Submit your post

Follow Us

प्लेन और ट्रेन से जाने के लिए टिकट और किराए के नियम सरकार ने बताए हैं

ट्रेन, प्लेन धीरे-धीरे पटरी और हवा में लौट रहे हैं. तमाम गाइडलाइंस के साथ. 25 मई से घरेलू उड़ानें शुरू होने वाली हैं और 1 जून से 200 ट्रेन चलने वाली हैं. टिकट से लेकर सुरक्षा उपायों तक नागरिक उड्डयन मंत्रालय और रेलवे मंत्रालय ने कई गाइडलाइंस जारी की हैं. दोनों की बात करेंगे. पहले प्लेन, फिर ट्रेन.

उड्डयन मंत्रालय ने उड़ानों को लेकर स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) बताया है. इसके अलावा नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किराये और दूसरे निर्देशों के बारे में जानकारी दी. 25 मई से शुरू में एक-तिहाई उड़ानें ही चलेंगी. आगे इन्हें धीरे-धीरे बढ़ाया जाएगा.

किराये पर लोअर और अपर लिमिट

किराया बहुत ज़्यादा न बढ़े और एयरलाइंस कंपनियों पर भी दबाव न बढ़े, इसलिए किराये को लेकर सरकार की तरफ से अगस्त तक टिकट के कुछ दाम तय कर दिए गए हैं. लोअर लिमिट और अपर लिमिट के हिसाब से. देश के सभी हवाई रूट्स को यात्रा के समय के हिसाब से 7 सेक्टर में बांटा गया है. इन सेक्टर के आधार पर किराये का रेंज तय किया गया है.

उदाहरण के लिए- दिल्ली से मुंबई फ्लाइट के लिए न्यूनतम 3500 रुपए और अधिकतम 10 हज़ार रुपए तय किया गया. इसी के तहत कंपनियों को दाम तय करने होंगे. सभी कंपनियों को करीब 40 फीसदी सीटें अधिकतम-न्यूनतम किराये के बीच की कीमत पर देनी होंगी. यानी मोटा-मोटी 6,700 रुपए तक. सरकार ने कहा है कि हालात सामान्य होने पर पुरानी स्थिति पर लौटा जा सकता है.

कौन-कौन से सेक्टर हैं और उनका किराया कितना है?

सात सेक्टर को यात्रा के समय के हिसाब से बांटा गया है. इनके किराये की लिस्ट उड्डयन मंत्रालय ने जारी की है. सात सेक्टर में न्यूनतम 2 हज़ार से लेकर अधिकतम 18,600 रुपए तक का किराया दिया गया है. हर सेक्टर में किराये की लोअर और अपर लिमिट तय की गई है.

सेक्टर और यात्रा का समय

सेक्टर A- 40 मिनट से कम की यात्रा

सेक्टर B- 40 से 60 मिनट की यात्रा

सेक्टर C- 60 से 90 मिनट की यात्रा

सेक्टर D- 90 से 120 मिनट की यात्रा

सेक्टर E- 120 से 150 मिनट की यात्रा

सेक्टर F- 150 से 180 मिनट की यात्रा

सेक्टर G- 180 से 210 मिनट की यात्रा

किराये की लोअर और अपर लिमिट:

सेक्टर A- 2,000 से 6,000 रुपए

सेक्टर B- 2,500 से 7,500 रुपए

सेक्टर C- 3,000 से 9,000 रुपए

सेक्टर D- 3,500 से 10,000 रुपए

सेक्टर E- 4,500 से 13,000 रुपए

सेक्टर F- 5,500 से 15,700 रुपए

सेक्टर G- 6,500 से 18,600 रुपए

मिडिल सीट खाली नहीं

प्लेन में मिडिल सीट खाली नहीं रखी जाएंगी. हरदीप पुरी ने कहा कि अगर ऐसा होता है, फिर भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होता. इससे पहले 20 मई को भी उन्होंने कहा था कि अगर मिडिल सीट खाली रखनी पड़ें तो प्लेन का किराया 33 फीसदी तक बढ़ाना पड़ सकता है.

प्लेन में खाना-अख़बार-मैगज़ीन नहीं

बुजुर्गों, बच्चों, प्रेग्नेंट महिलाओं, स्वास्थ्य समस्याओं को यात्रा न करने की सलाह दी गई है. एयरपोर्ट पर फिजिकल चेक-इन नहीं होगा. वेब चेक-इन किया जाएगा. यात्रियों से सेल्फ डिक्लेरेशन/आरोग्य सेतु स्टेटस लिया जाएगा कि वो COVID-19 से मुक्त है. आरोग्य सेतु पर ‘रेड’ स्टेटस वाले यात्रियों को यात्रा करने की इजाज़त नहीं दी जाएगी.

यात्रियों को फेस मास्क लगाना, सैनिटाइज़र ले जाना ज़रूरी होगा. केबिन क्रू फुल प्रोटेक्टिव सूट में होगा. केवल एक चेक-इन बैग को इजाज़त होगी. प्लेन में खाना नहीं दिया जाएगा. प्लेन में अख़बार-मैगज़ीन नहीं दिए जाएंगे. प्लेन के डिपार्चर से कम से कम दो घंटे पहले यात्रियों को रिपोर्ट करना चाहिए.

इंटरनेशनल फ्लाइट पर फिलहाल फैसला नहीं

हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि घरेलू उड़ान को लेकर मेट्रो टू मेट्रो शहरों में कुछ नियम होंगे. मेट्रो टू नॉन मेट्रो शहरों के अलग नियम होंगे. फिलहाल इंटरनेशनल फ्लाइट पर कोई फैसला नहीं लिया गया है.

