Submit your post

Follow Us

दावा- बिजनेस के चलते फेसबुक ने BJP से जुड़े लोगों के नफरती बयानों पर एक्शन नहीं लिया

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक सवालों के घेरे में है. उस पर अपने बिजनेस के चलते बीजेपी से जुड़े लोगों और ग्रुप की नफरत भरी बातों पर रोक न लगाने का आरोप लगा है. दावा है कि हिंसा भड़काने या इसमें शामिल होने को लेकर फेसबुक के अंदर से ही शिकायत हुई थी. लेकिन इस पर कार्रवाई नहीं हुई. अमेरिका के अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल ने अपनी रिपोर्ट में ये आरोप लगाए हैं. अखबार ने भारत में फेसबुक की पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर अंखी दास को कटघरे में खड़ा किया है. अपने ऊपर लगे आरोपों पर अंखी दास का अब तक जवाब नहीं आया है.

वॉल स्ट्रीट जर्नल ने लिखा है कि अंखी दास ने अपने स्टाफ से कहा कि बीजेपी नेताओं पर कार्रवाई करने से भारत में कंपनी के कारोबार की संभावनाओं को नुकसान होगा.

भारत यूजर्स के लिहाज से फेसबुक का सबसे बड़ा मार्केट है. भारत में फेसबुक के लगभग 34 करोड़ यूजर्स हैं.

बीजेपी विधायक टी राजा सिंह.
बीजेपी विधायक टी राजा सिंह.

 बीजेपी विधायक टी राजा सिंह की पोस्ट का जिक्र

अमेरिकी अखबार ने अपनी रिपोर्ट में तेलंगाना बीजेपी विधायक राजा सिंह, कर्नाटक से बीजेपी सांसद अनंतकुमार हेगड़े और दिल्ली बीजेपी नेता कपिल मिश्रा की कथित हेट स्पीच का जिक्र किया है. राजा सिंह भड़काऊ और विवादित बयानों के चलते सुर्खियों में रहते हैं. अखबार ने लिखा है कि फेसबुक के नियमों के तहत बीजेपी विधायक राजा सिंह को बैन किया जाना चाहिए था. उन्होंने कथित तौर पर मुसलमानों के खिलाफ भड़काऊ बयान दिए. इसके लिए ‘खतरनाक व्यक्ति और संगठन’ नाम से फेसबुक की नीति भी है.

इस नीति के तहत संगठित घृणा, सामूहिक हत्याकांड, हेट क्राइम और आतंकी हमलों का समर्थन करने वाली सामग्री पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है. इसी साल दिल्ली के उत्तरी-पूर्वी हिस्से में हुए दंगों को फेसबुक ने इसी नीति के तहत हेट क्राइम में रखा था. इसी तरह साल 2018 में श्रीलंका में हुए दंगे भी इस नीति के तहत रखे गए थे.

राजा सिंह बोले- उनका तो फेसबुक अकाउंट ही नहीं

वॉल स्ट्रीट जर्नल ने लिखा है कि उसकी पूछताछ के बाद फेसबुक ने राजा सिंह की कुछ पोस्ट को डिलीट भी किया है. साथ ही फेसबुक ने ये भी कहा कि राजा सिंह का फेसबुक पर आधिकारिक अकाउंट नहीं है. वहीं टी राजा सिंह ने भी ऐसी ही बातें की हैं. उन्होंने कहा कि उनके नाम से बहुत से पेज चल रहे हैं. लेकिन उनका कोई आधिकारिक पेज नहीं है. बाकी पेज पर क्या जाता है, इसके लिए वो जिम्मेदार नहीं है.

वहीं अनंतकुमार हेगड़े पर भी नफरती बयान देने के आरोप लगे. इस वजह से टि्वटर ने उनका अकाउंट सस्पेंड कर दिया, लेकिन फेसबुक ने ऐसा नहीं किया. कपिल मिश्रा पर दिल्ली में हिंसा भड़काने का आरोप लगा. फेसबुक पर उनका एक कथित भड़काऊ वीडियो भी पोस्ट हुआ था. बाद में इसे फेसबुक ने हटा दिया था. खुद मार्क जकरबर्ग ने नाम लिए बिना मिश्रा के वीडियो का जिक्र किया था.

फेसबुक डेटा प्राइवेसी को लेकर पहले से निशाने पर था. लेकिन अपने प्लेटफॉर्म पर हेट स्पीट और वायोलेंस वाले कंटेंट को लेकर भी अब वह सवालों के घेरे में है.
फेसबुक डेटा प्राइवेसी को लेकर पहले से निशाने पर था. लेकिन अपने प्लेटफॉर्म पर हेट स्पीट और वायोलेंस वाले कंटेंट को लेकर भी अब वह सवालों के घेरे में है.

