Submit your post

Follow Us

क्या टिकटॉक के लाखों रिव्यू गूगल ने डिलीट किए, तो इसकी रेटिंग सुधरने लगी?

टिकटॉक और यूट्यूब की लड़ाई जारी है. सभी के अपने-अपने तर्क हैं और उन तर्कों को वे लोग सोशल मीडिया साइट पर उड़ेल रहे हैं. टिकटॉक के कॉन्टेंट पर सवाल उठे हैं. शुरू से ही. हाल ही में इस ऐप पर रेप और एसिड फेंकने जैसे वीडियो को बढ़ावा देने के आरोप लगे हैं. लेकिन यहां हम कैरी मिनाटी और आमिर सिद्दीकी के बवाल को लेकर बात नहीं करेंगे. हम बात करेंगे प्ले स्टोर पर टिकटॉक ऐप की रेटिंग को लेकर.

टिकटॉक और प्ले स्टोर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, 16 मई को गूगल प्ले स्टोर पर टिकटॉक की रेटिंग 4.6 थी, जो 21 मई को 1.2 पर पहुंच गई. 22 मई को इसकी रेटिंग थोड़ी बढ़कर 1.6 पर पहुंच गई.

16 मई तक करीब 2.1 करोड़ लोगों ने रेटिंग दी थी. 21 मई तक कुल 2.8 करोड़ों ने रेट किया. इसके एक दिन के बाद कुल 2.7 करोड़ रेटिंग दिखी. यही है पेच कि जब 2.8 करोड़ लोगों ने रेट किया था, तो फिर 2.7 करोड़ कैसे हो गया? लोग घट कैसे गए? एक दिन में 10 लाख लोगों की रेटिंग कहां गई?

एपल ऐप स्टोर पर अभी भी टिकटॉक की रेटिंग 4.7 है, जिसे काफी बेहतर माना जाता है.

सबसे पहले जान लेते हैं कि ये रेटिंग क्या होता है और कैसे काम करता है.

किसी भी ऐप को अधिकतम 5 रेट किया जा सकता है. जिस ऐप की रेटिंग जितनी ज्यादा होती है, उस ऐप को उतना अच्छा माना जाता है. लोग ऐप को इस्तेमाल करने के बाद उसे रेट करते हैं कि उन्हें वह ऐप कितना अच्छा या बुरा लगा. सबसे कम आप 1 रेट कर सकते हैं. 1 रेट करने का मतलब ये है कि आपको वह ऐप बहुत ही घटिया, वाहियात लगा है.

गूगल का कहना है कि प्ले स्टोर पर ऐप की रेटिंग यूजर द्वारा दिए गए मौजूदा क्वालिटी रेटिंग के आधार पर दी जाती है. जब तक ऐप को मिली रेटिंग की संख्या बहुत कम न हो, तब तक यूजर के रिव्यू के शुरू से अभी तक के कुल औसत वैल्यू को आधार नहीं बनाया जाता है. गूगल की पॉलिसी कहती है कि इस तरह के ऐप में लगातार बदलाव होते रहते हैं. चीजें जोड़ी और घटाई जाती है. फीचर बदलते रहते हैं. ऐसे में वो शुरुआत से अब तक के सभी रिव्यू को दिखाते हैं, क्योंकि यह यूजर को ऐप के इस्तेमाल और उसके बारे में ख़ास जानकारी देते हैं.

प्ले स्टोर पर किताबें, फ़िल्में और टीवी शो की रेटिंग अब तक के यूजर के रिव्यू की औसत वैल्यू होती है.

रेटिंग हटाने को लेकर गूगल की पॉलिसी?

अगर कोई गलत रिव्यू पोस्ट करे, एक से ज्यादा अकाउंट से रिव्यू पोस्ट करे, रेटिंग में हेर-फेर करने के लिए कुछ पोस्ट करे, तो गूगल उसे हटा सकता है.

यूजर्स को गुमराह करने के लिए, सब्जेक्ट से हटकर अगर कोई कुछ पोस्ट करे, किसी कंपनी या बिजनस का प्रचार, किसी वेबसाइट का लिंक, किसी की ईमेल आईडी या मोबाइल नंबर भी अगर कोई पोस्ट करता है, तो उसे हटाया जा सकता है. कोई भी प्राइवेट जानकारी, अश्लील कॉन्टेंट, कुछ भी गैर कानूनी आदि गूगल हटा सकता है. इस बारे में और विस्तार से पढ़ना चाहते हैं, तो यहां क्लिक कर पढ़ सकते हैं.

