Submit your post

Follow Us

UP: हिंदुओं ने लिखा- मकान बिकाऊ है, तो BJP नेता ने अज़ान रोकने की धमकी दे डाली

उत्तर प्रदेश का अलीगढ़ (Aligarh) ज़िला. यहां के टप्पल थाना क्षेत्र के नरपुर गांव में रातों-रात एक समुदाय विशेष के लोगों के मकानों के बाहर लिख दिया गया- “ये मक़ान बिकाऊ है.” एक नहीं, कई मकानों पर ऐसा हुआ. इनकी तस्वीरें सोशल मीडिया तक पहुंचीं और तस्वीर वायरल हो गई. मामले ने तूल पकड़ लिया. आइए बताते हैं कि ये पूरा विवाद क्या है.

दोनों पक्षों के अपने-अपने आरोप

नूरपुर एक मुस्लिम बहुल गांव है. यहां मुस्लिमों के करीब 800 परिवार रहते हैं. हिंदुओं के अनुसूचित जाति (जाटवों) के लगभग 125 परिवार हैं. 26 मई को गांव में जाटव समाज के एक परिवार में दो लड़कियों की शादी थी. बरात हरियाणा से आई थी. लेकिन गांव में बरात चढ़ने के दौरान झगड़ा हो गया.

ओमप्रकाश का आरोप है कि उनकी बेटियों की बरात निकल रही थी, तभी मुस्लिम समुदाय के लोगों ने बरातियों को गाने बजाने से रोक दिया. बरातियों पर डंडों और रॉड से हमला किया. DJ की गाड़ी भी तोड़ दी. इस घटना में DJ वाली गाड़ी के ड्राइवर समेत दो लोग घायल हो गए.

ओमप्रकाश ने ये भी दावा किया कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ था. इससे पहले 25 अप्रैल और 9 मई को भी उनके समाज के परिवारों में आई बरात में इसी तरह झगड़ा और मारपीट की गई थी. उनका आरोप है कि पुलिस से शिकायत की गई थी, लेकिन कुछ कार्रवाई नहीं हुई. इंडिया टुडे के शुभम सारस्वत के मुताबिक, बिरमा देवी ने बताया कि मेरी बेटी की शादी के दौरान बरात में उन लोगों (मुस्लिमों) ने मार पिटाई की. वो हमें परेशान करते हैं. अब हमारे पास यहां से मकान बेचकर जाने के अलावा कोई रास्ता नहीं है. उन्होंने भी पुलिस पर मदद न करने का आरोप लगाया.

Aligarh
अलीगढ़ के नूरपुर गांव के अनुसूचित जाति के लोगों ने अपने घरों के बाहर लिख दिया है, “यह घर बिकाऊ है.”(फ़ोटो- स्पेशल अरेंज्मेंट)

हालांकि मुस्लिम समुदाय के अलग ही आरोप हैं. अमर उजाला की खबर के मुताबिक, वकील नाम के शख्स ने पुलिस में जो तहरीर दी, उसमें आरोप लगाया गया है कि नमाज के समय बैंड और डीजे बजाते हुए लोग मस्जिद के चबूतरे पर चढ़ आए. उनसे मना किया गया तो झगड़ा किया, मारपीट की गई.

BJP नेता बोलीं, ये हिंदुस्तान है पाकिस्तान नहीं

इस घटना के बाद बीजेपी सांसद सतीश गौतम, इलाक़े के विधायक अनूप वाल्मीकि 31 मई को गांव पहुंचे. जाटव समाज के लोगों से बातचीत की. नेताओं ने उन्हें सख़्त क़ानूनी कार्रवाई का आश्वासन भी दिया. लेकिन बीजेपी नेता और पूर्व महापौर शकुंतला भारती ने दूसरे पक्ष के लोगों को धमकी दे डाली. इंडिया टुडे के शुभम सारस्वत के मुताबिक, शकुंतला भारती ने पीड़ितों से बातचीत में कहा कि अगर वो हिन्दुओं की बरात नहीं चढ़ने देंगे, तो हम मस्जिदों में अज़ान नहीं होने देंगे.

जाटव समाज के लोगों से मुलाकात के बाद शकुंतला भारती ने कहा,

“यह हिंदुस्तान है, पाकिस्तान नहीं हैं. मैं स्पष्ट बता देती हूं कि यह उनके पिताजी की सरकार नहीं है. ये योगी-मोदी की सरकार है. अगर अब हिम्मत है तो बरात रोककर दिखाएं. हम उनकी ही बरात चढ़ा देंगे.”

Aligarh 2
नूरपुर गांव में एक नहीं, कई मकानों पर ऐसे मैसेज लिखे गए हैं. (फ़ोटो- स्पेशल अरेंज्मेंट)

शकुंतला भारती ने मीडिया से बातचीत में आरोप लगाया कि नूरपूर गांव में पिछले काफ़ी वर्षों से हिंदू समुदाय की बहन-बेटियों की बरात एक विशेष समुदाय के लोगों की दबंगई के चलते चढ़ने नहीं दी जाती है. बरात चढ़ने के दौरान मारपीट की जाती है. इनकी वजह से गांव का हिंदू समुदाय डरा हुआ है. महिलाएं भयभीत हैं.

वहीं. अलीगढ़ के समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक जमीर उल्लाह ने कहा कि नूरपुर में हिंदू और मुसलमान मिलकर रहते हैं. कभी-कभी आपस में हो जाती है. किसकी गलती है,  किसकी नहीं है, मैं इसमें नहीं जाऊंगा. लेकिन इतना कहना चाहूंगा कि अब दोनों में फैसला हो गया है. उन्होंने कहा कि

कुछ लोग आग में घी डालने का काम कर रहे हैं. इनका मकसद है कि जनता का ध्यान शराब से हुई मौतों से हटाया जाए.

