Submit your post

Follow Us

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

हरियाणा के बहादुरगढ़ में एक व्यक्ति को जिंदा जलाने का मामला सामने आया है. मुकेश नाम का यह व्यक्ति वहां चल रहे किसान आंदोलन में शामिल था. मुकेश के परिजनों ने आंदोलनकारियों पर मुकेश को शराब पिलाने और बाद में पेट्रोल छिड़ककर आग लगाने का आरोप लगाया है. पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है.

मुकेश झज्जर जिले के बहादुरगढ़ सब-डिवीजन के गांव कसार का रहने वाला था. आजतक के प्रथम शर्मा की रिपोर्ट के मुताबिक, मुकेश के भाई ने पुलिस को बताया कि वह बुधवार 16 जून की शाम को किसान आंदोलन में शामिल होने गया था. वहीं पर उसे पहले तो शराब पिलाई गई. फिर आग के हवाले कर दिया गया. भाई ने आंदोलनकारियों पर मुकेश को परेशान करने का आरोप भी लगाया.

बुरी तरह झुलसे मुकेश को बहादुरगढ़ के सिविल अस्पताल लाया गया. गंभीर हालात को देखते हुए उन्हें शहर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में ले जाया गया. जहां रात ढाई बजे उन्होंने दम तोड़ दिया. मामले की जानकारी होने पर परिजन और गांववाले मौके पर पहुंचे. उन्होंने आरोप लगाया कि आंदोलनकारियों ने उसे परेशान किया. बाद में उसे तेल छिड़कर आग के हवाले कर दिया.

मरने से पहले बयान में क्या कहा?

मरने से पहले मुकेश का एक बयान भी सामने आया है. इसका वीडियो चल रहा है. इसमें वह किसान आंदोलन स्थल पर पेट्रोल छिड़कर आग लगाने की बात बता रहे हैं. हालांकि उनकी बातों से ये स्पष्ट नहीं है कि आग किसने लगाई. मुकेश की उम्र 42 साल थी. उनकी 10 साल की एक बेटी है.

घटना के विरोध में परिवारवालों ने मुकेश का शव लेने से इंकार कर दिया. उनका कहना है कि सरकार पहले परिवार को सुरक्षा की गारंटी दे और उचित मुआवजे के साथ परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए.

पुलिस का क्या कहना है?

पुलिस का कहना है कि अस्पताल से उन्हें सूचना मिली थी कि कसार गांव के मुकेश नाम के एक व्यक्ति की बहादुरगढ़ शहर के एक निजी अस्पताल में मौत हो गई है. उन्हें गंभीर हालत में इलाज के लिए लाया गया था. मामले की जांच की जा रही है. जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी.

डीएसपी पवन कुमार ने बताया,

इस संबंध में पहले संदीप और कृष्ण नाम के आरोपियों के खिलाफ जान से मारने के प्रयास का मामला दर्ज किया गया था. मगर मुकेश की मौत होने के बाद हत्या की धारा भी जोड़ दी गई है. पुलिस जांच कर रही है. पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट आने से कई बातों का खुलासा होने की संभावना है.  

 

इस घटना के बाद कुछ गांववालों ने किसान आंदोलन पर भी सवाल उठा दिए. उन्होंने आरोप लगाया कि आंदोलनकारी रातभर डीजे बजाते हैं. उनके खेतों तक चले आते हैं. खुले में शौच करते हैं. मना करने पर धमकी देते हैं.

संयुक्त किसान मोर्चा का क्या कहना है?

वहीं इस मामले में संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से भी बयान आया है. किसान मोर्चा की ओर से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि किसान आंदोलन को बदनाम करने की लगातार कोशिश हो रही है. टिकरी बॉर्डर के नजदीक एक स्थानीय व्यक्ति द्वारा आत्महत्या के मामले को अलग एंगल दिया जा रहा है. पुलिस द्वारा दायर FIR (संख्या 196, दिनांक 17 जून, पुलिस थाना बहादुरगढ़ सेक्टर 6) के अनुसार 16 जून को मुकेश पुत्र जगदीश लाल निवासी गांव कसार, बहादुरगढ़ अपने गांव के नजदीक एचपी पैट्रोल पंप के पास जल गया. FIR में आरोपी के रूप में एक व्यक्ति कृष्ण का नाम है जिसे बाद में गिरफ्तार कर लिया गया है. यह स्थान टिकरी बॉर्डर पर किसानों के टेंट के एकदम नजदीक है.

