Submit your post

Follow Us

केंद्र सरकार ने पहली बार माना, ऑक्सीजन की कमी से हुई थी लोगों की मौत

केंद्र सरकार ने पहली बार ये बात स्वीकार की है कि कोविड 19 (Covid 19) की दूसरी वेव के दौरान ऑक्सीजन की कमी से लोगों की मौत हुई थी. राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्रालय ने ये बात मानी है. सवाल किया था आंध्र प्रदेश के राज्यसभा सांसद और तेलुगूदेशम पार्टी के नेता के. रविंद्र कुमार ने. उन्होंने पूछा –

# क्या सरकार ने आंध्र प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर कोई जांच कराई? ख़ासकर रुइया अस्पताल को लेकर. अगर हां तो इसकी डिटेल्स दी जाएं.

क्या सरकार ने देश के सभी अस्पतालों को ये निर्देश दिए थे कि किसी भी इमरजेंसी स्थिति से निपटने के लिए ऑक्सीजन का पर्याप्त स्टॉक रखा जाए. अगर हां तो डिटेल्स दी जाएं. अगर नहीं तो कारण बताया जाए.

इस पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने जवाब दिया –

“10 मई 2021 को आंध्र प्रदेश के श्री वेंकटेश्वर रामनारायण रुइया हॉस्पिटल में कुछ मरीज वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे, जिनकी कोविड-19 ट्रीटमेंट के दौरान मौत हो गई थी. इस संबंध में प्रारंभिक जांच से पता चला है कि एक ऑक्सीजन टैंक के खाली होने, और दूसरे बैकअप टैंक को स्विच ऑन किए जाने के बीच में ऑक्सीजन का प्रेशर कम हो गया था. ऑक्सीजन लाइन का प्रेशर गिरने से वेंटिलेटर सपोर्ट पर बने मरीजों के लिए ऑक्सीजन की कमी हो गई थी.”

इसके आगे स्वास्थ्य मंत्रालय ने ये भी कहा है कि स्वास्थ्य राज्य सूची का विषय है यानी इसकी ज़िम्मेदारी राज्यों की रहती है.

पहले किया था इनकार

राज्यसभा में स्वास्थ्य मंत्रालय का दिया ये जवाब सामने आने के बाद इसकी तुलना हो रही है मंत्रालय के ही एक पिछले जवाब से. जब 20 जुलाई को कांग्रेस के राज्यसभा सांसद के.सी. वेणुगोपाल के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यसभा में कहा था कि –

“राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से ऐसी कोई सूचना नहीं मिली है कि कोविड 19 की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत हुई हो.”

इस बयान पर उस वक्त काफी बवाल हुआ था. और अब आंध्र प्रदेश से जुड़ा सरकार का ये जवाब उनके ही पिछले जवाब से विरोधाभासी लग रहा है. वहीं दूसरी तरफ, स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये जानकारी दी कि केंद्र सरकार ने सभी राज्यों से कहा है कि वो अपने यहां ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों का ब्योरा भेजें. अभी तक 13 राज्यों ने जवाब भेजा है. ये राज्य हैं – अरुणाचल प्रदेश, असम, ओडिशा, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, झारखंड, हिमाचल प्रदेश और पंजाब. लव अग्रवाल के मुताबिक इन राज्यों में से सिर्फ पंजाब है, जिसने कहा है कि ‘संभवतः’ ऑक्सीजन की कमी से 4 लोगों की मौत हुई. इसके अलावा किसी राज्य ने अब तक ऑक्सीजन की कमी से मौत होने की बात नहीं कही है.

रुइया हॉस्पिटल का केस

चलते-चलते ये भी जान लेते हैं कि आंध्र प्रदेश के रुइया हॉस्पिटल में हुआ क्या था, जिसके संबंध में राज्यसभा में सवाल-जवाब हुआ. श्री वेंकटेश्वर रामनारायण रुइया हॉस्पिटल आंध्र प्रदेश का सरकारी अस्पताल है. मई में यहां ऑक्सीजन की कमी से एक-एक करके कुल 23 लोगों की मौत की खबर सामने आई थी. अस्पताल के अधीक्षक डॉ. टी. भारती ने इस मामले में FIR भी कराई थी. उन्होंने आरोप लगाया था कि तमिलनाडु से लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई देर से आने के कारण अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी हुई थी. इस मामले में उन्होंने श्री भारत फार्मा के प्रबंध निदेशक और मेडिकल ऑक्सीजन डिस्ट्रीब्यूटर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी.


सरकार ने कहा – ऑक्सीजन की कमी से मौत का रिकॉर्ड नहीं आया, लोग भड़के

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

लिंक करने का पूरा प्रोसेस बता रहे हैं, जान लीजिए.

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

सपा ने ट्वीट कर कहा- 2022 में मिलकर करेंगे बीजेपी को साफ़!

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

थाने के मालखाने से 25 लाख चोरी के आरोप में पुलिस ने पकड़ा था सफाईकर्मी को.

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.