Submit your post

Follow Us

महेंद्र सिंह धोनी के सेलेक्शन का वो क़िस्सा, जो आज से पहले किसी को नहीं पता था

सैयद किरमानी. जिन्हें भारत का पहला उत्कृष्ट विकेटकीपर माना जाता है. किरमानी के गज़ब के क्रिकेटिंग करियर के अलावा भी एक फैक्ट उन्हें अमर करता है- महेंद्र सिंह धोनी की खोज. किरमानी ने ही भारत को धोनी जैसा नगीना दिया. भारत के पहले वर्ल्ड कप विनिंग विकेटकीपर सैयद किरमानी सालों पहले इंडियन क्रिकेट टीम की सेलेक्शन कमिटी के चेयरमैन थे. उन्होंने अपने कार्यकाल में धोनी को मौका दिया और उस मौके को दोनों हाथों से भुनाते हुए धोनी जल्दी ही टीम इंडिया के कैप्टन बन गए.

धोनी के सेलेक्शन का एक क़िस्सा बड़ा मशहूर है. यहां तक कि इस क़िस्से को उनकी बायोपिक में भी जगह मिली है. कहते हैं कि ईस्ट ज़ोन के लिए खेलते हुए धोनी ने एक बहुत लंबा छक्का मारा था. इस छक्के से बॉल जाकर मैच देख रहे सेलेक्टर्स के पास गिरी और इसी के बाद उन्हें टीम इंडिया में जगह मिल गई. लेकिन किरमानी ने अब इस क़िस्से से पहले का क़िस्सा शेयर किया है.

# कीपिंग नहीं देखी

हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए किरमानी ने कहा,

‘मैंने यह बात कभी किसी से नहीं बताई लेकिन धोनी का सेलेक्शन कुछ इस तरह हुआ था. मैं और ईस्ट ज़ोन के मेरे साथी प्रणब रॉय एक रणजी ट्रॉफी मैच देख रहे थे. मुझे पक्का याद नहीं है कि वो कौन सा मैच था, लेकिन प्रणब इसके गवाह हैं. उन्होंने मुझसे कहा- झारखंड का एक विकेटकीपर बल्लेबाज है, जो बहुत प्रॉमिसिंग यंगस्टर है और वह सेलेक्ट होना डिजर्व करता है.

फिर मैंने उनसे पूछा- क्या वह आज कीपिंग कर रहा है? प्रणब ने कहा- नहीं, वह आज फाइन लेग पर फील्डिंग कर रहा है. इसके बाद मैंने धोनी के पिछले दो साल के स्टैट्स मंगवाए. और वाह! उनकी बैटिंग में कमाल की निरंतरता थी. उनकी कीपिंग देखे बिना ही मैंने कहा कि धोनी को सीधे ईस्ट ज़ोन में चुना जाना चाहिए. बाकी सब इतिहास है.’

बताते चलें कि वह इंडियन कीपिंग के सबसे बुरे दौर में से एक था. मैच फिक्सिंग से चलते नयन मोंगिया टीम से बाहर हो चुके थे. एक इंटरनेशनल मैच में कीपिंग के दौरान सबा करीम की आंख में चोट लगने के चलते उनका करियर खत्म हो गया था. राहुल द्रविड़ लगातार कीपिंग कर रहे थे. इस दौरान समीर दिघे, अजय रात्रा और दीप दासगुप्ता जैसे तमाम कीपर्स आए और गए. कोई भी अपनी जगह फिक्स नहीं कर पाया. दिनेश कार्तिक और पार्थिव पटेल जैसे कीपर्स अंदर-बाहर हो रहे थे. इसी दौरान 2004 में धोनी आए और छा गए.


धोनी के रिटायर होने की बात करने वालों को साक्षी ने ‘अच्छे से’ झाड़ दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

WHO ने कोरोना पर राहत देने वाली बात की तो दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने कहा, “अरी मोरी मईया!”

पलटकर WHO से ही सबूत मांग रहे हैं लोग.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां को हुआ कोरोना इंफेक्शन, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

बीते कुछ दिनों से दोनों की तबीयत खराब थी.

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.