Submit your post

Follow Us

एशेज हारने पर पीटरसन ने पोल करवा दिया, फिर इंग्लैंड बोर्ड को लताड़ के रख दिया

एशेज सीरीज. इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली ये जंग एकदम जीवन-मरण वाली होती है. और इस बार इसे अपने नाम किया है ऑस्ट्रेलिया ने. ज्यादा बड़ी उपलब्धि ये है कि ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को इंग्लैंड में हराया है. ऑस्ट्रेलिया वाले इस जीत के बाद से एकदम जश्न वाले मोड में हैं. मगर विश्व विजेता इंग्लैंड निराश है. कित्ता निराश है. या एशेज उनके लिए कितना बड़ा है. ये समझने के लिए केविन पीटरसन से अच्छा उदाहरण नहीं हो सकता. इस पूर्व इंग्लिश बल्लेबाज ने ट्विटर पर एक पोल डाला. पूछा –

जब ऑस्ट्रेलिया ने हमें बुरी तरह हरा दिया है तो मैं फिर ये सवाल पूछना चाहूंगा. आप क्या जीतना ज्यादा पसंद करेंगे –

एशेज या वर्ल्डकप…?

केविन ने इस पोल में खुद का जवाब भी दे दिया. कहा- मैं तो हमेशा एशेज ही जीतना चाहूंगा.

अब बारी इस पोल के रिजल्ट की. कुल 52 हजार 101 लोगों ने इसमें वोट किया. जिसमें 53 फीसदी लोगों ने एशेज को जीतना ज्यादा जरूरी बताया. वर्ल्डकप के फेवर में 47 फीसदी लोग रहे. ये पोल यह समझाने के लिए काफी है कि एशेज कितनी बड़ी चीज है. इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दोनों के लिए. ऑस्ट्रेलिया के लिए इस सीरीज में हीरो रहे स्टीव स्मिथ ने भी इसे एक सपने के पूरा होने जैसा बताया था. कहा था कि इंग्लैंड में एशेज जीतना मेरी बकट लिस्ट में था.

पीटरसन ने अपने इस पोल के ऊपर ब्लॉग भी लिखा. इसमें बताया कि कैसे इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने चार साल पहले वनडे क्रिकेट पर फोकस करने का निर्णय लिया था. टेस्ट को किनारे लगा दिया था. बोले कि मैं कभी इसके समर्थन में नहीं रहा. टेस्ट क्रिकेट बहुत नायाब चीज है. हमें हर हाल में इसे सहेजना चाहिए. उन्होंने अपनी बात के समर्थन में इस पोल का भी हवाला दिया. बोर्ड की तरफ इशारा करते हुए कहा कि पब्लिक क्या फील करती है देख लीजिए. और अपना रवैया बदलिए टेस्ट क्रिकेट के लिए. पीटरसन ने टीम में कई बदलावों की भी वकालत की. मोन्टी पनेसर का मजाक बनाने का भी विषय उठाया. कहा कि मोन्टी अच्छा बॉलर था, उसने भारत में जाकर भारत को हराने में हमारी मदद की. मगर उसकी बैटिंग का मजाक बना उसे बाहर कर दिया गया. जबकि टीम को ऐसे ही मैच विनर्स की जरूरत है.


लल्लनटॉप वीडियो देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.