Submit your post

Follow Us

NRC ऑफिस की कर्मचारी पर FIR, आधिकारिक ईमेल ID का पासवर्ड नहीं बताने का आरोप

NRC ऑफिस की एक कर्मचारी पर ऑफिस की ईमेल आईडी का पासवर्ड न बताने पर FIR दर्ज हुई है.

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की ख़बर के मुताबिक, 32 साल की ये महिला कर्मचारी असम में हुए नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (NRC) ऑफिस में प्रॉजेक्ट मैनेजर के पद पर थीं. ऑफिस के कामकाज से जुड़ी दो ईमेल आईडी का पासवर्ड उन्हें ही मालूम था. मई, 2014 से नवंबर, 2019 तक वो इस पद पर रहीं. नवंबर, 2019 में इस्तीफ़ा देकर उन्होंने दफ़्तर छोड़ दिया. आरोप है कि नौकरी छोड़ने के बाद भी उन्होंने दोनों ईमेल आईडी का पासवर्ड दफ़्तर में किसी और से साझा नहीं किया. इन दो ईमेल आईडी में से एक तो जीमेल का है, दूसरा सरकारी (gov.in) है.

अब इसी मामले में इस पूर्व कर्मचारी पर FIR दर्ज की गई है. उनपर ‘ऑफिशल सिक्रेट्स ऐक्ट, 1923’ के सेक्शन पांच का उल्लंघन करने का आरोप है. बताया जा रहा है कि जिन दो ईमेल आईडी का जिक्र है, उनमें NRC से जुड़ी अहम और संवेदनशील जानकारियां हैं. FIR में लिखा है,

NRC अपडेट करने का ये प्रॉजेक्ट काफी संवेदनशील काम है. जिन ईमेल्स की बात हो रही है, उनमें बेहद ज़रूरी जानकारियां और संवेदनशील संवाद सुरक्षित हैं.

ये FIR लिखी गई गुवाहाटी के पलटन बाज़ार पुलिस थाने में. शिकायतकर्ता का नाम है चंदाना महंता. वो असम NRC के डिपार्टमेंट ऐंड एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर हैं.

Nrc 3
NRC की लिस्ट आने के बाद अपनी अपील्स तेजपुर इलेक्शन ऑफिस में जमा करते लोग. तस्वीर सितंबर 2019 का है. क्रेडिट- PTI.

ये FIR लिखवाए जाने से एक दिन पहले ही NRC की वेबसाइट से डेटा गायब हो गया था. इसके पीछे वजह बताई गई कि इस डेटा को वेबसाइट पर मुहैया करवाने को लेकर विप्रो के साथ करार था. उस कॉन्ट्रैक्ट की तारीख़ बीत गई और उसे रीन्यू नहीं करवाया गया. मगर NRC से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि इस FIR का डेटा गायब होने से कोई संबंध नहीं है. असम NRC के राज्य संयोजक हितेश देव शर्मा ने इस बारे में ‘इंडियन एक्सप्रेस’ को बताया,

इस FIR का डेटा वाले मामले से कोई संबंध नहीं है. जिस कर्मचारी पर आरोप लगा है, उसने 11 नवंबर को दफ़्तर छोड़ा. उन्होंने आगे तीन महीने तक दोनों ईमेल आईडी का पासवर्ड विभाग में किसी को नहीं दिया. हमें शक है कि शायद ईमेल डिलीट किए गए हों या उनके साथ किसी तरह की छेड़छाड़ की गई हो.

Nrc 1
असम के बस्का ज़िले में रहने वाले लोग NRC की लिस्ट में नाम देखते हुए. तस्वीर सितंबर 2019 की है. क्रेडिट- PTI.

जिस महिला कर्मचारी पर आरोप है, उससे भी बात की ‘इंडियन एक्सप्रेस’ ने. उसका कहना है कि दोनों ईमेल आईडी का इस्तेमाल ज़्यादातर दफ़्तर के आंतरिक कामकाज के लिए होता था. पूर्व कर्मचारी के मुताबिक,

जीमेल वाली ईमेल आईडी सक्रिय थी. दूसरी वाली आईडी तकरीबन निष्क्रिय थी. अगर इन ईमेल आईडी पर कोई आधिकारिक कामकाज की बात होती, तो उसे तुरंत दर्ज कर लिया जाता था. ऐसे में उन दोनों ईमेल आईडी पर ऐसा कुछ नहीं, जो फाइलों में दर्ज न हो.

महिला का कहना है कि NRC ऑफिस ने 7 फरवरी, 2020 को उनसे पासवर्ड मांगा. महिला के मुताबिक,

मैं शहर से बाहर गई हुई थी. सो मैंने उनसे कहा कि मैं वापस लौटकर ख़ुद उन्हें वो पासवर्ड दे दूंगी. वो इस बात के लिए राज़ी भी हो गए. मगर पिछली शाम जब मुझे FIR लिखे जाने की ख़बर मिली, तब मुझे धक्का लगा.

NRC की वेबसाइट से एकाएक डेटा गायब होने के बाद गृह मंत्रालय का आश्वासन आया था. उनका कहना है कि डेटा बिल्कुल सुरक्षित है. NRC ऑफिस की ओर से बताया गया कि विप्रो के साथ कॉन्ट्रैक्ट रीन्यू करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?

सलमान खान की रेकी करने वाला शार्प शूटर पकड़ा गया

जनवरी में रची गई थी सलमान खान की हत्या की साजिश!

रोहित शर्मा और इन तीन खिलाड़ियों को मिलेगा इस साल का खेल रत्न!

इसमें यंग टेबल टेनिस सेंसेशन का भी नाम शामिल है.

प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक पंडित जसराज नहीं रहे

पिछले कुछ समय से अमेरिका में रह रहे थे.

प. बंगाल: विश्व भारती यूनिवर्सिटी में जबरदस्त हंगामा, उपद्रवियों ने ऐतिहासिक ढांचे भी ढहाए

एक फेमस मेले ग्राउंड के चारों तरफ दीवार खड़ी की जा रही थी.

धोनी के 16 साल के क्रिकेट करियर की 16 अनसुनी बातें

धोनी ने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है.

धोनी के तुरंत बाद सुरेश रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा

इंस्टाग्राम पोस्ट के ज़रिए रिटायरमेंट की बात बताई.

धोनी क्रिकेट से रिटायर, फैंस ने बताया, एक जनरेशन में एक बार आने वाला खिलाड़ी

एक इंस्टाग्राम पोस्ट करके विदा ले ली धोनी ने.

गुजरात सरकार ने पीएम मोदी की फसल बीमा योजना को सस्पेंड क्यों कर दिया?

मोदी सरकार इस योजना की खूब बातें करती थीं.