Submit your post

Follow Us

दो अधिकारियों में लड़ाई, एक बना पुलिस कमिश्नर और एक के खिलाफ़ होगी कार्रवाई

CBI के पूर्व निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ पद के दुरुपयोग और संबंधित सेवा नियमों का उल्लंघन करने के आरोप लगे, और केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की सिफारिश कर दी है. न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक, अधिकारियों ने 4 अगस्त के दिन ये जानकारी मीडिया के सामने रखी. अधिकारियों ने बताया कि अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए गृह मंत्रालय ने CBI के नोडल मंत्रालय कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग यानी DoPT को पत्र लिख दिया है.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया से बताया है कि

वर्मा पर पद का दुरुपयोग करने और सेवा नियमों का उल्लंघन करने का आरोप है. गृह मंत्रालय ने उनके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की सिफारिश की है. DoPT ने गृह मंत्रालय की सिफारिश संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) को भेज दी है जो IPS अधिकारियों की नियुक्ति करने वाली संस्था है. IPS अधिकारियों पर कोई भी जुर्माना लगाने से पहले UPSC से परामर्श जरूरी होता है.

जांच होने पर क्या होगा?

अधिकारियों ने कहा कि वर्मा के खिलाफ कार्रवाई को मंजूरी मिलती है तो उनकी पेंशन और सेवानिवृत्ति लाभों पर अस्थायी या स्थायी रोक लग सकती है. CBI में कार्यरत रहने के दौरान 1979 बैच के भारतीय पुलिस सेवा (IPS) से सेवानिवृत्त अधिकारी वर्मा की भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर अपने मातहत, गुजरात कैडर के IPS अधिकारी राकेश अस्थाना के साथ विवाद हुआ था. वर्मा और अस्थानों दोनों ने ही एक दूसरे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे. राकेश अस्थाना अब दिल्ली के पुलिस कमिश्नर हैं.

दूसरी तरफ़ वर्मा 1 फरवरी 2017 को दो साल के लिए CBI निदेशक बने थे. उन्हें 10 जनवरी 2019 को पद से हटा दिया गया था और दमकल सेवा, सिविल डिफेंस एवं होमगार्ड का महानिदेशक बनाया गया. वर्मा ने ये प्रस्ताव स्वीकार नहीं किया. उन्होंने कहा था कि वह 31 जुलाई 2017 को 60 साल की उम्र पूरी कर चुके हैं अत: उन्हें सेवानिवृत्त मान लिया जाए.

पूरा विवाद

तारीख़ 15 अक्टूबर 2018. इस दिन CBI ने रिश्वतखोरी का एक मामला दर्ज किया. तत्कालीन स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के ख़िलाफ़. इस समय निदेशक हुआ करते थे आलोक वर्मा. तो अस्थाना पर आरोप लगे आपराधिक साज़िश रचने और रिश्वतख़ोरी के.

आरोप लगे कि एक जांच रुकवाने के लिए अस्थाना ने तीन करोड़ रिश्वत की रिश्वत ली.

22 अक्टूबर 2018. CBI ने उप-पुलिस अधीक्षक देवेंद्र कुमार को अरेस्ट कर लिया. CBI के आरोप थे कि देवेंद्र कुमार ने जांच से जुड़े सरकारी दस्तावेज़ों में हेरफेर की. एजेंसी ने कहा कि ये हेरफेर CBI के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के रिश्वत लेने के आरोप से जुड़ी है. इसके अलावा राकेश अस्थाना पर मांस कारोबारी मोइन कुरैशी के खिलाफ एक मामले को रफा-दफा करने के लिए 2 करोड़ रुपए रिश्वत लेने के आरोप लगे थे. राकेश अस्थाना और आलोक वर्मा के बीच की ये लड़ाई बहुत सनसनीख़ेज़ होती गयी.

और इस बीच राकेश अस्थाना ने डायरेक्टर आलोक वर्मा के ख़िलाफ़ हरियाणा में एक ज़मीन के सौदे में गड़बड़ी करने और भ्रष्टाचार के दूसरे कथित मामलों की शिक़ायत कर दी.

23 अक्टूबर को रात 9 बजे CBI के डायरेक्टर आलोक वर्मा ने एक आदेश जारी कर स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना से सारी ज़िम्मेदारियां वापस ले लीं. उसी रात भारत सरकार ने राकेश अस्थाना के साथ CBI के डायरेक्टर आलोक वर्मा को भी छुट्टी पर भेज दिया. आलोक वर्मा सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए. केस चला. बाद में सुप्रीम कोर्ट ने CBI निदेशक के तौर पर आलोक वर्मा की नियुक्ति को बहाल कर दिया था. लेकिन सरकार ने उन्हें पद से हटा दिया था. इसके बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया था. और अब है ये ताज़ा विवाद सामने.


सीबीआई विवाद: जस्टिस सीकरी ने मल्लिकार्जुन खड़गे की जगह नरेंद्र मोदी का साथ क्यों दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

RRB NTPC के रिजल्ट में किन गड़बड़ियों पर छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं, खुद उनसे सुनिए

RRB NTPC के रिजल्ट में किन गड़बड़ियों पर छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं, खुद उनसे सुनिए

क्या एक ग्रेजुएट और एक 12वीं पास को एक एक जैसा पेपर देना जायज है?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

मृतक व्यक्ति पर नाबालिग से बलात्कार का आरोप था.

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5G के रोल आउट को लेकर दिक्कतें चालू.

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

बीमा कंपनी गाड़ी चोरी या दुर्घटनाग्रस्त होने का बहाना बनाए तो ये आदेश दिखा देना.

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

दबी जुबान में क्या कह रही है पुलिस?

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

जानेंगे बैंक FD में क्यों घट रही है लोगों की दिलचस्पी.

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.