Submit your post

Follow Us

पटरी से उतरी ट्रेन का वीडियो बना रहे पत्रकार को यूपी पुलिस ने पीटा, चेहरे पर पेशाब करने का आरोप

3.53 K
शेयर्स

यूपी में एक ज़िला है शामली. यहां 11 जून की देर शाम एक ट्रेन हादसा हुआ. शामली के धीमनपुरा के पास मालगाड़ी ट्रेन डीरेल हो गई. मने पटरी से उतर गई. अब हादसा हुआ तो मौके पर पत्रकार पहुंचेंगे ही. पत्रकार पहुंचे और हादसे की कवरेज करने लग गए. लेकिन तभी एक सफेद शर्ट पहना आदमी भड़क गया और पत्रकार को पीटने लगा. आप पहले पत्रकार की पिटाई का वीडियो देखिए फिर वीडियो की पूरी कहानी बताते हैं.

इस वीडियो में हमने कई जगहों पर बीप कर दिया है. क्योंकि मारपीट के साथ पत्रकार को गंदी-गंदी गाली दी गई. वीडियो में मार खाने वाले पत्रकार का नाम है अमित शर्मा और पीटने वाला है जीआरपी का सिपाही. हमने पत्रकार अमित शर्मा को फोन करके पूरी घटना की जानकारी ली. जिसपर उन्होंने बताया:

हमें 11 जून की रात 8 बजे के करीब मालगाड़ी के हादसे की खबर मिली थी. हम मौके पर रात 8 से साढ़े 8 के बीच पहुंच गए. मौके पर कई और पत्रकार भी पहुंचे. सभी के साथ हम घटना का वीडियो बना रहे थे. तभी सफेद शर्ट पहना जीआरपी का एक पुलिस वाला आया और उसने कैमरे को धक्का देकर गिरा दिया. मैंने जाकर पूछा कि भाई आपने कैमरा क्यों गिराया है. तो वो हमारे साथ गाली गलौच करने लगा. फिर तुरंत वो हाथापाई पर भी उतर आया. मुझे समझ में आ गया कि किस वजह से ऐसा किया जा रहा है. क्योंकि मारने वालों में टी शर्ट पहने जीआरपी थाना प्रभारी राकेश कुमार भी थे. जिन्होंने पुलिसवाले को पीटने के लिए कहा. मेरे साथ मारपीट हो रही थी तभी दूसरे चैनल वालों ने घटना का वीडियो बनाया. वीडियो बना रहे दूसरे मीडिया कर्मियों के साथ भी उन्होंने बदसलूकी की.

पत्रकार के मुताबिक भ्रष्टाचार की खबर दिखाए जाने से नाराज थे थाना प्रभारी राकेश कुमार
पत्रकार के मुताबिक भ्रष्टाचार की खबर दिखाए जाने से नाराज थे थाना प्रभारी राकेश कुमार

हमने जब पूछा कि मारपीट के पीछे वजह क्या थी. कोई यूं ही तो किसी के साथ मारपीट शुरू नहीं कर देगा. किस वजह से पुलिस वाले इतने भड़के हुए थे. हमारे इस सवाल पर पत्रकार अमित शर्मा ने कहा:

वो मारपीट का मौका ढूंढ रहे थे. दरअसल एक महीने पहले हमने उन लोगों की भ्रष्टाचार की खबर दिखाई थी. जिस खबर का काफी इम्पैक्ट हुआ था. खबर चलाए जाने के बाद से ये सभी खार खाए बैठे थे. कल जब हम मौके पर कवरेज करने पहुंचे, तभी जीआरपी थाना प्रभारी राकेश कुमार ने मुझे पहचान लिया, और पिटाई शुरू करवा दी. पिटाई के बाद मुझे कमरे में बंद किया गया वहां मेरे कपड़े फाड़े गए और मेरे ऊपर पेशाब किया गया.

इस घटना के बाद शामली जीआरपी के थाना प्रभारी राकेश कुमार, और जीआरपी पुलिस कॉन्स्टेबल सुनील कुमार को संस्पेंड कर दिया गया है. सफेद शर्ट पहने सुनील कुमार ही थे जिन्होंने राकेश कुमार के कहने पर पत्रकार की पिटाई की थी.


वीडियो देखें:

मेरठ में किन्नरों के बीच ऐसा क्या हुआ कि अपने ही थाने में यूपी पुलिस के पसीने छूट गए –

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

रफाल के अलावा फ्रांस से और क्या-क्या लाने वाले हैं पीएम मोदी?

इस बड़े मुद्दे पर भारत की तगड़ी मदद करने वाला है फ्रांस.

चंद्रमा पर पहुंचने वाला है चंद्रयान-2, कैसे करेगा काम?

चंद्रयान के एक-एक दिन का हिसाब दे दिया है

विंग कमांडर अभिनंदन को पकड़ने वाला पाकिस्तानी सैनिक मारा गया!

पाकिस्तानी आर्मी की तस्वीर में अभिनंदन को पकड़े हुए दिखा था अहमद खान.

नकली दूध बेचा, पुलिस ने आतंकियों वाला NSA लगा दिया

सरकार ने तो पहले ही कह दिया था.

कांग्रेस और सपा छोड़कर भाजपा में आए नेताओं ने मोदी के बारे में क्या कहा?

वो भी कल लखनऊ में...

कश्मीर में बैन के बाद भी किसकी मेहरबानी से गिलानी इस्तेमाल कर रहे थे फोन-इंटरनेट?

बैन के चार दिन बाद तक गिलानी के पास इंटरनेट और फोन था. प्रशासन को इसकी भनक भी नहीं थी.

पीएम मोदी ने छठवीं बार लाल किले पर फहराया तिरंगा, 92 मिनट के भाषण में नया क्या था?

पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाई.

बीफ़-पोर्क के नाम पर ज़ोमैटो कर्मचारियों को भड़काने वाले लोकल भाजपा नेता निकले!

और एक नहीं, कई हैं ऐसे. देखिए तो...

यूपी के एक और अस्पताल में 32 बच्चों की मौत, डॉक्टरों को कारण का पता नहीं

किसी ने कहा था, "अगस्त में तो बच्चे मरते ही हैं"

भगवान राम के इतने वंशज निकल आए हैं कि आप भी माथा पकड़ लेंगे

अभी राम पर खानदानी बहस हो रही है. खुद ही देखिए...