Submit your post

Follow Us

चीन के बाद इस देश में हैं कोरोना के सबसे ज्यादा मरीज़, दो दिन में 105 केस सामने आए

चीन में कोरोना वायरस का असर कुछ कम हुआ है. लेकिन अब साउथ कोरिया में कोरोना इंफेक्शन के केस लगातार बढ़ रहे हैं. दो दिन में साउथ कोरिया में कोरोना वायरस के 105 मामले सामने आ चुके हैं. 20 फरवरी को इसके 52 मामले आए, 21 फरवरी को 53 मामले. एक की मौत भी हो चुकी है. कोरिया की सरकार ने देश में हेल्थ इमरजेंसी लागू कर दी है.

इसके अलावा डाइगू और चियोंगडो शहर को स्पेशल केयर ज़ोन घोषित कर दिया गया है. ये दोनों ऐसे शहर हैं, जहां कोरोना का सबसे ज्यादा खतरा पनप रहा है. प्रधानमंत्री चुंग से कुन ने 21 फरवरी को कहा,

“कोरोना की वजह से देश में इमरजेंसी जैसी कंडीशन बनती दिख रही है. हमने दो शहरों की पहचान की है, जहां सबसे ज्यादा खतरा है. डाइगू और चियोंगडो को स्पेशल केयर ज़ोन घोषित करने का मकसद है कि यहां ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचकर उन्हें आगाह किया जा सके, चेकअप किया जा सके. हमारा पहला जोर इस बात पर है कि दूसरे देश से अब कोई भी इंफेक्टेड व्यक्ति कोरिया में न आए.”

चीन के बाद दूसरा सबसे प्रभावित देश

साउथ कोरिया में अब कोरोना वायरस से इंफेक्शन के 156 केस आ चुके हैं. कुल केस के लिहाज़ से देखें तो कोरिया चीन के बाद दूसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश बन गया है. डाइगू शहर में अब तक 41 मामले सामने आ चुके हैं. राजधानी सियोल से कोरोना पॉजिटिव के 39 केस आए हैं.

सेना को सुरक्षित रखने की भी चुनौती

कोरियाई सेना में भी कुछ जवानों को कोरोना इंफेक्शन हुआ है और कुछ संदिग्ध हैं. इससे सरकार के हाथ-पांव फूल रहे हैं. सेना को इंफेक्शन से दूर रखना बड़ी चुनौती हो सकती है.

चीन में अब कोरोना का क्या हाल है?

कोरोना वायरस फैलने की शुरुआत चीन से हुई थी. हालांकि अब वहां हालात पर काबू पाने की कोशिश धीरे-धीरे सफल हो रही है. दुनियाभर में कोरोना वायरस के अब तक करीब 70 हजार केस सामने आ चुके हैं. करीब दो हजार लोगों की मौत हो चुकी है.

भारत में कोरोना वायरस के तीन केस मिले थे. तीनों ने रिकवरी कर ली है. एक को तो हॉस्पिटल से डिस्चार्ज भी कर दिया गया है.


क्या कोरोना वायरस, चीन के शहर वुहान की लैब में तैयार किया गया जैविक हथियार है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

लॉकडाउन: नोएडा प्रशासन का ये आदेश मज़दूरों और कर्मचारियों के लिए बहुत बड़ी राहत है

अन्य जगहों पर इसे जरूर लागू किया जाना चाहिए.

कोरोना: क्या हुआ जब ट्विंकल ने अक्षय से पूछा, इतने पैसे डोनेट करने के बारे में श्योर हो?

पीएम केयर फंड में डोनेट करने की खुद प्रधानमंत्री मोदी ने अपील की थी.

लॉकडाउन: घर लौटने की चाह में 200 किलोमीटर पैदल चला, रास्ते में ही मौत हो गई

महाराष्ट्र में पैदल घर जा रहे चार लोगों को ट्रक ने कुचला.

अब बीसीसीआई ने कोरोना संकट से लड़ने के लिए खजाना खोल दिया!

बीसीसीआई ने कहा है वो मुश्किल वक्त में सरकार के साथ खड़ा है.

कोरोना संकट के समय मारुति सुजुकी सबसे जरूरी चीज बनाने जा रही है

महिंद्रा एंड महिंद्रा का दावा है कि उसने पहले ही काम शुरू कर दिया है.

पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में दलित बच्चों के घास खाने वाली खबर में कितनी सच्चाई है?

एक अख़बार ने खबर छापी थी कि लॉकडाउन में भूखे बच्चे घास खा रहे हैं.

कोरोना के लिए जितने पैसे बाकी सुपरस्टार्स ने दिए उससे ज़्यादा अक्षय कुमार ने अकेले दे दिया

ये पैसे पीएम केयर्स फंड में दान किए हैं.

कोरोना से लड़ने के लिए टाटा ने तिजोरी का मुंह खोल दिया है

जान लीजिए कोरोना से लड़ाई में कितने सौ करोड़ रुपए दिए.

इन देशों ने कोरोना के टेस्ट के लिए चीन से किट मंगाई फिर चायनीज़ आइटम से भरोसा ही उठ गया!

अब ये देश भी कह रहे हैं चाइनीज आइटम पर भरोसा नहीं करना चाहिए.

अमेरिका में कोरोना के सबसे ज़्यादा मामले, लेकिन दुनिया की मदद के लिए खजाना खोला

64 देशों के लिए मदद की घोषणा. जानिए भारत को कितने करोड़ दिए.