तो रेटिंग 1.2 से 1.6 कैसे हुई?

गूगल प्ले स्टोर पर लोगों ने टिकटॉक ऐप को रेट किया. पिछले एक हफ्ते में तो बहुत ही ज्यादा लोगों ने. इसमें से अधिकतर लोगों ने कम से कम रेट किया. इसके कारण टिकटॉक की रेटिंग 4.6 से 1.2 पर पहुंच गई. हफ्ते भर में रेटिंग में इतनी गिरावट होने पर हो सकता है कि गूगल जागा हो और रिव्यू और रेटिंग को फिल्टर किया हो. उन्हें हटाया हो, जो उनकी पॉलिसी पर खरा नहीं उतरते.

या फिर जिन लोगों ने पहले कम रेट किया हो, उन्होंने बाद में ज्यादा रेट कर दिया हो. या फिर अपनी रिव्यू रेटिंग हटा ली हो. इन दोनों के अलावा कोई और तीसरा कारण संभव नहीं दिखता.

जाते-जाते जान लीजिए टिकटॉक है क्या?

सभी को पता ही होगा फिर भी. सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे प्लेटफॉर्म हैं, जहां लोग बिना नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा गए एक्टिंग कर सकते हैं. बिना म्यूजिक स्कूल जॉइन किए सिंगर बन सकते हैं. बिना किसी खास एफर्ट के डबिंग आर्टिस्ट बन सकते हैं. ऐसे ही कई प्लेटफॉर्म में से एक है टिकटॉक. इस ऐप को इस्तेमाल करने वाले लोगों की एक बड़ी आबादी गांवों और टियर 2, 3 शहरों से है. टिकटॉक ऐप के जरिए 60 सेकंड तक के वीडियो बनाकर शेयर किए जा सकते हैं. भारत में इसके एक्टिव यूजर करोड़ों में हैं.


विडियो- कैरी मिनाटी और आमिर सिद्दीकी के बवाल के बाद Youtube Vs TikTok का क्या खेल है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

केंद्र से अक्सर लड़ने वाली ममता बनर्जी की पीएम मोदी ने किस बात पर तारीफ की?

पश्चिम बंगाल दौरे पर पीएम मोदी ने 'अमपन' को लेकर एक हज़ार करोड़ रुपए की मदद का ऐलान किया.

रिज़र्व बैंक ने एक बार फिर रेपो रेट घटाया, EMI से तीन महीने और छुटकारा

मार्च और अप्रैल महीने में रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट घटाया था.

प्लेन और ट्रेन से जाने के लिए टिकट और किराए के नियम सरकार ने बताए हैं

जानिए, रेलवे के ऑफलाइन टिकट कहां से मिल सकते हैं.

क्या गुजरात में खराब वेंटीलेटर की वजह से 300 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गई?

कांग्रेस ने विजय रूपाणी सरकार पर वेंटीलेटर घोटाले का आरोप लगाया है.

अब इस तारीख से देश के अंदर फ्लाइट्स से यात्रा कर सकेंगे

इससे पहले 200 नॉन एसी ट्रेन चलने की सूचना दी गई थी.

'अम्फान' आ चुका है, पश्चिम बंगाल में दो की मौत, कई घरों को नुकसान

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में अपना असर दिखा रहा है.

प्रियंका गांधी ने जो गाड़ियां यूपी भेजी हैं, उनमें कितनी बसें हैं, कितने ऑटो?

छह सूचियों में कुल 1049 गाड़ियों की डिटेल्स भेजी गई है.

देशभर में 200 और ट्रेनें चलने की तारीख़ आ गई है

इस बार ख़ुद रेल मंत्री ने बताया है.

लॉकडाउन 4: दफ़्तरों के लिए क्या गाइडलाइंस हैं?

इस लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी गई हैं.

प्रियंका गांधी वाड्रा की 1000 बसों में कुछ नंबर ऑटो और कार के कैसे निकल गए?

हालांकि संबित पात्रा ने भी जिस बस को स्कूटर बताया, वहां एक पेच है.