फेसबुक ने दी सफाई

इस मामले में फेसबुक का भी बयान आया है. फेसबुक के प्रवक्ता एंडी स्टोन ने कहा कि अंखी ने शिकायत मिलने पर राजनीतिक उठापटक की बात कही थी. हालांकि यह भी सही नहीं है कि केवल उनके विरोध की वजह से ही कंपनी ने राजा सिंह पर कार्रवाई नहीं की. इसके कई दूसरे कारण भी थे.

लेकिन फेसबुक के प्रवक्ता ने उन कारणों के बारे में नहीं बताया.

नफरत परोसने पर पहले से घिरा हुआ है फेसबुक

वॉल स्ट्रीट जर्नल ने फेसबुक के पूर्व और वर्तमान कर्मचारियों के हवाले से लिखा है कि अंखी दास ने जो दखल दी, वह फेसबुक के सत्ताधारी पार्टी के प्रति झुकाव का हिस्सा है.

फेसबुक पर पहले भी इसी तरह के आरोप लगे थे. कुछ महीनों पहले हेट स्पीच वाली पोस्ट पर कार्रवाई न करने के चलते ही कई कंपनियों ने उसका बहिष्कार कर दिया था. उन्होंने कंपनी को विज्ञापन देने से मना कर दिया था.

इस मसले पर राहुल-रविशंकर भिड़े

इधर, वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट के बाद बीजेपी और कांग्रेस आपस में उलझ गए हैं. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर बीजेपी-आरएसएस पर हमला बोला. उन्होंने लिखा,

बीजेपी और आरएसएस भारत में फेसबुक और वॉट्सऐप को कंट्रोल करते हैं. वे इनके जरिए फर्जी खबरें और नफरत फैलाते हैं और मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए इनका उपयोग करते हैं. आखिरकार, अमेरिकी मीडिया फेसबुक की सच्चाई सामने लेकर आया.

राहुल के ट्वीट पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कड़ी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने ट्वीट कर कहा,

हारे हुए लोग जो अपनी पार्टी के लोगों को भी प्रभावित नहीं कर सकते हैं वे इस बात की शिकायत कर रहे हैं कि पूरी दुनिया को बीजेपी और आरएसएस कंट्रोल करते हैं. आप चुनावों से पहले डेटा को हथियार बनाने के लिए कैंब्रिज एनालिटिका और फेसबुक से गठबंधन करते रंगे हाथों पकड़े गए थे. और अब हम पर सवाल उठाने की धृष्टता कर रहे हो?


Video: दुनिया की बड़ी कंपनियां फेसबुक से किनारा क्यों कर रही हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

धोनी के 16 साल के क्रिकेट करियर की 16 अनसुनी बातें

धोनी ने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है.

धोनी के तुरंत बाद सुरेश रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा

इंस्टाग्राम पोस्ट के ज़रिए रिटायरमेंट की बात बताई.

धोनी क्रिकेट से रिटायर, फैंस ने बताया, एक जनरेशन में एक बार आने वाला खिलाड़ी

एक इंस्टाग्राम पोस्ट करके विदा ले ली धोनी ने.

गुजरात सरकार ने पीएम मोदी की फसल बीमा योजना को सस्पेंड क्यों कर दिया?

मोदी सरकार इस योजना की खूब बातें करती थीं.

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी की हार्ट अटैक से मौत

राजीव त्यागी टीवी का जाना माना चेहरा बन चुके थे.

बेंगलुरु में फेसबुक पोस्ट को लेकर हिंसा, कांग्रेस विधायक का घर और थाने में गाड़ियां फूंकी

तीन लोगों की मौत, 60 से ज्यादा पुलिसवाले घायल.

मशहूर शायर राहत इंदौरी नहीं रहे, कोरोना पॉज़िटिव थे

अलविदा!

आ गयी कोरोना की पहली वैक्सीन, इस लड़की ने लगवाया पहला डोज़

कैसे बनाई गयी है?

सुप्रीम कोर्ट में अपनी नई याचिका में रिया ने आरुषि मर्डर केस का जिक्र क्यों किया?

कहा- मीडिया में इस मुद्दे को लगातार सनसनीखेज़ बनाकर दिखाया जा रहा है.

दिल्ली दंगा : "अरेस्ट से हिंदुओं में नाराज़गी" वाले आदेश पर कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को क्लीन चिट दी

मीडिया पर क्या टिप्पणी की कोर्ट ने?