Submit your post

Follow Us

एमएस धोनी पर चैपल के बोलते ही गुस्से से लाल हो गए हरभजन सिंह!

साल 2005 से 2007 के बीच भारतीय क्रिकेट में एक ऐसा वक्त आया, जिससे फैंस ही नहीं, बहुत सारे इंडियन क्रिकेटर भी नाराज़ हुए. वो वक्त था ग्रेग चैपल की कोचिंग वाला. खैर, वो वक्त बीत गया, लेकिन टीम इंडिया के पूर्व कोच ग्रेग चैपल भारतीय टीम को लेकर अक्सर कमेंट करते रहते हैं. हाल में उन्होंने एमएस धोनी पर कमेंट करते हुए कहा है कि किस तरह से ग्राउंड पर शॉट खेलने के उनके चैलेंज ने धोनी को दुनिया का बेस्ट फिनिशर बना दिया.

चैपल के इस बयान पर एमएस धोनी तो हमेशा की तरह खामोश रहे. लेकिन टीम इंडिया के एंग्री मैन हरभजन सिंह और वर्ल्डकप हीरो युवराज सिंह को चैपल की ये बातें बेतुकी लगीं. इसके बाद इन दोनों ने सोशल मीडिया पर ही चैपल को करारा जवाब दे दिया.

चैपल ने क्या कहा

प्लेराइट फाउंडेशन नाम के एक फेसबुक पेज पर चैपल ने धोनी से जुड़ा वाकया शेयर करते हुए कहा-

”मुझे याद है जब मैंने धोनी को पहली बार बल्लेबाजी करते देखा, तो मैं हैरान रह गया था. उस समय वो भारत में सबसे चमकदार क्रिकेटर था. वह काफी अलग तरह से पोजिशन में आकर गेंद को मारता था. मैंने जितने भी बल्लेबाज देखे हैं, उनमें से वो सबसे ताकतवर नज़र आया.”

चैपल ने आगे श्रीलंका के खिलाफ धोनी की 183 रनों की पारी का ज़िक्र करते हुए कहा-

”मुझे उसकी श्रीलंका के खिलाफ खेली गई 183 रनों की पारी याद है. उनकी ताकतवर बल्लेबाजी उस समय बेहतरीन थी. इसके बाद अगला मैच पुणे में होना था. तब मैंने धोनी से कहा था कि तुम हर गेंद को छक्के के लिए पहुंचाने के बजाए शॉट नीचे रखकर क्यों नहीं खेलते. अगले मैच में हम तकरीबन 260 रनों का टार्गेट चेज़ कर रहे थे. हम अच्छी स्थिति में थे. धोनी ने कुछ दिन पहले जो बल्लेबाजी की थी, वह उससे उलट बल्लेबाजी कर रहे थे.”

Dhoni Greg
प्रेक्टिस के दौरान धोनी और ग्रेग की तस्वीर.

लेकिन टार्गेट तक पहुंचने से पहले चैपल ने एक और बात शेयर की. उन्होंने कहा-

”हमें 20 रन चाहिए थे और धोनी ने 12वें खिलाड़ी आरपी सिंह के जरिए मुझसे छक्का मारने के लिए पूछा. मैंने कहा, तब तक नहीं, जब तक हम टार्गेट के सिंगल डिज़िट में नहीं आ जाते. फिर जब हमें छह रन की जरूरत थी, तो उसने छक्का मारकर मैच खत्म किया.”

उन्होंने ये भी कहा कि धोनी की विकेटकीपिंग की काबिलित बिल्कुल गिलक्रिस्ट जैसी है. दोनों ही अजीब दिखते हैं, लेकिन कीपिंग कमाल करते हैं.

हरभजन सिंह और युवराज का जवाब

लेकिन टीम इंडिया के टर्बनेटर भज्जी को चैपल का इंडियन क्रिकेट या धोनी पर ये कमेंट पसंद नहीं आया. भज्जी ने ट्वीट करते हुए लिखा-

”उन्होंने धोनी को ज़मीन पर शॉट मारने की सलाह इसलिए दी थी, क्योंकि वो खुद सबको मैदान से बाहर भगा रहे थे. वो कोई अलग ही खेल खेल रहे थे.”

भज्जी ने इस ट्वीट के साथ एक हैशटैग भी चलायाॉ, जिसमें उन्होंने लिखा ”ग्रेग के अंडर भारतीय क्रिकेट के सबसे खराब दिन.”

युवराज ने भी किया है ट्वीट:

हरभजन के अलावा युवराज सिंह ने भी चैपल के इस बयान के जवाब में एक ट्वीट किया. युवी ने लिखा-

”एमएसडी (धोनी) और युवी आखिरी 10 ओवरों में कोई छक्का नहीं, सिर्फ ग्राउंड शॉट्स खेलो.”

चैपल के बयान का मज़ाक उड़ाते हुए युवी ने इसके साथ एक हंसने वाला इमोजी भी बनाया.

ग्रेग चैपल के कोच रहने भारतीय टीम में लगातार विवाद बना रहा. सौरव गांगुली से सचिन तेंडुलकर और कई खिलाड़ियों में आपसी खींचतान रही. चैपल के कोच रहते ही भारतीय टीम 2007 विश्वकप में पहले राउंड में हारकर बाहर हो गई थी.


विराट और स्मिथ में से एक को चुनना एबी डीविलियर्स के लिए क्यों मुश्किल है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

रेलवे ने टिकट कटा चुके लोगों को बड़ा झटका दिया है

इसका श्रमिक और स्पेशल ट्रेनों पर क्या असर पड़ेगा?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से पहले दिन वित्त मंत्री ने क्या-क्या ऐलान किया?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की डिटेल दी.

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?

गुजरात: CM बदलने की संभावना पर खबर चलाई, पुलिस ने राजद्रोह का केस लिख लिया

इस मामले में गुजरात सरकार की किरकिरी हो रही है.

किसी को सही-सही पता ही नहीं कि दिल्ली में कोरोना से कितनी मौतें हुईं!

सरकार और नगर निगम के आंकड़े अलग-अलग.

चीन से ठगे जाने के बाद इंडिया ने अपनी टेस्टिंग किट बनाई, कैसे काम करेगी?

किसने बनाई ये टेस्टिंग किट?

कॉन्स्टेबल साब ने दिल्ली में शराब वितरण का लेटेस्ट तरीका निकाला था, नप गए

दिल्ली में शराब की दुकानों पर भीड़ बहुत ज़्यादा है.

12 मई से चलने वाली ट्रेनों के स्टॉपेज, टाइम टेबल और नियम क़ानून की जानकारी यहां देखिए

किस-किस दिन चलेंगी ट्रेनें?