Submit your post

Follow Us

रेलवे स्टेशन जाकर फ्री वाई-फाई ढूंढते हैं तो ये खबर आपके लिये है

ये खबर रेलवे स्टेशनों पर फ्री इंटरनेट की मौज उड़ाने वालों के लिए है. गूगल ने रेलवे स्टेशनों पर मिलने वाली फ्री वाई फाई सर्विस को बंद करने का फैसला किया है. गूगल ने ये सर्विस 2015 में शुरू की थी. सबसे पहले मुंबई सेंट्रल स्टेशन में. नाम रखा गया ‘स्टेशन’. बाद में इसे दुनिया के बाकी देशों में भी लागू किया गया. हालांकि, अच्छी बात ये है कि रेलवे स्टेशनों पर फ्री में वाई फाई मिलता रहेगा. सरकारी कंपनी रेलटेल अब यह जिम्मेदारी उठाएगी.

गूगल की ओर से कहा गया,

“हमने 2015 में भारत में ‘स्टेशन’ शुरू किया था. इसके तहत गूगल, भारतीय रेलवे और रेलटेल में पार्टनरशिप हुई. और साल 2020 के मध्य तक भारत के 400 सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशनों पर फ्री पब्लिक वाई फाई पहुंचाने की योजना थी. लेकिन यह लक्ष्य हमने जून 2018 में ही हासिल कर लिया. इसके बाद देश के हजारों दूसरे स्टेशनों पर भी फ्री वाई फाई दिया. बाद में दूसरे देशों से भी इस तरह की मांग आई. अब हमने धीरे-धीरे स्टेशन प्रोग्राम को बंद करने का फैसला किया है.”

क्यों बंद कर रहे हैं सर्विस-

“भारत उन देशों में शामिल हैं जहां पर जीबी के हिसाब से सबसे सस्ता मोबाइल डेटा है. ट्राई की 2019 की रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले पांच साल में मोबाइल डेटा की कीमतें 95 फीसदी तक कम हो गई हैं. आज भारत में औसतन एक मोबाइल यूजर हर महीने 10 जीबी डेटा यूज करता है. भारत सरकार के साथ ही राज्य सरकारें भी ऐसे कदम उठा रही हैं जिससे सस्ता डेटा मिले.”

भारत के बाद गूगल ने ब्राजील, साउथ अफ्रीका, नाइजीरिया, थाईलैंड, मेक्सिको, इंडोनेशिया, वियतनाम और फिलिपींस में भी ‘स्टेशन’ को लागू किया.

गूगल ने 2015 में 'स्टेशन' सर्विस शुरू की थी.
गूगल ने 2015 में ‘स्टेशन’ सर्विस शुरू की थी.

रेलटेल ने यह कहा-

गूगल के साथ साझेदारी में उन्होंने तकनीकी मदद की. हमने इंफ्रास्ट्रक्चर और इंटरनेट बैंडविड्थ मुहैया कराई. आने वाले समय में 415 बड़े स्टेशनों के साथ ही हम 5190 से ज्यादा छोटे स्टेशनों पर भी फ्री वाईफाई देंगे.

गूगल की ओर से जारी लेटेस्ट डेटा में बताया कि 2018 में करीब 80 लाख लोग हर महीने गूगल स्टेशन इस्तेमाल करते थे. इसमें बताया गया कि दूसरे दर्जे के शहरों में फ्री वाई फाई ज्यादा इस्तेमाल होता है.


Video: इंटरनेट बंद और नेटवर्क जाम होने के बावजूद फायरचैट ऐप से चैट और कॉल कैसे होता है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.

क्या गलवान में पीछे हटकर चीन 1962 वाली चाल दोहरा रहा है?

58 साल पहले भी ऐसा ही हुआ था. पहले चीन गलवान में पीछे हटा और कुछ दिन बाद भारत पर हमला कर दिया.

सरकार ने वो आदेश दिया है कि कंपनियां मास्क और सैनिटाइज़र के दाम में मनचाहा बदलाव कर सकती हैं

राज्यों ने शिकायत नहीं की, तो सरकार ने आदेश निकाल दिया

बुरी खबर! 'मेरे जीवनसाथी', 'काला सोना' जैसी फ़िल्में बनाने वाले प्रड्यूसर हरीश शाह नहीं रहे

कैंसर से जारी जंग आखिरकार हार गए.

दिल्ली की जेल में सजा काट रहे सिख दंगे के दोषी नेता की कोरोना से मौत हो गई

विधायक रह चुके इस नेता की कोरोना रिपोर्ट 26 जून को पॉज़िटिव आई थी.

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?

भारत-चीन के तनाव के बीच पीएम मोदी ने लद्दाख़ पहुंचकर किससे बात की?

पहले राजनाथ सिंह जाने वाले थे, नहीं गए.

मलेरिया वाली जिस दवा को कोरोना में जान बचाने के लिए इस्तेमाल कर रहे, वो उल्टा काम कर रही है?

हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्विन पर चौंकाने वाली रिसर्च!