Submit your post

Follow Us

कोरोना वैक्सीन की मुझे जरूरत नहीं, योग-आयुर्वेद का डबल प्रोटेक्शन मिला हुआ है- बाबा रामदेव

योग गुरु बाबा रामदेव ने एक बार फिर कोविड-19 महामारी को नियंत्रित करने के लिए किए जा रहे मेडिकल प्रयासों को लेकर टिप्पणी की है. कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लगाए जा रहे टीकों पर उन्होंने सवाल खड़ा किया है. साथ ही योग और आयुर्वेद का खुलकर समर्थन किया है. बाबा रामदेव ने कहा है कि उन्होंने अब तक कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाई है, क्योंकि उन्हें योग और आयुर्वेद की सुरक्षा मिली हुई है. रामदेव का दावा है कि वे कई सालों से लगातार योग कर रहे हैं, इसलिए उन्हें कोरोना संक्रमण का खतरा नहीं है और ना ही उसके नियंत्रण के लिए किसी वैक्सीन की जरूरत है

इसके अलावा, रामदेव ने ये भी कहा है कि कोरोना वायरस के कारण हुई मौतों से पता चलता है कि एलोपैथी सौ प्रतिशत प्रभावी नहीं है. उनके मुताबिक, ये केवल बीमारियों को कंट्रोल करती है, जबकि आयुर्वेद उनका इलाज करता है. हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित खबर के मुताबिक, बाबा रामदेव ने कहा,

‘मैं दशकों से योग और आयुर्वेद की प्रैक्टिस कर रहा हूं. इसलिए मुझे वैक्सीन लगवाने की जरूरत महसूस नहीं हुई. भारत के सौ करोड़ से भी ज्यादा लोगों के अलावा दूसरे देशों के पास भी ये प्राचीन थेरेपी उपलब्ध हैं. आने वाले समय में आयुर्वेद को विश्व स्तर पर स्वीकार किया जाएगा.’

योग और आयुर्वेद की प्रशंसा करते हुए रामदेव ने ये आरोप भी लगाया कि एलोपैथी से तुलना के चलते प्राचीन भारतीय उपचार व्यवस्था के खिलाफ कैंपेन चलाया गया है. सीएनएन-न्यूज18 को दिए एक इंटरव्यू में रामदेव ने कहा कि एंटी-इंडिया माफिया गैंग उनके और आयुर्वेद के खिलाफ गलत जानकारी फैला रहा है. रामदेव ने इंटरव्यू में एलोपैथी को लेकर दिए अपने बयानों पर सफाई भी दी. लेकिन ये भी कहा कि एलोपैथी बीमारियों को केवल नियंत्रित करती है, जबकि आयुर्वेद लोगों को बीमारियों से मुक्त करता है.

Baba Ramdev
हाल ही में बाबा रामदेव ने कोरोना पर रिसर्च पेपर भी जारी किए थे. फोटो- PTI

आमिर खान का पुराना वीडियो किया शेयर

ये पहली बार नहीं है, जब बाबा रामदेव ने एलोपैथी के तहत होने वाले उपचारों को कटघरे में खड़ा किया है. हाल के दिनों में उन्होंने एक के बाद एक कई बयान दिए हैं, जिनमें एलोपैथी और इसकी प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों की आलोचना की गई है या मजाक उड़ाया गया है.

रामदेव दावा करते रहे हैं कि योग और आयुर्वेद के खिलाफ प्रचार किया जाता रहा है. वो इसे साबित करने की कोशिश करते भी दिखते हैं. इस सिलसिले में शनिवार को उन्होंने अभिनेता आमिर खान का एक वीडियो शेयर किया था. ये वीडियो आमिर खान के एक शो ‘सत्यमेव जयते’ का था. रामदेव ने अपने ट्विटर हैंडल से इसे शेयर किया था. साथ ही कैप्शन में ‘मेडिकल माफिया’ शब्द का इस्तेमाल किया था.

वीडियो में आमिर खान एक हेल्थ एक्सपर्ट डॉ. समित शर्मा से मेडिकल दवाओं की कीमतों पर चर्चा कर रहे थे. वो आमिर खान और शो मैं बैठे दर्शकों को जेनेरिक दवाओं और बाजार में मिलने वाली ब्रैंडेड दवाओं की कीमतों के अंतर को समझाते हैं. डॉ. समित शर्मा ये भी बताते हैं कि आजादी के कई सालों बाद भी कई जरूरी दवाएं लोगों तक नहीं पहुंच पातीं. वीडियो कुछ साल पुराना है. लेकिन इसके आधार पर रामदेव ने ‘मेडिकल माफिया’ से कहा कि वो आमिर खान के खिलाफ मोर्चा खोलने की हिम्मत दिखाए.

बाबा रामदेव और एलोपैथिक डॉक्टरों के बीच विवाद का सिलसिला दो वीडियो सामने आने के बाद शुरू हुआ था. इन दोनों वीडियो में रामदेव ने एलोपैथी और डॉक्टरों को लेकर विवादित बयान दिए थे. पहले वीडियो में रामदेव एक कार्यक्रम में एलोपैथी को ‘स्टूपिड साइंस’ यानी ‘बेवकूफी वाला विज्ञान’ करार दे रहे हैं. इस पर डॉक्टर और उनके सबसे बड़े संगठन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने बेहद कड़ी प्रतिक्रिया दी. उसने स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन तक को नोटिस भेज दिया था, जिसके बाद रामदेव ने अपना बयान वापस लिया था.

लेकिन फिर दूसरा वीडियो सामने आ गया, जिसमें रामदेव ना सिर्फ एलोपैथी का मजाक उड़ाते दिखे, बल्कि कोविड महामारी में मारे गए डॉक्टरों का भी मखौल उड़ाया. साथ ही खुद को बिना डिग्री वाला डॉक्टर तक बताया. इसके बाद उनकी और IMA की तल्खी और बढ़ गई.

इस सबके बीच अपने बचाव में रामदेव ने मॉडर्न साइंस की क्षमता को लेकर डॉक्टरों और IMA से 25 सवाल कर डाले. IMA उत्तराखंड ने रामदेव को एक हजार करोड़ रुपये का मानहानि नोटिस भेजा था. वहीं, दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने उनके खिलाफ पुलिस कंप्लेंट की थी. इसके बाद ही योग गुरु 25 सवालों वाला पर्चा सामने लेकर आए थे. उधर, IMA उत्तराखंड के महासचिव डॉ. अजय खन्ना ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि संगठन खुली बहस में रामदेव के सवालों का जवाब देने को लेकर विचार कर रहा है.


वीडियो: भाजपा विधायक ने एलोपैथ वाले डॉक्टरों और बाबा रामदेव को लेकर क्या कह डाला? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?