Submit your post

Follow Us

पटरी से उतरी ट्रेन का वीडियो बना रहे पत्रकार को यूपी पुलिस ने पीटा, चेहरे पर पेशाब करने का आरोप

यूपी में एक ज़िला है शामली. यहां 11 जून की देर शाम एक ट्रेन हादसा हुआ. शामली के धीमनपुरा के पास मालगाड़ी ट्रेन डीरेल हो गई. मने पटरी से उतर गई. अब हादसा हुआ तो मौके पर पत्रकार पहुंचेंगे ही. पत्रकार पहुंचे और हादसे की कवरेज करने लग गए. लेकिन तभी एक सफेद शर्ट पहना आदमी भड़क गया और पत्रकार को पीटने लगा. आप पहले पत्रकार की पिटाई का वीडियो देखिए फिर वीडियो की पूरी कहानी बताते हैं.

इस वीडियो में हमने कई जगहों पर बीप कर दिया है. क्योंकि मारपीट के साथ पत्रकार को गंदी-गंदी गाली दी गई. वीडियो में मार खाने वाले पत्रकार का नाम है अमित शर्मा और पीटने वाला है जीआरपी का सिपाही. हमने पत्रकार अमित शर्मा को फोन करके पूरी घटना की जानकारी ली. जिसपर उन्होंने बताया:

हमें 11 जून की रात 8 बजे के करीब मालगाड़ी के हादसे की खबर मिली थी. हम मौके पर रात 8 से साढ़े 8 के बीच पहुंच गए. मौके पर कई और पत्रकार भी पहुंचे. सभी के साथ हम घटना का वीडियो बना रहे थे. तभी सफेद शर्ट पहना जीआरपी का एक पुलिस वाला आया और उसने कैमरे को धक्का देकर गिरा दिया. मैंने जाकर पूछा कि भाई आपने कैमरा क्यों गिराया है. तो वो हमारे साथ गाली गलौच करने लगा. फिर तुरंत वो हाथापाई पर भी उतर आया. मुझे समझ में आ गया कि किस वजह से ऐसा किया जा रहा है. क्योंकि मारने वालों में टी शर्ट पहने जीआरपी थाना प्रभारी राकेश कुमार भी थे. जिन्होंने पुलिसवाले को पीटने के लिए कहा. मेरे साथ मारपीट हो रही थी तभी दूसरे चैनल वालों ने घटना का वीडियो बनाया. वीडियो बना रहे दूसरे मीडिया कर्मियों के साथ भी उन्होंने बदसलूकी की.

पत्रकार के मुताबिक भ्रष्टाचार की खबर दिखाए जाने से नाराज थे थाना प्रभारी राकेश कुमार
पत्रकार के मुताबिक भ्रष्टाचार की खबर दिखाए जाने से नाराज थे थाना प्रभारी राकेश कुमार

हमने जब पूछा कि मारपीट के पीछे वजह क्या थी. कोई यूं ही तो किसी के साथ मारपीट शुरू नहीं कर देगा. किस वजह से पुलिस वाले इतने भड़के हुए थे. हमारे इस सवाल पर पत्रकार अमित शर्मा ने कहा:

वो मारपीट का मौका ढूंढ रहे थे. दरअसल एक महीने पहले हमने उन लोगों की भ्रष्टाचार की खबर दिखाई थी. जिस खबर का काफी इम्पैक्ट हुआ था. खबर चलाए जाने के बाद से ये सभी खार खाए बैठे थे. कल जब हम मौके पर कवरेज करने पहुंचे, तभी जीआरपी थाना प्रभारी राकेश कुमार ने मुझे पहचान लिया, और पिटाई शुरू करवा दी. पिटाई के बाद मुझे कमरे में बंद किया गया वहां मेरे कपड़े फाड़े गए और मेरे ऊपर पेशाब किया गया.

इस घटना के बाद शामली जीआरपी के थाना प्रभारी राकेश कुमार, और जीआरपी पुलिस कॉन्स्टेबल सुनील कुमार को संस्पेंड कर दिया गया है. सफेद शर्ट पहने सुनील कुमार ही थे जिन्होंने राकेश कुमार के कहने पर पत्रकार की पिटाई की थी.


वीडियो देखें:

मेरठ में किन्नरों के बीच ऐसा क्या हुआ कि अपने ही थाने में यूपी पुलिस के पसीने छूट गए –

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना वायरस की वजह से गेंद स्विंग नहीं करा पाएंगे भारतीय गेंदबाज़!

भुवी की बात से तो ऐसा ही लग रहा है.

इरफान पठान ने जो कहर ढाया है, वो देखकर ग्रेग चैपल को मैदान भर में दौड़ाने का मन करेगा!

पठान में अब भी दम बाकी है.

एंटी-CAA प्रोटेस्ट को उकसाने के आरोप में कपल गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- ISIS से लिंक हो सकता है

दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से प्रोटेस्ट चल रहा है.

सबसे ज्यादा रणजी मैच और सबसे ज्यादा रन, इस खिलाड़ी ने 24 साल बाद लिया संन्यास

42 की उम्र तक खेलते रहे, अब बल्ला टांगा.

लखनऊ में CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान 'तोड़फोड़ करने वाले' 57 लोगों के होर्डिंग लगाए

होर्डिंग पर पूर्व IPS एसआर दारापुरी और कांग्रेस कार्यकर्ता सदफ ज़फर जैसे लोगों का नाम.

दिल्ली दंगे के 'हिन्दू पीड़ितों' की मदद के लिए कपिल मिश्रा ने जुटाये 71 लाख, खुद एक पईसा नहीं दिया

अब भी कह रहे हैं, 'आप धर्म को बचाइये, धर्म आपको बचायेगा'

कांग्रेस सांसद का आरोप : अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो संसद में मुझ पर हमला कर दिया गया

कांग्रेस सांसद ने कहा, 'मैं दलित महिला हूं, इसलिए?'

निर्भया केस: चार दोषियों की फांसी से एक दिन पहले कोर्ट ने क्या कहा?

राष्ट्रपति ने पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है.

कश्मीर : हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनवाने वाला IAS अधिकारी कैसे धरा गया?

हर लाइसेंस पर 8-10 लाख रूपए लेता था!

गृहमंत्री अमित शाह की रैली में आई भीड़ ने लगाया देश के गद्दारों को गोली मारो... का नारा!

ये नारा डरावना है, उससे भी डरावना है इसका गृहमंत्री की रैली में लगाया जाना.