Submit your post

Follow Us

राजीव गांधी फाउंडेशन की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं? सरकार ने अब ये कदम उठाया है

गांधी परिवार से जुड़े तीन ट्रस्टों में पैसे के लेन-देन में कथित गड़बड़ी की जांच होगी. गृह मंत्रालय ने राजीव गांधी फाउंडेशन (RGF) सहित नेहरू-गांधी परिवार से जुड़े ट्रस्टों द्वारा मनी लॉन्ड्रिंग और विदेशी योगदान जैसे मामलों में कानून के कथित उल्लंघन की जांच में समन्वय के लिए एक अंतर-मंत्रालयी समिति बनाई है. प्रवर्तन निदेशालय के विशेष निदेशक की अध्यक्षता वाली समिति, राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट और इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा कानूनों के कथित उल्लंघन की भी जांच करेगी.

बीजेपी अध्यक्ष ने उठाया था सवाल

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की खबर के मुताबिक, यह कदम 300,000 डॉलर (भारतीय करंसी में आज के हिसाब से करीब दो करोड़, 25 लाख रुपए) के कथित रूप से किए गए दान पर बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा सवाल करने के बाद उठाया गया है. बीजेपी का आरोप है कि राजीव गांधी फाउंडेशन को यह पैसा चीन और चीनी दूतावास से 2005-06 में उन अध्ययनों के लिए मिला था, जो राष्ट्रीय हित में नहीं थे. कांग्रेस पार्टी और गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए नड्डा ने आरोप लगाया था कि यूपीए के शासनकाल के दौरान प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से धनराशि “परिवार द्वारा संचालित” राजीव गांधी फाउंडेशन को दी गई.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी इस मुद्दे को उठाया था. कहा था कि 2005-06 में आरजीएफ की वार्षिक रिपोर्ट में दान देने वालों की लिस्ट साफ तौर पर दिखाती है कि इसे चीन के दूतावास से दान मिला था. उन्होंने कहा था कि हम जानना चाहते हैं कि यह दान क्यों लिया गया? 2005-06 की आरजीएफ की वार्षिक रिपोर्ट में पार्टनर ऑर्गनाइजेशन और और डोनर्स में से एक चीन के दूतावास का उल्लेख किया गया है.

इस मामले को लेकर बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस पार्टी से 10 सवाल पूछे थे. क्या थे वो 10 सवाल?

1. चीन ने 2005-2009 के बीच हर साल राजीव गांधी फाउंडेशन को दान किया. टैक्स हैवेन लक्जमबर्ग ने भी 2006-09 के बीच हर साल दान किया. एनजीओ और कंपनियां, जिनके व्यवसायिक हित थे, उन्होंने भी दान किया. राजीव गांधी फाउंडेशन ने चीन और चीनी दूतावास से पैसे क्यों लिए.

2. RCEP (The Regional Comprehensive Economic Partnership) का हिस्सा बनने की क्या जरूरत थी? चीन के साथ भारत का व्यापार घाटा 2003-04 में 1.1 बिलियन अमेरिकी डॉलर से बढ़कर 2013-14 में 36.2 बिलियन अमेरिकी डॉलर कैसे हो गया? कांग्रेस ने भारत की आर्थिक स्थिति को कमजोर क्यों किया? क्या यह राजीव गांधी फाउंडेशन द्वारा चीनी धन स्वीकार करने के लिए समर्थक था?

3. कांग्रेस पार्टी और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के बीच क्या संबंध है? दोनों के बीच में क्या MoU साइन हुआ था?

4. राजीव गांधी फाउंडेशन ने चीन के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काम किया है. चीनी कमीशन की आवाज को भारत में कैसे मजबूत किया गया? सोनिया गांधी को जवाब देना चाहिए कि राजीव गांधी फाउंडेशन की मदद से भारत में चीनी एजेंसी का कितना प्रभाव और घुसपैठ हुई?

5प्रधानमंत्री राहत कोष से 2005-08 तक राजीव गांधी फाउंडेशन को हर साल पैसा क्यों दिया गया? यूपीए सरकार ने MHA, MHRD, Ministry of Health और SAIL, SBI, GAIL, ONGC को हर साल दान देने पर मजबूर क्यों किया? सोनिया गांधी को मेहनत से कमाए गए लोगों के पैसे व्यक्तिगत ट्रस्ट में इस्तेमाल करने पर शर्म क्यों नहीं आई?

