Submit your post

Follow Us

गोवा के द्वीप पर नौसेना के तिरंगा फहराने को लेकर हुआ विवाद जो अब सुलझ गया है

जैसिंटो आईलैंड (Jacinto Island). साउथ गोवा का एक छोटा सा आईलैंड है. इस द्वीप पर नौसेना तिरंगा फहराने वाली थी, लेकिन यहां रहने वाले स्थानीय लोगों ने इसका विरोध किया, जिसके बाद नेवी ने अपना प्लान कैंसिल कर दिया. इसके बाद गोवा के सीएम प्रमोद सावंत का बयान आया. उन्होंने कहा कि भारत विरोधी गतिविधियों से सख्ती से निपटा जाएगा. तमाम गहमागहमी के बाद आखिरकार नौसेना ने द्वीप पर तिरंगा लहराया. लेकिन आखिर ये पूरा विवाद क्यों शुरू हुआ. और खत्म कैसे हुआ.

मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने ट्विटर पर एक तस्वीर शेयर की. तस्वीर में दिख रहे हैं नेवी के अधिकारी और जैसिंटो आईलैंड के निवासी जो पहले नेवी द्वारा झंडा फहराने का विरोध कर रहे थे. सीएम सावंत ने लिखा-

सेंट जैसिंटो द्वीप के स्थानीय लोगों को भारतीय नौसेना के साथ भारतीय ध्वज फहराने में शामिल होते हुए देखकर मुझे खुशी हो रही है. जयहिन्द. राष्ट्र प्रथम.

ये तस्वीर बताती है कि विवाद खत्म हो चुका है, लेकिन आखिर जैसिंटो आईलैंड के लोगों ने नेवी के झंडारोहण को लेकर विरोध क्यों किया था?

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट कहती है कि शुक्रवार यानी 13 अगस्त को भारतीय नौसेना ने दक्षिण गोवा के साओ जैसिंटो द्वीप पर भारतीय ध्वज फहराने के अपने कार्यक्रम को रद्द कर दिया स्थानीय लोगों ने कहा कि वे नहीं चाहते कि केंद्र सरकार या राज्य सरकार का कोई अधिकारी द्वीप पर कोई गतिविधि करे. हालांकि, उन्होंने स्पष्ट किया कि वे झंडा फहराने के विरोध में नहीं हैं. उन्होंने कहा कि गांव के निवासी स्वयं झंडा फहराएंगे.

13 अगस्त को जारी किए गए अपने बयान में नेवी ने कहा,

“आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम के तहत, रक्षा मंत्रालय ने 13 से 15 अगस्त, 2021 के बीच देश भर के द्वीपों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने की योजना बनाई है. गोवा नौसेना क्षेत्र की एक टीम ने इस अखिल भारतीय पहल के हिस्से के रूप में साओ जैसिंटो द्वीप सहित गोवा के द्वीपों का दौरा किया. हालांकि, जैसिंटो द्वीप पर योजना को रद्द करना पड़ा क्योंकि निवासियों ने इसका विरोध किया था. यह पहल देश भर में देशभक्ति की भावना जगाने और स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाने के लिए की गई थी.”

स्थानीय लोगों ने क्या कहा?

चिकालिम के रहने वाले डेरेल डिसूजा इसी आईलैंड पर पले बढें हैं. उन्होंने कहा कि जैसिंटो द्वीप पर रहने वाले करीब 200 परिवार हर साल खुद भारत के राष्ट्रीय ध्वज को फहराते हैं. गोवा में तटीय क्षेत्र प्रबंधन योजना और संसद द्वारा पारित प्रमुख बंदरगाह प्राधिकरण विधेयक 2020 से यहां के लोग डरे हुए हैं. उन्होंने कहा,

“हम लोग झंडा फहराने के खिलाफ नहीं हैं. हमने यही बात नौसेना के उन अधिकारियों से भी कही जो 15 अगस्त को झंडा फहराने के लिए द्वीप पर आना चाहते थे. उन्होंने कहा कि यहां रहने वाले मछुआरों को द्वीप की चिंता है. लोगों को डर है कि सरकारी अधिकारी द्वीप पर कब्जा कर लेंगे और विकास के लिए निजी कंपनियों के हाथों में दे देंगे.”

एक NGO से राजनीतिक पार्टी बनी गोएंचो आवाज के कैप्टन विरियाटो फर्नांडीज कहते हैं कि CZMP और Major Ports Authorities Bill, 2020 के कारण लोग डरे हैं. हाल ही में CZMP के खिलाफ प्रदर्शन हुए थे. दरअसल सरकार ने बिल में इस द्वीप को Mormugao Port Trust के अंतर्गत दिखाया था. यहां के निवासी इसके खिलाफ हैं. द्वीप में 1731 की धार्मिक संरचनाएं हैं और हमने कहा कि यह बंदरगाह की सीमा के अंतर्गत नहीं आ सकता है. यही कारण है कि यहां के लोगों को संदेह है.

मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने क्या कहा?

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा,

“यह दुर्भाग्यपूर्ण और शर्मनाक है कि सेंट जैसिंटो द्वीप पर कुछ लोगों ने भारत के स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भारतीय नौसेना द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराए जाने पर आपत्ति जताई है. मैं इसकी निंदा करता हूं और रिकॉर्ड में कहना चाहता हूं कि मेरी सरकार इस तरह के कृत्यों को बर्दाश्त नहीं करेगी.”

उन्होंने आगे कहा,

“मैंने भारतीय नौसेना से अपनी मूल योजना पर आगे बढ़ने का अनुरोध किया है और गोवा पुलिस की ओर से पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया है. भारत विरोधी गतिविधियों की इन कोशिशों से सख्ती से निपटा जाएगा. हमेशा राष्ट्र प्रथम रहेगा.”

इसके बाद क्या हुआ?

स्थानीय मराठी वेबसाइट dainikgomantak.com पर मराठी में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक साओ जैसिंटो द्वीप के लोगों को लग रहा था कि नेवी इस द्वीप को स्थानीय लोगों के लिए बंद कर देगी और द्वीप के निवासियों को प्रवेश से रोक दिया जाएगा. इसी गलतफहमी के चलते लोग नेवी द्वारा भारतीय ध्वज के फहराए जाने का विरोध कर रहे थे.

यहां के लोग ना तो भारत के खिलाफ हैं और ना ही भारतीय झंडे को फहराए जाने के खिलाफ, ऐसा केवल गलतफहमी के कारण हुआ. लेकिन अब द्वीप पर तिरंगा फहराया गया है और 15 अगस्त को स्थानीय नागरिक खुद अपने आप हर बार की तरह कार्यक्रम करेंगे.


वीडियो- गोवा के सीएम प्रमोद सावंत का बयान महिलाओं की चिंता बढ़ाने वाला है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

सपा ने ट्वीट कर कहा- 2022 में मिलकर करेंगे बीजेपी को साफ़!

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

थाने के मालखाने से 25 लाख चोरी के आरोप में पुलिस ने पकड़ा था सफाईकर्मी को.

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.