Submit your post

Follow Us

AAP विधायक कुलदीप एपिडेमिक एक्ट के तहत केस दर्ज होने पर अपनी सफाई में क्या बोले?

आम आदमी पार्टी के विधायक कुलदीप कुमार जब हाथरस के पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे, तब वो कोरोना पॉजिटिव थे या नहीं? ये सवाल इसलिए, क्योंकि उनके खिलाफ यूपी पुलिस ने एपिडेमिक एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है. दूसरी ओर, कुलदीप कुमार ने अब एक वीडियो जारी कर खुद को कोरोना नेगेटिव बताया है.

क्या है पूरा मामला

दिल्ली की कोंडली विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी के विधायक हैं कुलदीप कुमार. कुलदीप ने 29 सितंबर को एक ट्वीट किया था और खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी थी.

इस ट्वीट में साफ-साफ लिखा है-

“पिछले दो दिनों से मुझे हल्का बुख़ार होने की वजह से आज मैंने कोविड-19 टेस्ट कराया, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, जिसके बाद मैं होम आइसोलेशन में रहूंगा. जो भी साथी पिछले 2-3 दिनों में मुझसे मिले हैं, वो अपना टेस्ट ज़रूर करा ले.”

इसके बाद कुलदीप ने 4 अक्टूबर को हाथरस जाने का ऐलान कर दिया. उन्होंने ट्वीट कर बताया कि वो पीड़ित परिवार से मिलने के लिए जा रहे हैं.

इसके बाद उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट किए और पीड़ित के परिवार से मिलने की जानकारी साझा की.

अपने एक ट्वीट में उन्होंने यूपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा-

“अभी हाथरस में पीड़ित परिवार से मिलकर लौटा हूं. परिवार में डर और भय का माहौल पैदा किया जा रहा है. ये लोकतंत्र और संविधान की हत्या है. उत्तर प्रदेश में योगी राज में क़ानून नहीं, जंगलराज चल रहा है.”

विवाद क्यों है

दरअसल, कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आने के बाद 14 दिनों तक क्वारंटीन में रहना होता है. अगर 29 सितंबर को विधायक कुलदीप कुमार ने खुद को कोरोना पॉजिटिव बताया था, तो उन्हें 13 अक्टूबर तक क्वारंटीन में रहना था. लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया और हाथरस में पीड़ित परिवार से मिलने पहुंच गए.

अब क्या कह रहे हैं कुलदीप

अब कुलदीप ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें वो दावा कर रहे हैं कि उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी, जिसके बाद ही वो पीड़ित परिवार से मिलने के लिए पहुंचे. इस वीडियो में उन्होंने कहा-

“बीजेपी और उसका IT सेल जो झूठ का प्रोपेगेंडा फैला रहा है कि मैं पॉजिटिव होने के बाद हाथरस गया था, उनको बता दूं कि मेरी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही मैं हाथरस गया था. अगर बीजेपी सोचती है कि झूठे प्रोपेगेंडा फैलाकर दोषियों को बचा लेगी, तो इसमें कभी सफल नहीं होगी.”

बता दें कि यूपी में एपिडेमिक एक्ट का उल्लंघन करने वाले कई लोगों पर केस दर्ज किए जा चुके हैं.

बीजेपी उठा रही सवाल

बीजेपी इस मामले को लेकर आम आदमी पार्टी के विधायक पर सवाल उठा रही है. 6 अक्टूबर को दो ट्वीट करके बीजेपी दिल्ली के ट्विटर हैंडल से आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा गया.

गरमाती जा रही राजनीति

इस मुद्दे पर जमकर राजनीति हो रही है. सवाल ये है कि अब कुलदीप कुमार की ओर से जो कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव दिखाई जा रही है, वो कब की है? अगर 29 सितंबर को वो कोरोना पॉजिटिव थे और 4 अक्टूबर को नेगेटिव, तो ऐसे में क्या एपिडेमिक एक्ट के तहत उन पर कार्रवाई की जा सकती है?

(ये स्टोरी वरुण कुमार ने लिखी है)


वीडियो: पंजाब: राहुल गांधी ने ट्रैक्टर पर कुशन लगाकर बैठने वाली बात का जवाब दिया है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

क्या ये चिराग पासवान के लिए ज़मीन तैयार करने की रणनीति है?

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

स्टूडेंट्स, अभिभावकों की लिखित सहमति से ही स्कूल जा सकते हैं.

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

कथित गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे हैं राहुल-प्रियंका.

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

सभी पक्ष-विपक्ष वालों का पॉलीग्राफी टेस्ट भी होगा.

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

खबर है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने जाने वाले हैं.

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

आ गया है 28 साल पुराने मामले में फ़ैसला

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

अक्षय कुमार ने भी ट्वीट किया है.

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

तो क्या इस वक़्त देश के पास अर्थव्यवस्था सही करने का सिर्फ़ एक बटन बचा है?

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा-

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.