कॉमन सर्विस सेंटर से मिलेंगे ट्रेनों के टिकट

वहीं, 21 जून से 200 ट्रेन चलने वाली हैं और गुरुवार, 21 मई सुबह 10 बजे से इन ट्रेनों की बुकिंग भी शुरू हो गई. ढाई घंटे के अंदर करीब चार लाख टिकट बिक गए. बग़ैर बुकिंग के इन ट्रेनों में यात्रा नहीं की जा सकेगी. ट्रेनों का किराया सामान्‍य होगा. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि रेलवे आने वाले दिनों में ट्रेनों की संख्या में बढ़ोतरी करेगी.

रेलवे टिकटों की ऑफलाइन बुकिंग भी शुरू करने जा रहा है. 22 मई (शुक्रवार) से ये सुविधा देश के लगभग 1.7 लाख कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) पर मौजूद होगी. वहां जाकर लोग ट्रेन का टिकट खरीद सकेंगे. रेलवे स्टेशनों के काउंटर पर भी अगले दो-तीन दिनों में बिक्री शुरू होगी. पीयूष गोयल ने बताया कि इसे लेकर प्रोटोकॉल बनाया जा रहा है.

वेटिंग टिकट वाले को इजाज़त नहीं

अग्रिम आरक्षण का समय (ARP) अधिकतम 30 दिन होगा. यानी यात्री इन 200 ट्रेनों के लिए टिकट की बुकिंग यात्रा के दिन से 30 दिन पहले या 30 दिन के भीतर करा सकेंगे. जैसे 30 जून की यात्रा के लिए यात्री 1 जून से 30 जून तक टिकट करवा सकते हैं. RAC और वेटिंग टिकट मौजूदा नियमों के हिसाब से दिए जाएंगे. हालांकि वेटिंग टिकट वाले शख्स को ट्रेन में चढ़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी. यात्रा के दौरान किसी भी यात्री को कोई अनारक्षित (यूटीएस) टिकट जारी नहीं किया जाएगा और न ही कोई दूसरा टिकट जारी किया जाएगा. यानी टिकट चेक करने वाले अधिकारी को यात्रा के दौरान टिकट देने का अधिकार नहीं होगा.

तत्काल-प्रीमियम बुकिंग नहीं

इन ट्रेनों में कोई भी तत्काल और प्रीमियम तत्काल बुकिंग नहीं होगी. पहले चार्ट को ट्रेन के चलने के समय से कम से कम चार घंटे पहले तैयार किया जाएगा और दूसरे चार्ट को निर्धारित डिपार्चर टाइम से कम से कम दो घंटे पहले तैयार किया जाएगा. अभी तक दूसरा चार्ट 30 मिनट पहले तैयार किया जाता था. पहले और दूसरे चार्ट की तैयारी के बीच केवल ऑनलाइन टिकट बुकिंग की अनुमति होगी. यात्रा के लिए फेस कवर-मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, थर्मल स्क्रीनिंग जैसी चीजें होंगी. थर्मल स्क्रीनिंग में सुविधा हो इसके लिए यात्री कम से कम 90 मिनट पहले स्टेशन पहुंचेंगे. बीमार लोगों को यात्रा की अनुमति नहीं होगी.


देश के अंदर हवाई यात्रा कब से शुरू होगी, इसकी तारीख आ गयी है

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

टिकटॉक चुटकियों में इस तरह अपने ऐप की रेटिंग सुधार लेगा, धरी रह जाएगी विरोधियों की मेहनत!

गूगल प्ले स्टोर पर टिकटॉक की रेटिंग 1.2 तक पहुंच गई है.

IPL से पहले साउथ अफ्रीका के साथ T20 सीरीज खेलेगा भारत

इस महीने में खेली जा सकती है ये सीरीज.

छत्तीसगढ़ सरकार की 'राजीव गांधी किसान न्याय योजना' क्या है, जिसमें किसानों को 7,500 रु. मिलेंगे

सीएम भूपेश बघेल के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सोनिया गांधी-राहुल भी जुड़े.

जब वर्ल्ड सीरीज के लिए गावस्कर कप्तान बने, तो उनकी बीवी ने क्यों कहा- मछली और चिप्स आ गई है

जब कार में बैठकर गावस्कर ने चुनी अपनी पहली टीम.

राहत पैकेज पर RBI के केंद्रीय बोर्ड के सदस्य ने जो कहा है, वो वित्त मंत्री को अच्छा नहीं लगेगा!

20 लाख करोड़ के राहत पैकेज पर अपनी बात रखी है.

पीएम-किसान योजना में घोटाला, असम में लाखों फर्जी किसान उठा रहे फायदा

इससे पहले असम सरकार ने दोबारा वेरिफिकेशन के आदेश दिए थे.

BCCI के CEO ने बताया, कब और कैसे शुरू हो सकता है इस साल का IPL?

IPL का इंतजार कर रहे लोगों के लिए खास ख़बर.

लॉकडाउन तोड़ा, गिरफ्तार हुआ तो लोग विरोध में पुलिस पर ही पत्थर फेंकने लगे

इंदौर शहर का मामला, जो मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस का हॉटस्पॉट बना हुआ है.

राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट ने कहा- खुदाई में मिल रहे खंभे, मूर्तियां और शिवलिंग

लॉकडाउन में मिली छूट के बाद राम मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

दाढ़ी देखकर पुलिसवालों ने वकील को पीटा, अधिकारी ने सफाई दी- उन्हें लगा आप मुस्लिम हैं

ASI ने वकील पर केस वापस लेने का भी दबाव बनाया.