बता दें कि अलीगढ़ में जहरीली शराब पीने से बड़ी संख्या में लोगों की मौतें हुई हैं. अब तक 84 शवों के पोस्टमॉर्टम कराए गए हैं. इनमें 35 की मौत जहरीली शराब से होने की पुष्टि प्रशासन ने की है. बाकी शवों के विसरा आगे जांच के लिए आगरा लैब भेजे गए हैं.

पुलिस का दावा, शांति कायम है

नूरपुर की घटना के बारे में अलीगढ़ के एसपी ग्रामीण शुभम पटेल ने बताया कि थाना टप्पल में दो पक्षों के बीच विवाद हो गया था. एक पक्ष के लोग बरात ले जा रहे थे, उसी दौरान दूसरे पक्ष से कुछ कहासुनी हो गई. इस मामले में उसी दिन धारा 188 और महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज़ कर लिया गया था. बाद में, दूसरे पक्ष ने आरोप लगाया कि उनके साथ भी पहले पक्ष के लोगों ने मारपीट की है. इस पर 30 मई को दूसरे पक्ष की शिकायत पर मुकदमा दर्ज़ कर लिया गया.

पुलिस का कहना है कि मक़ानों के बाहर “बिकाऊ” लिखना एक संदेश था कि उनके लिए गांव में रहना सही नहीं है. स्थानीय प्रशासन का ये भी दावा है कि एसडीएम द्वारा गांव में जाकर लोगों को समझाए जाने के बाद से अब शांति का माहौल है. जाटव समाज के लोगों को कोई समस्या नहीं है. पुलिस वहां पर मुस्तैद है.


वीडियो- अलीगढ़ में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों के आंकड़ों पर सांसद और CMO क्या कह रहे हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

रिटायर्ड जस्टिस अरुण मिश्रा को मोदी सरकार ने NHRC चेयरमैन बनाया तो बवाल क्यों हो रहा है?

रिटायर्ड जस्टिस अरुण मिश्रा को मोदी सरकार ने NHRC चेयरमैन बनाया तो बवाल क्यों हो रहा है?

लोग जस्टिस अरुण मिश्रा को इस पद के लिए चुने जाने का बस एक ही कारण गिना रहे हैं.

क्या कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को लेकर मोदी सरकार झूठ बोल रही है?

क्या कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को लेकर मोदी सरकार झूठ बोल रही है?

अलग-अलग आंकड़े क्या कहानी बताते हैं?

लक्षद्वीप में दारू और बीफ़ वाले नियमों पर बवाल बढ़ा तो अमित शाह ने क्या कहा?

लक्षद्वीप में दारू और बीफ़ वाले नियमों पर बवाल बढ़ा तो अमित शाह ने क्या कहा?

लक्षद्वीप के सांसद मोहम्मद फैज़ल ख़ुद मिलने गए थे अमित शाह से

पत्रकार से IAS बने अलपन बंदोपाध्याय, जो ममता और मोदी सरकार में रस्साकशी की नई वजह बन गए हैं

पत्रकार से IAS बने अलपन बंदोपाध्याय, जो ममता और मोदी सरकार में रस्साकशी की नई वजह बन गए हैं

ममता बनर्जी ने केंद्र के आदेश की क्या काट ढूंढ निकाली है?

वैक्सीनेशन पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को घेरा, पूछा- वैक्सीन का एक रेट क्यों नहीं?

वैक्सीनेशन पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को घेरा, पूछा- वैक्सीन का एक रेट क्यों नहीं?

वैक्सीन की कमी, राज्यों के टेंडर जैसे मुद्दों पर भी सरकार से तीखे सवाल किए.

यूपी के महोबा में कूड़ा ढोने वाली गाड़ी से शव मोर्चरी में पहुंचाया

यूपी के महोबा में कूड़ा ढोने वाली गाड़ी से शव मोर्चरी में पहुंचाया

विवाद बढ़ता देख अब जांच के आदेश दिए गए.

इस जिले के DM का आदेश- वैक्सीनेशन के बिना नहीं मिलेगी सरकारी कर्मचारियों को सैलरी

इस जिले के DM का आदेश- वैक्सीनेशन के बिना नहीं मिलेगी सरकारी कर्मचारियों को सैलरी

कुछ सरकारी कर्मचारियों ने इस फैसले पर नाराजगी जताई.

छेड़छाड़ कर स्लॉट गायब करने की बात पर सरकार ने कहा-कोविन प्लेटफॉर्म हैक नहीं हो सकता

छेड़छाड़ कर स्लॉट गायब करने की बात पर सरकार ने कहा-कोविन प्लेटफॉर्म हैक नहीं हो सकता

सोशल मीडिया पर कुछ लोगों का कहना है कि ऐप के साथ छेड़छाड़ कर स्लॉट गायब किए जा रहे हैं.

कोरोना से अनाथ हुए बच्चों की PM केयर्स फंड से इस तरह मदद करेगी सरकार

कोरोना से अनाथ हुए बच्चों की PM केयर्स फंड से इस तरह मदद करेगी सरकार

कमाऊ सदस्यों को खोने वाले परिवारों के लिए भी योजना का ऐलान.

PM मोदी के साथ मीटिंग को लेकर विवाद पर ममता बनर्जी बोलीं- इस तरह मेरा अपमान न करें

PM मोदी के साथ मीटिंग को लेकर विवाद पर ममता बनर्जी बोलीं- इस तरह मेरा अपमान न करें

कहा-मुझे खुद इंतजार करना पड़ा.