Submit your post

Follow Us

आपको पता है सौरव गांगुली के ओपनर बनने का क़िस्सा?

वर्ल्ड कप 1983 के हीरो और इंडियन टीम के कोच रह चुके मदन लाल ने सौरव गांगुली के बारे में बड़ा खुलासा किया है. मदन लाल का दावा है कि उन्होंने सौरव गांगुली को वनडे में ओपनिंग करने के लिए मनाया था. उन्होंने कहा कि टीम मैनेजमेंट सौरव गांगुली की क्षमता को पूरी तरह से इस्तेमाल करना चाहता था.

साल 1983 के वर्ल्ड कप में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले मदन लाल 1996 और 1997 में टीम इंडिया के कोच भी थे. एक फेसबुक लाइव के दौरान उन्होंने कहा,

‘हम दादा का पूरा इस्तेमाल करना चाहते थे. मुझे नहीं पता कि उन्हें याद है या नहीं. मैंने उनसे कहा था- दादा, नंबर पांच पर बैटिंग करने से कुछ नहीं होगा. तुमको सीधे ओपन करना चाहिए. हर प्लेयर का अपना अंदाज होता है. गांगुली के पास सारे स्ट्रोक्स थे. हर बल्लेबाद को सेटल होने के लिए थोड़ा वक्त चाहिए होता है. आप कुछ ओवर्स में सिर्फ सिंगल-डबल लेते हैं क्योंकि आपको कंडिशन में सेटल होने के लिए वक्त चाहिए होता है.

आज भी, विराट कोहली, रहाणे जैसे बल्लेबाज थोड़ा वक्त लेते हैं. इसलिए मैंने उनसे कहा और वह तैयार हो गए. इसके बाद दादा ने कभी मुड़कर पीछे नहीं देखा. सचिन और सौरव की पार्टनरशिप भारत में बहुत पॉपुलर हुई, इन दोनों ने देश के लिए बहुत सारे मैच जीते. मैं उस वक्त कोच था. मुझे थोड़ा-बहुत याद है कि मैंने यह शायद श्रीलंका टूर के दौरान गांगुली से कहा था.’

वर्ल्ड क्रिकेट के महानतम ओपनर्स में से एक गांगुली ने अपना करियर मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज के रूप में शुरू किया था. गांगुली ने पहली बार 1996 में साउथ अफ्रीका के ख़िलाफ जयपुर में ओपनिंग की थी. यह गांगुली का 11वां वनडे था. इस वनडे में हाफ सेंचुरी मारने के बाद दादा आगे ही बढ़ते गए.

गांगुली ने अपने करियर के 311 में से 236 मैचों में ओपनिंग की. इन मैचों में उन्होंने नौ हजार से ज्यादा रन बनाए. गांगुली ने ओपनर के रूप में 19 सेंचुरी मारीं और सचिन के साथ उनकी जोड़ी ने तमाम रिकॉर्ड बनाए. सचिन और गांगुली के नाम अब भी एक जोड़ी के रूप में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड है. दोनों ने मिलकर वनडे में 8227 रन बनाए हैं.


IPL पर गांगुली का यह बयान करोड़ों फैंस को खुश कर देगा!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन को कोरोना के बाद निमोनिया हुआ, हालत गंभीर

कुछ दिन पहले कोरोना पॉज़िटिव आए थे, अब प्लाज़मा थेरेपी दी जाएगी.

चीनी सेना की यूनिट 61398, जिससे पूरी दुनिया के डेटाबाज़ डरते हैं

बड़ी चालाकी से काम करती है ये यूनिट.

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.

क्या परवीन बाबी की राह पर चल पड़े थे सुशांत?

मुकेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा.

सुशांत के पिता और उनके विधायक भाई ने डिप्रेशन को लेकर क्या कहा?

फाइनेंशियल दिक्कत की ख़बरों पर भी बोले.