढांचे भी ढहाए

एक फेमस मेले ग्राउंड के चारों तरफ दीवार खड़ी की जा रही थी.

धोनी के 16 साल के क्रिकेट करियर की 16 अनसुनी बातें

धोनी ने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है.