संयुक्त किसान मोर्चा का कहना है कि उन्हें जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक, कल रात (16 जून की रात) कसार गांव के नजदीक एचपी पेट्रोल पंप के पास एक व्यक्ति को अकेले देखा गया. उसने अचानक अपने ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगा ली. जैसे ही किसान मोर्चा के वॉलिंटियर ने यह देखा वह उसकी ओर दौड़े, आग बुझाई और उसकी जान बचाई. उस व्यक्ति ने बताया की उसने पारिवारिक समस्या से तंग आकर मरने का फैसला किया था. पेट्रोल पंप के कर्मचारी ने मुकेश की पहचान कर परिवार को सूचना दी, जो घटनास्थल पर पहुंचकर उसे अस्पताल ले गए. अफसोस की बात है की जहां किसानों ने एक अनजान व्यक्ति की जान बचाने की कोशिश की वहां उसी घटना में किसान आंदोलन पर हत्या का आरोप लगाया जा रहा है.

संयुक्त किसान मोर्चा हरियाणा सरकार से अपील करता है कि वह निष्पक्ष जांच करवाएं जिसमें मोर्चा हर तरह से सहयोग करेगा. हम जनता से अपील करते हैं की इस महान आंदोलन को बदनाम करने की एक इस तरह की साजिशों पर कान न दें.


सोशल लिस्ट: गाज़ियाबाद वाले मामले में ट्विटर पर क्यों FIR हुई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

विराट-रोहित को आराम, मतलब नए खिलाड़ियों के लिए टीम इंडिया की कैप दूर नहीं

IPL में बढ़िया प्रदर्शन का इनाम मिलने वाला है.

तालिबान से बहुत भाईचारा दिखा रहे पाकिस्तान को अपनी एयरलाइन बंद करनी पड़ गई

तालिबान ने क्या धमकी दी थी?

पैंडोरा पेपर्स: गायक शैल ओसवाल ने कोयले के व्यापार के लिए BVI कंपनी का इस्तेमाल किया?

शैल ओसवाल सिंगर होने के साथ ओसवाल ग्रुप के वंशज हैं.

कोच रिकी पोंटिंग ने बताया किस खिलाड़ी को नहीं चाहते छोड़ना!

DC के हारते ही पोंटिंग ने तैयार किया अगले साल का रोडमैप.

T20 विश्वकप खत्म होते ही राहुल द्रविड़ को BCCI देगा बड़ी ज़िम्मेदारी!

जो आप सोच रहे हैं वो बात सही है.

रबी सीजन के लिए सरकार ने किसानों को क्या बड़ी राहत दे दी है?

सरकार को सब्सिडी बढ़ानी क्यों पड़ी है?

वाजपेयी का वीडियो शेयर कर वरुण गांधी ने इशारों में कह दी BJP को चुभने वाली बात

41 साल पुराने इस वीडियो में वाजपेयी सरकार को चेतावनी देते दिख रहे हैं.

डेविड हसी ने साफ कर दिया रसेल, धोनी के खिलाफ उतरेंगे या नहीं!

फाइनल में किससे है KKR को उम्मीदें?

कोलकाता जीती लेकिन दिनेश कार्तिक को नुकसान उठाना पड़ गया!

कार्तिक भी इस पर पछता रहे होंगे.

व्हीलचेयर वाली MP प्रज्ञा ठाकुर ने किया गरबा, फिर कबड्डी-कबड्डी; विपक्ष ने पूछा- कोर्ट में पेशी कब है

कुछ समय पहले वॉलीबॉल खेलते दिखी थीं.