Submit your post

Follow Us

लॉकडाउन में लोगों की अलग-अलग वजहों से नौकरी गई, पर ऐसे? ज़ूम मीटिंग से!

हादसा. जब होता है, तो कई हादसे और पैदा होते हैं. प्याज़ की तरह ही हादसों की अपनी परतें होती हैं. एक हादसे के नीचे दूसरा हादसा. फ़िलहाल दुनिया एक महामारी के हादसे से गुज़र रही है. इस हादसे ने भी कई हादसे उपजाए हैं. जैसे लोगों की नौकरियां चली गईं. अच्छी-भली रुटीन ज़िंदगी ‘हिंदुस्तानी भाऊ’ का ट्विटर अकाउंट बन गई. दुनिया को गरियाने का उद्यम.

फिलीपींस के एक अधिकारी को परतों वाले हादसे के प्याज़ ने ऐसा रुलाया कि जीवन अब से ‘दुःख दोप्याज़ा’ हो गया. कैसे? बताएंगे. लेकिन पहले एक हादसे की परत वाला हादसा और सुनिए.

तारीख़ थी 11 सितंबर. नाइन इलेवन. साल 2001. अमेरिका के जुड़वा टावर धूल, धुंए और आग बनकर ध्वस्त हो रहे थे. दुनिया हैरान परेशान थी. हज़ारों लोग जो उन जुड़वा बिल्डिंगों में काम करते थे, उनसे जुड़े लोग परेशान हो रहे थे. टीवी कैमरों ने आग से बचने के लिए लोगों को हज़ारों फुट ऊपर से कूद जाने का वीभत्स दृश्य भी दिखाया. ऐसे में एक पत्नी लगातार अपने पति को फोन लगा रही थी. फोन उठ नहीं रहा था. उस दिन फोन न उठने का मतलब था, मौत. पत्नी परेशान होकर बार-बार फोन ट्राय करते हुए अपनी गाड़ी की ओर भागी. इग्निशन में चाभी लगाई ही थी कि वर्ल्ड ट्रेड सेंटर में काम करने वाले उसके पति ने फोन उठा लिया. पत्नी ने पूछा ‘कैसे हो?’ पति ने पानी की तरह सरल और पहाड़ की तरह शांत जवाब दिया. ‘ठीक हूं, बस काम में लगा हुआ हूं.’

पत्नी के दिमाग़ की घंटी बजी. जिस बिल्डिंग में लोग आग से बचने के लिए छलांग लगा दे रहे हैं और नीचे आकर रंग भरे गुब्बारे की तरह फट जा रहे हैं, उस बिल्डिंग से बात करते हुए पति इतना शांत? और वो भी काम में लगा हुआ?

पत्नी को पहले से शक था. अब यकीन हो गया कि पति और चाहे जहां हो, दफ़्तर में तो नहीं है. और ये बात भी पक्की थी कि अब तक उसने ना तो फोन उठाया किसी का, ना ही टीवी देखी. वरना उसे पता होता कि उसका दफ़्तर तो राख हुआ जा रहा है…आगे क्या हुआ होगा? हादसा. हादसे से उपजा हुआ एक और हादसा. होने को तो ये किस्सा है, लेकिन अद्भुत है.

# अब आगे बढ़ते हैं

इसी किस्म का एक हादसा फिलीपींस में घटा. एक वीडियो इंटरनेट पर लोगों का डिजिटल दरवाज़ा खटखटाने लगा. देखा गया.

वीडियो में एक आदमी एक औरत के साथ नैसर्गिक क्रिया में विलीन था. ऐसे अनगिनत वीडियो इंटरनेट पर हैं, लेकिन ये वीडियो ख़ास इसलिए था, क्योंकि एक चलती मीटिंग के बीच का था. मीटिंग चल रही थी ज़ूम पर. जैसे आजकल हम सबकी चलती है. एक सरकारी अधिकारी ने ‘अपना कैमरा बंद समझकर’ सेक्रेटरी के साथ ‘निजी पल’ बिताने शुरू कर दिए. बावजूद इसके कि वो अपने सरकारी दफ़्तर में था. मीटिंग में बाक़ी लोग हैरान तो थे, लेकिन मीटिंग जारी रही. एक मेंबर ने मीटिंग रिकॉर्ड कर डाली. और फिर वीडियो का अंतिम संस्कार करते हुए वायरल भी कर दिया.

जिस अधिकारी का वीडियो है, उसका नाम है जीसस एस्टिल. कैप्टन जीसस एस्टिल का ये कारनामा लोगों के सामने आया, तो ताबड़तोड़ उन्हें सस्पेंड कर दिया गया. काउंसिल की रेगुलर मीटिंग में मौजूद कैप्टन एस्टिल ‘नॉन टेक-सेवी’ के तौर पर जाने जाते थे. काली स्क्रीन भैंस बराबर. मीटिंग में उन्होंने कैमरा बंद करने की कोशिश की. जब लगा कि कैमरा बंद है, तब ये सब किया. अब अधिकारियों ने जांच करके कार्रवाई करने की बात कही है.

# नई बहस

लेकिन जनता के बीच बहस पैदा हो गई. कई लोग ये कहते पाए गए कि तकनीक न जानने का मतलब ये तो नहीं कि शख्स को काम से हाथ धोना पड़े. कई लोगों ने कैप्टन जीसस के पुराने काम और सोसायटी के लिए किया गया संघर्ष याद दिलाया और उन्हें ‘दूसरा मौका’ दिए जाने की वकालत की. फिलीपींस मीडिया में प्राइम टाइम पर एंकर लोग पैनल बैठाकर शो करने लगे. प्राइम टाइम में सवाल उठने लगे कि मीटिंग के बाक़ी लोग इतने शांत क्यों रहे? क्यों उन्हें नहीं चेताया कि भाई ये सब मत करो. और जिस शख्स ने मीटिंग रिकॉर्ड की, उस पर क्या कार्रवाई की जाएगी?

फ़िलहाल बहसें अपनी जगह तैनात हैं. तर्कों के गोला-बारूद के साथ. जिस अधिकारी का वीडियो वायरल हुआ, वो और उसकी सेक्रेटरी अब तक दफ़्तर के सामने नहीं आए हैं. उन पर क़ानूनी कार्रवाई करने की बात चल रही है.


ये वीडियो भी देखें:

इस टैबलेट पर लिख-पढ़ के आपके नाती-पोते शायद कभी काग़ज़ पर ना लिख पाएंगे!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?