Submit your post

Follow Us

चमकी बुखार में जिनके बच्चे मरे, उन्होंने विरोध किया तो केस दर्ज हो गया

अमेरिका के 16वें राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन ने डेमोक्रेसी की परिभाषा बताते हुए कहा था. डेमोक्रेसी द गवर्नमेंट ऑफ द पीपल, बाई द पीपल, फॉर द पीपल. इसका हिंदी तर्जुमा होता है- लोकतंत्र जनता का, जनता के लिए और जनता द्वारा बनाई गई शासन व्यवस्था.

लेकिन बिहार में जो घटना घटी है उस पर अगर अब्राहम लिंकन ज़िंदा होते तो ज़रूर मुस्कुरा रहे होते. बिहार में चमकी बुखार से मरे बच्चों के परिवार वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है. क्योंकि वे लोग नीतीश कुमार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे. एफआईआर की लिस्ट में पूरे 19 लोगों के नाम हैं. जबकि 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा हुआ है.

विरोध प्रदर्शन करने की वजह से 39 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है
विरोध प्रदर्शन करने की वजह से 39 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है

दरअसल, 18 जून के दिन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मुज़फ्फरपुर जाने वाले थे. वो चमकी बुखार से पीड़ित बच्चों को देखने जा रहे थे. हरवंशपुर में भी चमकी की वजह से पांच बच्चों की मौत हुई थी. इसलिए हरिवंशपुर के लोगों ने सड़क जाम कर दी और धरने पर बैठ गए. इसके अलावा गांव के और भी लोग धरने में शामिल हो गए, क्योंकि वो इलाके में पानी की समस्या से काफी परेशान थे.

हरिवंशपुर में लोगों ने 18 जून के दिन प्रदर्शन किया था.
हरिवंशपुर में लोगों ने 18 जून के दिन प्रदर्शन किया था.

जब प्रशासन को पता चला तो लोगों को हटाने की कोशिश की. लोग अड़े रहे और फिर नीतीश कुमार को मुज़फ्फरपुर के लिए दूसरा रास्ता लेना पड़ा. मज़बूरी में लोगों ने प्रदर्शन खत्म कर दिया.

18 जून को नीतीश कुमार मुज़फ्फरपुर के एसकेएमसीएच हालात का जायज़ा लेने पहुंचे थे.
18 जून को नीतीश कुमार मुज़फ्फरपुर के एसकेएमसीएच हालात का जायज़ा लेने पहुंचे थे.

अब पुलिस ने प्रदर्शन करने वाले लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुलिस ने अपनी एफआईआर में लिखा है कि 18 जून के दिन लोगों ने प्रदर्शन तो किया ही, तोड़फोड़ भी की और वहां से गुज़र रहे लोगों के साथ मारपीट भी की.

बिहार में चमकी बुखार से 170 से ज्यादा बच्चों की जान जा चुकी है. मुज़फ्फरपुर, वैशाली, बेतिया, हाजीपुर, सीतामढ़ी समेत 19 ज़िले इस बीमारी के चपेट में आए हैं. अब चूंकि मौसम सुधरा है, मानसून कई इलाकों में सक्रिय हुआ है इसीलिए चमकी बुखार के मामले नहीं बढ़ रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ मुज़फ्फरपुर के एसकेएमसीएच में अब भी चमकी से पीड़ित बच्चों का इलाज़ चल रहा है.


बिहार: चमकी बुखार के शिकार बच्चे ही क्यों होते हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

प्रशांत के पक्ष में पूर्व जजों का समर्थन गिनाया तो SC ने कहा- प्लीज़, इस पर हमसे कुछ न कहलवाइए

अवमानना मामले में सजा पर सुनवाई के दौरान जस्टिस अरुण मिश्रा और सीनियर एडवोकेट राजीव धवन में कुछ ऐसे हुई तीखी बहस

सुरेश रैना ने धोनी और अपनी दोस्ती पर कमाल की बात कह दी

CSK फैंस तो इस बात से पक्का सहमत होंगे.

जयपुर में मिट्टी खोदने पर गाड़ियां निकल रही हैं, लेकिन ये सरकार की नई स्कीम नहीं है!

सरकार तो इंतज़ार कर रही है ख़रीदार का.

संजय दत्त के लिए इरफान के बेटे ने वो बात कह दी, जो हर फैन कहना चाहता था

संजय दत्त की तबीयत ठीक नहीं है. उन्होंने इलाज के लिए काम से ब्रेक लिया है.

महात्मा गांधी का जिक्र कर प्रशांत भूषण सुप्रीम कोर्ट से बोले- मैं रहम नहीं मांगूंगा

कहा- अदालत ने मुझे गलत समझा, इसका दुख है, लेकिन मैंने अपना कर्तव्य निभाया था.

सोनाक्षी सिन्हा ने कहा, 'ऑनलाइन ट्रोलिंग बढ़ी क्योंकि लॉकडाउन में लोगों के पास करने को कुछ नहीं'

ट्रोलिंग की तगड़ी विक्टिम रह चुकी हैं सोनाक्षी.

एक अवैध हथियार की तलाश में निकली आंध्र प्रदेश पुलिस को ये क्या-क्या मिल गया!

पुलिस को इसकी उम्मीद कतई नहीं थी.

सोनू सूद के पास मदद के लिए रोज़ जितने मैसेज आते हैं, आंकड़ा जानकर आपको चक्कर आने लगेगा

सोनू सूद ने सबकी मदद ना कर पाने के लिए माफी भी मांगी है.

60 दिनों में चार्जशीट दाखिल नहीं हुई, तो यस बैंक घोटाले के आरोपी वधावन ब्रदर्स को जमानत मिल गई

कपिल वधावन और धीरज वधावन को सीबीआई ने अरेस्ट किया था.

गबन केस में फ़रार दरोगा कोर्ट में सरेंडर करने पहुंचा लेकिन कोरोना ने खेल कर दिया

कोर्ट ने ऐसा काग़ज़ मांग लिया कि बिना सरेंडर वापस जाना पड़ा.