Submit your post

Follow Us

बिहार: आखिरकार पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय जेडीयू में आ ही गए!

बिहार चुनाव से पहले पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय की राजनीति में आधिकारिक एंट्री आखिरकार हो ही गई. (ऐज एक्सपेक्टेड)

27 सितंबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में गुप्तेश्वर पांडेय जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) में शामिल हो गए. पुलिस सेवा से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (VRS) लेने के बाद उन्होंने नीतीश कुमार से पहले भी मुलाकात की थी. राजनीति में जाने की बात उन्होंने ‘दी लल्लनटॉप’ के साथ इंटरव्यू  में भी कही थी. कयास हैं कि जल्द ही उन्हें चुनावी टिकट मिल सकता है.

जेडीयू में शामिल होने के बाद गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा,

‘मुझे खुद सीएम ने बुलाया और शामिल होने के लिए कहा. पार्टी मुझसे जो भी करने को कहेगी, मैं करूंगा. मैं राजनीति नहीं समझता. मैं एक साधारण व्यक्ति हूं, जिन्होंने अपना समय समाज के निचले तबके के लिए काम करने में बिताया है.’

उन्होंने कहा,

आज शाम 4 बजे बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने सदस्यता दिलाई. मैं शुरू से ही उनसे प्रभावित रहा हूं क्योंकि उन्होंने कभी पुलिस के काम में हस्तक्षेप नहीं किया. चुनाव लड़ना या नहीं लड़ना, ये मेरा विषय नहीं है.

शिवसेना ने घेरा

गुप्तेश्वर पांडेय के जेडीयू में शामिल होने को लेकर शिवसेना से प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट किया है. उन्होंने कहा,

कैम्पेन तो मुंबई की पुलिस को गाली देकर शुरू कर ही लिया था. एक मौत को राजनीतिक सीढ़ी बना ही ली थी. अब उम्मीद है बिहार की जनता इनका भी हिसाब-किताब तय करेगी.

सुशांत सिंह राजपूत मामले को लेकर गुप्तेश्वर पांडेय लगातार टीवी पर दिखते रहे. महाराष्ट्र बनाम बिहार सरकार की जंग में भी उनके बयान आते रहे. रिया चक्रवर्ती को लेकर उनका ‘औकात’ वाला बयान चर्चा में रहा, जिस पर उन्होंने माफी भी मांगी. अब वो ‘खाकी’ से ‘खादी’ की तरफ आ गए हैं.


सुशांत केस में रिया की औकात वाली टिप्पणी पर क्या बोले गुप्तेश्वर पांडेय

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?