Submit your post

Follow Us

NRC ऑफिस की कर्मचारी पर FIR, आधिकारिक ईमेल ID का पासवर्ड नहीं बताने का आरोप

NRC ऑफिस की एक कर्मचारी पर ऑफिस की ईमेल आईडी का पासवर्ड न बताने पर FIR दर्ज हुई है.

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की ख़बर के मुताबिक, 32 साल की ये महिला कर्मचारी असम में हुए नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (NRC) ऑफिस में प्रॉजेक्ट मैनेजर के पद पर थीं. ऑफिस के कामकाज से जुड़ी दो ईमेल आईडी का पासवर्ड उन्हें ही मालूम था. मई, 2014 से नवंबर, 2019 तक वो इस पद पर रहीं. नवंबर, 2019 में इस्तीफ़ा देकर उन्होंने दफ़्तर छोड़ दिया. आरोप है कि नौकरी छोड़ने के बाद भी उन्होंने दोनों ईमेल आईडी का पासवर्ड दफ़्तर में किसी और से साझा नहीं किया. इन दो ईमेल आईडी में से एक तो जीमेल का है, दूसरा सरकारी (gov.in) है.

अब इसी मामले में इस पूर्व कर्मचारी पर FIR दर्ज की गई है. उनपर ‘ऑफिशल सिक्रेट्स ऐक्ट, 1923’ के सेक्शन पांच का उल्लंघन करने का आरोप है. बताया जा रहा है कि जिन दो ईमेल आईडी का जिक्र है, उनमें NRC से जुड़ी अहम और संवेदनशील जानकारियां हैं. FIR में लिखा है,

NRC अपडेट करने का ये प्रॉजेक्ट काफी संवेदनशील काम है. जिन ईमेल्स की बात हो रही है, उनमें बेहद ज़रूरी जानकारियां और संवेदनशील संवाद सुरक्षित हैं.

ये FIR लिखी गई गुवाहाटी के पलटन बाज़ार पुलिस थाने में. शिकायतकर्ता का नाम है चंदाना महंता. वो असम NRC के डिपार्टमेंट ऐंड एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर हैं.

Nrc 3
NRC की लिस्ट आने के बाद अपनी अपील्स तेजपुर इलेक्शन ऑफिस में जमा करते लोग. तस्वीर सितंबर 2019 का है. क्रेडिट- PTI.

ये FIR लिखवाए जाने से एक दिन पहले ही NRC की वेबसाइट से डेटा गायब हो गया था. इसके पीछे वजह बताई गई कि इस डेटा को वेबसाइट पर मुहैया करवाने को लेकर विप्रो के साथ करार था. उस कॉन्ट्रैक्ट की तारीख़ बीत गई और उसे रीन्यू नहीं करवाया गया. मगर NRC से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि इस FIR का डेटा गायब होने से कोई संबंध नहीं है. असम NRC के राज्य संयोजक हितेश देव शर्मा ने इस बारे में ‘इंडियन एक्सप्रेस’ को बताया,

इस FIR का डेटा वाले मामले से कोई संबंध नहीं है. जिस कर्मचारी पर आरोप लगा है, उसने 11 नवंबर को दफ़्तर छोड़ा. उन्होंने आगे तीन महीने तक दोनों ईमेल आईडी का पासवर्ड विभाग में किसी को नहीं दिया. हमें शक है कि शायद ईमेल डिलीट किए गए हों या उनके साथ किसी तरह की छेड़छाड़ की गई हो.

Nrc 1
असम के बस्का ज़िले में रहने वाले लोग NRC की लिस्ट में नाम देखते हुए. तस्वीर सितंबर 2019 की है. क्रेडिट- PTI.

जिस महिला कर्मचारी पर आरोप है, उससे भी बात की ‘इंडियन एक्सप्रेस’ ने. उसका कहना है कि दोनों ईमेल आईडी का इस्तेमाल ज़्यादातर दफ़्तर के आंतरिक कामकाज के लिए होता था. पूर्व कर्मचारी के मुताबिक,

जीमेल वाली ईमेल आईडी सक्रिय थी. दूसरी वाली आईडी तकरीबन निष्क्रिय थी. अगर इन ईमेल आईडी पर कोई आधिकारिक कामकाज की बात होती, तो उसे तुरंत दर्ज कर लिया जाता था. ऐसे में उन दोनों ईमेल आईडी पर ऐसा कुछ नहीं, जो फाइलों में दर्ज न हो.

महिला का कहना है कि NRC ऑफिस ने 7 फरवरी, 2020 को उनसे पासवर्ड मांगा. महिला के मुताबिक,

मैं शहर से बाहर गई हुई थी. सो मैंने उनसे कहा कि मैं वापस लौटकर ख़ुद उन्हें वो पासवर्ड दे दूंगी. वो इस बात के लिए राज़ी भी हो गए. मगर पिछली शाम जब मुझे FIR लिखे जाने की ख़बर मिली, तब मुझे धक्का लगा.

NRC की वेबसाइट से एकाएक डेटा गायब होने के बाद गृह मंत्रालय का आश्वासन आया था. उनका कहना है कि डेटा बिल्कुल सुरक्षित है. NRC ऑफिस की ओर से बताया गया कि विप्रो के साथ कॉन्ट्रैक्ट रीन्यू करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी में बिना परमिशन पैदल नहीं चल सकते? पुलिस ने 10 लोगों को किया गिरफ़्तार

एक सरकारी अधिकारी ज़मानत के लिए क्यों चाहिए?

रवि बिश्नोई के पिता बोले, 'U-19 वर्ल्ड कप फाइनल वाले दिन से उसकी मां ने कुछ खाया नहीं'

अंडर-19 वर्ल्ड कप में रवि ने 17 विकेट लिए थे.

केजरीवाल के जीतने के बाद अखबारों ने वो लिख दिया, जो सोच भी नहीं सकते

और भी बहुत सारे अखबारों ने बहुत कुछ लिखा.

डेढ़ सौ रुपए तक महंगा हुआ सिलेंडर, छह महीने में छठी बार दाम बढ़े

इस बार तो एक तारीख़ का भी इंतज़ार नहीं किया गया.

बीजेपी कल राज्यसभा में कुछ बड़ा करने वाली थी, लेकिन दिल्ली में चुनाव हार गयी

क्या था उस तीन लाइन की चिट्ठी में?

दिल्ली में जीत वाले दिन ही AAP MLA पर गोली चली, पार्टी कार्यकर्ता की मौत

महरौली सीट से जीतने के बाद मंदिर में दर्शन करने गए थे. लौटते वक़्त हमला हुआ.

MP अजब है! यहां कागज़ों में ही बन गए 4.5 लाख टॉयलेट

और 540 करोड़ रुपये खर्च भी हो गए.

U19 World Cup Final: जीतते-जीतते तीन विकेट से पांचवां वर्ल्ड कप हार गई टीम इंडिया

बांग्लादेश क्रिकेट के इतिहास में नया सूर्य उदय हुआ है.

राम मंदिर ट्रस्ट : ऐलान होते ही इन तीन लोगों ने अड़ंगा लगा दिया

किसको शामिल करने की बात कर रहे हैं ये तीन लोग?

CAA पर नाटक खेलने वाले नाबालिग बच्चों से पुलिस ने 5 बार पूछताछ करके बवाल फान लिया

लोगों ने पूछा, आरएसएस के लोगों को क्यों नहीं किया गिरफ्तार?