6. राजीव गांधी फाउंडेशन ने सभी प्रमुख भारतीय कॉरपोरेट्स से भारी दान लिया. सोनिया गांधी को जवाब देना चाहिए कि इस तरह के लोगों को कई तरह की डील क्यों दी गई?

7. कांग्रेस नेता की कंपनी क्यों प्रधानमंत्री राहत कोष (PMNRF) का ऑडिट कर रही थी? ठाकुर वैद्यनाथन एंड अय्यर कंपनी राजीव गांधी फाउंडेशन की ऑडिटर थी. रामेश्वर ठाकुर इसके फाउंडर थे. वह राज्यसभा के सांसद थे और चार राज्यों के राज्यपाल भी रहे. कई दशकों तक उसके ऑडिटर रहे. ऐसा क्‍यों? देश जानना चाहता है कि ऐसे लोगों ऑडिटर बनाकर सरकार क्या करना चाह रही थी?

8. मनमोहन सिंह ने वित्तमंत्री रहते 1991 के बजट में फाउंडेशन को 100 करोड़ रुपये दिए थे. जिस बेशकीमती जमीन पर जवाहर भवन बना है, वह भूमि राजीव गांधी फाउंडेशन को स्थायी पट्टे पर क्यों दी गई? इतनी महंगी जमीन फाउंडेशन को देने का निर्णय किस आधार पर किया गया? भारत सरकार के मंत्रालयों से दान लेने के बाद भी ने कैग से ऑडिट की बात क्यों टाल दी? यह RTI के दायरे में क्यों नहीं है?

9. राजीव गांधी फाउंडेशन यानी आरजीएफ ने न केवल जगह-जगह से पैसा लिया, बल्कि गांधी परिवार द्वारा नियंत्रित राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट को भी चंदा दिया. राजीव गांधी फाउंडेशन ने राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट को दान कैसे दिया गया, जो एक परिवार द्वारा नियंत्रित है? इसके अलावा वर्ल्ड विजन जैसे मिशनरी संस्थान का हाथ रहा है.

10. कुछ समय पहले राहुल गांधी मेहुल चोकसी को लेकर गला फाड़ते दिखे. सरकार से सवाल पूछने में सारी मर्यादाएं भूल गए, लेकिन मेहुल चौकसी से राजीव गांधी फाउंडेशन में पैसा क्यों लिया गया? मेहुल चौकसी को लोन देने में मदद क्यों की गई?


कोलकाता के एक जूलरी हाउस को ED ने 7,220 करोड़ रुपये का नोटिस क्यों जारी किया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.

क्या गलवान में पीछे हटकर चीन 1962 वाली चाल दोहरा रहा है?

58 साल पहले भी ऐसा ही हुआ था. पहले चीन गलवान में पीछे हटा और कुछ दिन बाद भारत पर हमला कर दिया.

सरकार ने वो आदेश दिया है कि कंपनियां मास्क और सैनिटाइज़र के दाम में मनचाहा बदलाव कर सकती हैं

राज्यों ने शिकायत नहीं की, तो सरकार ने आदेश निकाल दिया

बुरी खबर! 'मेरे जीवनसाथी', 'काला सोना' जैसी फ़िल्में बनाने वाले प्रड्यूसर हरीश शाह नहीं रहे

कैंसर से जारी जंग आखिरकार हार गए.

दिल्ली की जेल में सजा काट रहे सिख दंगे के दोषी नेता की कोरोना से मौत हो गई

विधायक रह चुके इस नेता की कोरोना रिपोर्ट 26 जून को पॉज़िटिव आई थी.

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?

भारत-चीन के तनाव के बीच पीएम मोदी ने लद्दाख़ पहुंचकर किससे बात की?

पहले राजनाथ सिंह जाने वाले थे, नहीं गए.

मलेरिया वाली जिस दवा को कोरोना में जान बचाने के लिए इस्तेमाल कर रहे, वो उल्टा काम कर रही है?

हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्विन पर चौंकाने वाली रिसर्च!