Submit your post

Follow Us

लोकसभा में निलंबन के नियम क्या हैं? जिसके लपेटे में सात कांग्रेसी सांसद आ गए हैं

संसद में बजट सेशन का दूसरा फेज़ चल रहा है. सेशन तीन अप्रैल तक चलेगा. लोकसभा औऱ राज्यसभा, दोनों में जमकर हंगामा चल रहा है और इसकी सबसे बड़ी वजह है दिल्ली हिंसा.

इन्हीं सब बवाल के बीच पांच मार्च, दिन गुरुवार को कांग्रेस के सात सांसद लोकसभा के बाकी बचे सेशन के लिए सस्पेंड हो गए. इन्हें लोकसभा में खराब व्यवहार और सदन के काम-काज में रुकावट डालने के लिए सस्पेंड किया गया है. सस्पेंड होने वाले सांसदों के नाम हैं- गौरव गोगोई, टीएम प्रतापन, डीन कुरियाकोस, राजमोहन उन्नीतन, मणिकम टैगोर, बेनी बेहानन और गुरजीत सिंह.

समझते हैं कि लोकसभा से निलंबन यानी सस्पेंशन कब, कैसे और क्यों होता है.

सदन से सस्पेंशन होता क्यों है?

ये सदन के स्पीकर की ज़िम्मेदारी होती है कि सदन ठीक ढंग से चलता रहे. अब रिसोर्स के बिना तो मैनेजमेंट होता नहीं है. तो स्पीकर को भी सदन मैनेजमेंट के लिए कुछ रिसोर्स, कुछ अधिकार दिए गए हैं. जैसे कि किसी सदस्य को अनुशासनहीनता पर सस्पेंड करने का अधिकार.

सात कांग्रेस सांसदों के साथ ऐसा ही हुआ. लेकिन इस तरह सांसदों को सस्पेंड करने का अधिकार स्पीकर को देता कौन है?

लोकसभा स्पीकर को ये अधिकार मिलता है रूलबुक के नियम 373 और 374 से.

नियम 373 क्या कहता है…

लोकसभा के नियम नंबर-373 के मुताबिक- अगर लोकसभा स्पीकर को ऐसा लगता है कि कोई सांसद लगातार सदन की कार्रवाई बाधित करने की कोशिश कर रहा है तो वह उसे उस दिन के लिए सदन से बाहर कर सकता है, या बाकी बचे पूरे सेशन के लिए भी सस्पेंड कर सकता है.

नियम 374 क्या कहता है?

अगर स्पीकर को लगता है कि कोई सदस्य बार-बार सदन की कार्रवाई में रुकावट डाल रहा है औऱ वो उसका नाम लेकर कमेंट कर सकता है.

नाम लेकर कमेंट का मतलब है कि सदन के सामने उस सदस्य को निलंबित करने का प्रस्ताव रखा जाना. ध्वनि मत से सदन की राय ली जाती है और सदन की ये राय खिलाफ जाने पर वह सदस्य बाकी बचे सेशन के लिए सस्पेंड हो जाता है.

अब आता है 374-ए

ये क्लॉज लोकसभा की रूलबुक में पांच दिसंबर 2001 को शामिल किया गया था. इसके मुताबिक- अगर कोई सदस्य वेल तक आने की कोशिश करता है या सदन के लिए खराब भाषा का इस्तेमाल करता है तो स्पीकर उसका नाम लेकर फौरन उसे अगले पांच दिन के लिए सस्पेंड कर सकता है.

सस्पेंशन हटाने का क्या प्रोसेस है?

अगर किसी सदस्य को लोकसभा से सस्पेंड कर दिया गया है और सदन के सदस्य उसका सस्पेंशन हटवाना चाहते हैं तो वे मिलकर इसके लिए प्रस्ताव ला सकते हैं. प्रस्ताव पक्ष में पास हुआ तो सस्पेंशन हट सकता है.

राज्यसभा में निलंबन का यही तरीका है?

नहीं थोड़ा अलग है. यूं तो लोकसभा में जो बात रूल नंबर-373 में कही गई है, वही राज्यसभा की रूलबुक में नियम नंबर-255 में है. राज्यसभा में भी किसी सदस्य को निलंबित करने के पैरामीटर वहीं हैं. यानी अनुशासहीनता या वेल में आने पर निलंबन.

बस एक अंतर है. यहां स्पीकर सीधा नाम लेकर किसी को निलंबित नहीं कर सकता. स्पीकर सस्पेंशऩ का प्रस्ताव ला सकता है. पास हुआ तो निलंबन, वरना नहीं.

सांसदों के सस्पेंशन के कुछ चर्चित मामले

# जनवरी, 2019- स्पीकर सुमित्रा महाजन ने TDP और AIADMK के कुल मिलाकर 45 सांसदों को सस्पेंड किया था.

# फरवरी, 2014 – सदन में तेलंगाना को अलग राज्य का दर्जा देने या ना देने को लेकर बहस चल रही थी. इसी बीच बवाल करने वाले 18 सांसदों को स्पीकर मीरा कुमार ने सस्पेंड कर दिया था.

# मार्च, 1989 – उस वक्त राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे. अनुशासनहीनता के मामले में 63 सांसदों को तीन दिन के लिए लोकसभा से निलंबित किया गया था.


दिल्ली हिंसा पर लोकसभा में हंगामा तो अमित शाह को ममता बनर्जी ने एक दिन बाद ही जवाब दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.

क्या परवीन बाबी की राह पर चल पड़े थे सुशांत?

मुकेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा.

सुशांत के पिता और उनके विधायक भाई ने डिप्रेशन को लेकर क्या कहा?

फाइनेंशियल दिक्कत की ख़बरों पर भी बोले.

मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत को दी गई अंतिम विदाई, ये हस्तियां हुईं शामिल

मुंबई में तेज बारिश के बीच अंतिम संस्कार.

सुशांत ने किस दोस्त को आख़िरी कॉल किया था?

दोस्त फोन रिसीव न कर सका. जब तक कॉल बैक किया, देर हो चुकी थी.

सुशांत के साथ काम कर चुके मनोज बाजपेयी, राजकुमार राव और अनुष्का शर्मा ने क्या कहा?

सुशांत ने 11 फिल्मों में काम किया था.

सुशांत के सुसाइड से जुड़ी शुरुआती डिटेल्स आ गई हैं, सुबह 10 बजे तक सब ठीक था

किसे कॉल किया था? घर में कितने लोग थे? वगैरह.