Submit your post

Follow Us

दिल्ली में बहू बल्ब निकाल लेती थी, ससुर ने गला रेता और खून से लथपथ थाने पहुंच गया

दिल्ली के पहाड़गंज इलाके में एक सन्न कर देने वाली ख़बर सामने आई है. यहां के चूना मंडी इलाके में बिजली के बिल को लेकर हुई कहासुनी इतनी बढ़ गई कि ससुर ने चाकू से अपनी बहू का गला रेत दिया. एनबीटी की खबर के मुतबिक मृतका नीरज देवी अपने 10 साल के बेटे के साथ अपने सास-ससुर के घर रहती थी. नीरज का पति दर्शन अपने परिवार के साथ नहीं रहता था. दोनों के साथ तलाक का मामला तीस हजारी कोर्ट में चल रहा है. सास-ससुर बेटे के इस अलगाव का दोष मृतका नीरज को देते थे. और इसी बात पर नीरज से चिढ़ते भी थे. लेकिन ये चिढ़न-कुढ़न इस तरह से निकलेगी, ये किसी ने नहीं सोचा था.

पूरा मामला 

नीरज और सास-ससुर की बीच टकराव होता रहता था. लेकिन इस बार मामला हद से आगे बढ़ गया. बहाना बना बिजली का बिल. नीरज का ससुर भगत राम बिजली का बिल ज्यादा आने की शिकायत करता था. इस शाम जब बिजली के इस्तेमाल के लिए भगत राम ने टोका तो नीरज ने घर के सारे बल्ब ही निकाल लिए. वो ऐसा पहले भी कर चुकी थी. लेकिन इस बार बात ज्यादा बढ़ गई. सोमवार को जब झगड़ा हुआ तो ससुर ने चाकू से बहू का गला रेत दिया. हत्या करने के बाद भगत राम पहाड़गंज थाने की संगतरासा चौकी में जा पहुंचा और अपना जुर्म कबूलते हुए जाकर सरेंडर कर दिया. पुलिस ने मर्डर का मुकदमा दर्ज कर ससुर को गिरफ्तार कर लिया. हत्या में इस्तेमाल हुआ चाकू भी बरामद कर लिया गया है.

मृतका नीरज.
मृतका नीरज.

पुलिस ने इस मामले में पूछता की तो भगत राम ने आरोप लगाया कि बहू उनकी बुजुर्ग पत्नी को मानसिक रूप से प्रताड़ित करती थी. रात के वक्त किचन, बाथरूम और सीढ़ियों का बल्ब निकाल देती थी. हमें अंधेरे में रहना पड़ता था. जिस देर रात ये वारदात हुई, उस दिन भी नीरज ने यही किया था. भगत का कहना है कि इसी वजह से उसे गुस्सा आ गया. और बहू की हत्या कर दी. भगत राम का कहना है कि नीरज पूरी प्रॉपटी को अपने नाम करवाने की जिद्द करती थी जानकारी के मुताबिक, सोमवार रात भगत राम डिनर कर रहा था. बहू जिद करने लगी कि डिनर उसके साथ ही होगा. लेकिन भगत राम ने इनकार कर दिया. बहस शुरू हो गई. नीरज के हाथ में चाकू था. भगत राम ने चाकू खींचने की कोशिश की और इसी चक्कर में हाथापाई हो गई. गुस्से में आकर भगत राम ने नीरज का गला रेत दिया. नीरज के परिजनों ने भी बेटी को परेशान करने के गंभीर आरोप लगाए हैं.

दर्शन और नीरज. ये शादी के समय की तस्वीर है.
दर्शन और नीरज. ये शादी के समय की तस्वीर है.

शुरुआती जांच के बाद पुलिस ने बताया कि भगत राम के बेटे दर्शन की नीरज से 12 साल पहले शादी हुई थी. वर्ष 2012 के बाद दर्शन और नीरज के रिश्ते खराब होने लगे. अदालत ने दर्शन को पत्नी को गुजारा भत्ता देने का आदेश दिया. नीरज अपने पति के खिलाफ घरेलू हिंसा की भी शिकायत कर चुकी थी.

ऐसे अपराध एक सेकेंड मे नहीं हो जाते. ये पुरानी खीझ का नतीजा होता है. इस मामले में भी कुछ ऐसा ही हुआ है. रोज़-रोज़ की खिझन से तंग आकर 65 साल के भगत राम ने ऐसा अपराध कर डाला कि अपनी ज़िंदगी के आखिरी कुछ साल उसे काल कोठरी में गुज़ारने होंगे. इस हालत में नीरज और सास-ससुर जितना एक दूसरे से खिन्न नज़र आ रहे हैं, ये कदम दोनों में से किसी की भी ओर से उठाया जा सकता था. इस केस में ससुर के सब्र का बांध टूटा. अब पूरे घर में बचे हैं तीन शख़्स, नीरज का पति दर्शन, जो घर से पहले ही अलग रहता है. इन दोनों का 10 साल का बेटा और नीरज की सास, जिसकी विकट स्थिति देखकर भगत राम ने बहू नीरज का कत्ल किया. अगर जैसा भगत राम ने पुलिस को बताया है वो सच है तो बहू ने बेशक ग़लत किया हो, ग़लत करती आ रही है, फिर भी क़त्ल या किसी भी प्रकार की हिंसा को सही नहीं ठहराया जा सकता है. कानूनी प्रक्रिया के तहत कई और तरीके थे जो भगत राम को न्याय दिला सकते थे, काश ! भगत राम ने उन विकल्पों में से एक चुना होता, ना कि ये.

एक बात और, ये सब भगत राम की ओर से बताई गई कहानी है. इसके अलावा कुछ और भी कारण हो सकते हैं, कोई और व्यू पॉइंट हो सकता है. लेकिन वो बताने के लिए नीरज ज़िंदा नहीं है.


वीडियो- तेलंगाना में एक महिला ने अपनी बेटी के रेप के आरोपी बाप के खिलाफ शिकायत की

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.