Submit your post

Follow Us

झारखंड चुनाव की तारीख का ऐलान हो गया है

105
शेयर्स

चीफ इलेक्शन कमिश्नर सुनील अरोड़ा. करीब साढ़े चार बजे टीवी पर लाइव आए. लाइव आने के पीछे का कारण है झारखंड के चुनाव.

अरोड़ा ने चुनाव की तैयारियों के बारे बताया. बताया कि झारखंड में 19 में से 13 ज़िले अति संवेदनशील हैं. कुल 81 सीटें हैं. इन सभी सीटों पर चुनाव होगा. फिर बोले कि अब वो बात जिसका आप सभी को इंतज़ार है.

चुनाव की तारीख

कुल पांच चरणों में चुनाव होंगे.

पहला चरण(13 सीटें) – 30 नवंबर
दूसरा चरण(20 सीटें) – 7 दिसंबर
तीसरा चरण(17 सीटें) – 12 दिसंबर
चौथा चरण(15 सीटें) – 16 दिसंबर
पांचवा चरण(16 सीटें) – 20 दिसंबर

इलेक्शन के रिज़ल्ट तीन दिन बाद यानी 23 दिसंबर को आएंगे.

पहले के आंकड़े

झारखंड में पिछले चुनाव 2014 में हुए थे. और BJP सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी थी. एक बार आप 2014 की सीट्स के नंबर देख लीजिए –

BJP – 37 सीट
JMM(Jharkhand Mukti Morcha) – 19 सीट
JVM(Jharkhand Vikas Morcha) – 8 सीट
Congress – 6 सीट

BJP के गठबंधन यानी NDA ने कुल 42 सीटें पाकर सरकार बनाई. और 28 दिसंबर 2014 को रघुवर दास ने झारखंड ने दसवें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली.


वीडियो – महाराष्ट्र की लातूर रूरल और कादेगांव विधानसभा सीट पर नोटा दूसरे नंबर पर रहा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सरकार Facebook से यूजर्स की जानकारी मांग रही है

2 साल में तीन गुनी हुई इमरजेंसी रिक्वेस्ट्स की संख्या.

पुनर्विचार की सभी याचिकाएं खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने रफ़ाल को हरी झंडी दी

राहुल गांधी ने पीएम मोदी को रफ़ाल डील में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए खूब घेरा था.

महाराष्ट्र में नहीं बनी शिवसेना-एनसीपी की सरकार, अब लगेगा राष्ट्रपति शासन

एनसीपी को सरकार बनाने के लिए आज शाम साढ़े आठ बजे तक का समय मिला था.

करतारपुर कॉरिडोर: PM मोदी ने इमरान को शुक्रिया कहा, लेकिन इमरान का जवाब पीएम मोदी को पसंद नहीं आएगा

वहां पर भी कॉरिडोर से ज़्यादा 'विवादित मुद्दे' पर ही बोलता नज़र आया पाकिस्तान.

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: विवादित ज़मीन रामलला को, मुस्लिम पक्ष को कहीं और मिलेगी ज़मीन

जानिए, कोर्ट ने अपने फैसले में और क्या-क्या कहा है...

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.