Submit your post

Follow Us

पटरी से उतरी ट्रेन का वीडियो बना रहे पत्रकार को यूपी पुलिस ने पीटा, चेहरे पर पेशाब करने का आरोप

1.23 K
शेयर्स

यूपी में एक ज़िला है शामली. यहां 11 जून की देर शाम एक ट्रेन हादसा हुआ. शामली के धीमनपुरा के पास मालगाड़ी ट्रेन डीरेल हो गई. मने पटरी से उतर गई. अब हादसा हुआ तो मौके पर पत्रकार पहुंचेंगे ही. पत्रकार पहुंचे और हादसे की कवरेज करने लग गए. लेकिन तभी एक सफेद शर्ट पहना आदमी भड़क गया और पत्रकार को पीटने लगा. आप पहले पत्रकार की पिटाई का वीडियो देखिए फिर वीडियो की पूरी कहानी बताते हैं.

इस वीडियो में हमने कई जगहों पर बीप कर दिया है. क्योंकि मारपीट के साथ पत्रकार को गंदी-गंदी गाली दी गई. वीडियो में मार खाने वाले पत्रकार का नाम है अमित शर्मा और पीटने वाला है जीआरपी का सिपाही. हमने पत्रकार अमित शर्मा को फोन करके पूरी घटना की जानकारी ली. जिसपर उन्होंने बताया:

हमें 11 जून की रात 8 बजे के करीब मालगाड़ी के हादसे की खबर मिली थी. हम मौके पर रात 8 से साढ़े 8 के बीच पहुंच गए. मौके पर कई और पत्रकार भी पहुंचे. सभी के साथ हम घटना का वीडियो बना रहे थे. तभी सफेद शर्ट पहना जीआरपी का एक पुलिस वाला आया और उसने कैमरे को धक्का देकर गिरा दिया. मैंने जाकर पूछा कि भाई आपने कैमरा क्यों गिराया है. तो वो हमारे साथ गाली गलौच करने लगा. फिर तुरंत वो हाथापाई पर भी उतर आया. मुझे समझ में आ गया कि किस वजह से ऐसा किया जा रहा है. क्योंकि मारने वालों में टी शर्ट पहने जीआरपी थाना प्रभारी राकेश कुमार भी थे. जिन्होंने पुलिसवाले को पीटने के लिए कहा. मेरे साथ मारपीट हो रही थी तभी दूसरे चैनल वालों ने घटना का वीडियो बनाया. वीडियो बना रहे दूसरे मीडिया कर्मियों के साथ भी उन्होंने बदसलूकी की.

पत्रकार के मुताबिक भ्रष्टाचार की खबर दिखाए जाने से नाराज थे थाना प्रभारी राकेश कुमार
पत्रकार के मुताबिक भ्रष्टाचार की खबर दिखाए जाने से नाराज थे थाना प्रभारी राकेश कुमार

हमने जब पूछा कि मारपीट के पीछे वजह क्या थी. कोई यूं ही तो किसी के साथ मारपीट शुरू नहीं कर देगा. किस वजह से पुलिस वाले इतने भड़के हुए थे. हमारे इस सवाल पर पत्रकार अमित शर्मा ने कहा:

वो मारपीट का मौका ढूंढ रहे थे. दरअसल एक महीने पहले हमने उन लोगों की भ्रष्टाचार की खबर दिखाई थी. जिस खबर का काफी इम्पैक्ट हुआ था. खबर चलाए जाने के बाद से ये सभी खार खाए बैठे थे. कल जब हम मौके पर कवरेज करने पहुंचे, तभी जीआरपी थाना प्रभारी राकेश कुमार ने मुझे पहचान लिया, और पिटाई शुरू करवा दी. पिटाई के बाद मुझे कमरे में बंद किया गया वहां मेरे कपड़े फाड़े गए और मेरे ऊपर पेशाब किया गया.

इस घटना के बाद शामली जीआरपी के थाना प्रभारी राकेश कुमार, और जीआरपी पुलिस कॉन्स्टेबल सुनील कुमार को संस्पेंड कर दिया गया है. सफेद शर्ट पहने सुनील कुमार ही थे जिन्होंने राकेश कुमार के कहने पर पत्रकार की पिटाई की थी.


वीडियो देखें:

मेरठ में किन्नरों के बीच ऐसा क्या हुआ कि अपने ही थाने में यूपी पुलिस के पसीने छूट गए –

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
GRP personnel thrash a Journalist in Shamli and urinate in his mouth while covering a train accident.

टॉप खबर

राजीव गांधी के हत्यारे ने संजय दत्त की मुश्किलें बढ़ा दी हैं

जेल में बंद पेरारिवलन ने संजय दत्त से जुड़ी बहुत सी जानकारी इकट्ठी की है.

कठुआ केस के छह दोषियों को क्या सज़ा मिली?

अदालत ने सात में से छह आरोपियों को दोषी माना था. मास्टरमाइंड सांजी राम का बेटा विशाल बरी हो गया.

कठुआ केस में फैसला आ गया है, एक बरी, छह दोषी करार

दोषियों में तीन पुलिसवाले भी शामिल हैं.

पांच साल की बच्ची से रेप किया और फिर ईंटों से कूंचकर मार डाला

उज्जैन में अलीगढ़ जैसा कांड, पड़ोसी ही निकला हत्यारा...

अफगानिस्तान किन गलतियों से श्रीलंका से जीता-जिताया मैच हार गया?

मलिंगा का तो जोड़ नहीं.

क्या चुनावी नतीजे आने के 10 दिनों के अंदर यूपी में 28 यादवों की हत्या हुई है?

28 नामों की एक लिस्ट वायरल हो रही है. लेकिन सच क्या है?

मायावती ने ऐसा क्या कह दिया कि फिलहाल गठबंधन को टूटा मान लेना चाहिए

प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने गठबंधन तोड़ने का सीधा ऐलान तो नहीं किया, लेकिन बहुत कुछ कह गयीं.

चुनाव नतीजे आए दस दिन हुए नहीं, मायावती ने गठबंधन पर सवाल उठा दिए

वो भी तब जब मायावती के पास जीरो से बढ़कर दस सांसद हो गए हैं

अरविंद केजरीवाल ने चुनाव में बंपर वोट खींचने वाला ऐलान कर दिया है

वो ऐसी स्कीम लेकर आए हैं कि दिल्ली-NCR की महिलाएं खुश हो गईं.

आखिर क्या सोचकर मोदी ने UP के इन नेताओं को कैबिनेट में जगह दी है?

इनमें कुछ से पिछली सरकार के दौरान बीच में ही मंत्रालय छीन लिया गया था.