Submit your post

Follow Us

टाइगर श्रॉफ और दिशा पाटनी को लॉकडाउन में घूमना महंगा पड़ गया

दिशा पाटनी और टाइगर श्रॉफ. दोनों टहलने निकले थे और मुसीबत में पड़ गए. दरअसल, मुंबई पुलिस ने दोनों एक्टर्स के खिलाफ FIR दर्ज की है. आरोप है कि दोनों ने कोविड 19 लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन किया था. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक दोनों बुधवार को बैंडस्टैंड प्रॉमेनाड पर घूम रहे थे. पुलिस ने दोनों को रोककर पूछा कि दोपहर 2 बजे के बाद वो बाहर क्या कर रहे हैं. लेकिन सामने से कोई वैलिड जवाब नहीं आया.

न्यूज़ एजेंसी ANI के मुताबिक पुलिस की एक टीम ने टाइगर और दिशा को शाम के वक्त बैंडस्टैंड एरिया में घूमते हुए देखा. पुलिस के पूछताछ करने पर दोनों के पास कोई संतुष्टि भरा जवाब नहीं था. पुलिस ने दोनों की डिटेल्स नोट की. साथ ही उनके खिलाफ केस रजिस्टर कर लिया. पुलिस ने IPC की धारा 188 के तहत दोनों के खिलाफ केस दर्ज किया है. हालांकि, इस मामले में अभी कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है क्योंकि ये एक ज़मानती धारा है.

खुद मुंबई पुलिस ने ये न्यूज़ कंफर्म कर दी. लेकिन अपने अनोखे अंदाज़ में. ट्वीट किया,

कोरोना वायरस के खिलाफ चल रही ‘वॉर’ में बांद्रा की सड़कों पर ‘मलंग’ हो जाना दो एक्टर्स को भारी पड़ा. जिनके खिलाफ IPC की धारा 188, 34 के तहत बांद्रा पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया है. हम सभी मुंबईवासियों से दरख्वास्त करते हैं कि गैर-ज़रूरी ‘हीरोपंती’ न दिखाएं. जिससे कोरोना के खिलाफ उनकी सुरक्षा खतरे में पड़ जाए.

काफी सटल मुंबई पुलिस. मानना पड़ेगा. खैर, न्यूज़ बाहर आने के बाद आया टाइगर की मां आयशा श्रॉफ का जवाब. जिन्होंने ऐसी सभी खबरों का खंडन कर दिया. दरअसल, फोटोग्राफर विरल भयानी ने टाइगर और दिशा के खिलाफ FIR वाली न्यूज़ अपने इंस्टाग्राम पर शेयर की थी. पोस्ट के जवाब में आयेशा ने कमेंट कर लिखा,

तुम्हारे फैक्ट्स गलत हैं डियर. वो घर आ रहे थे और पुलिस ने उन्हें रोककर सिर्फ उनका आधार कार्ड चेक किया था. ऐसे वक्त में बाहर टहलने में किसी की दिलचस्पी नहीं है. ऐसा कुछ भी कहने से पहले अपने फैक्ट्स जांच लिया करो. थैंक्स.

Ayesha Shroff Instagram
आयेशा ने ऐसी सभी बातों को नकारा है. फोटो – इंस्टाग्राम

विरल के इंस्टाग्राम से अब ये पोस्ट डिलीट हो चुका है.

बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते राज्य सरकार ने अप्रैल के महीने में लॉकडाउन लगाया था. लॉकडाउन की वजह से राज्य में होने वाली फिल्मों और टीवी शोज़ की शूटिंग पर भी रोक लगा दी गई. जिस वजह से फिल्ममेकर्स ने हैदराबाद, राजस्थान और गुजरात जैसे राज्यों में जाकर कम क्रू के साथ शूटिंग शुरू की. कोरोना के मामलों को कंट्रोल करने के लिए लगाया लॉकडाउन 15 जून तक रहेगा. इसके अंतर्गत सभी ज़रूरी सामान मुहैया कराने वाली दुकानें सुबह 07 बजे से लेकर दोपहर 02 बजे तक खोली जा सकती हैं.


वीडियो: विद्या बालन की ‘शेरनी’ के ट्रेलर में क्या खास है, जो आपने नोटिस नहीं किया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपीः भाजपा नेताओं ने हिस्ट्रीशीटर को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाकर भगा दिया, पुलिस अब तक तलाश रही है

यूपीः भाजपा नेताओं ने हिस्ट्रीशीटर को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाकर भगा दिया, पुलिस अब तक तलाश रही है

कानपुर की घटना, पुलिस ने शुरुआती FIR में बीजेपी नेताओं का नाम ही नहीं लिखा.

राजस्थान में क्या सचमुच कोरोना वैक्सीन की जमकर बर्बादी हो रही है?

राजस्थान में क्या सचमुच कोरोना वैक्सीन की जमकर बर्बादी हो रही है?

अशोक गहलोत सरकार का इनकार, लेकिन आंकड़े कुछ और ही बता रहे.

रिटायर्ड जस्टिस अरुण मिश्रा को मोदी सरकार ने NHRC चेयरमैन बनाया तो बवाल क्यों हो रहा है?

रिटायर्ड जस्टिस अरुण मिश्रा को मोदी सरकार ने NHRC चेयरमैन बनाया तो बवाल क्यों हो रहा है?

लोग जस्टिस अरुण मिश्रा को इस पद के लिए चुने जाने का बस एक ही कारण गिना रहे हैं.

क्या कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को लेकर मोदी सरकार झूठ बोल रही है?

क्या कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को लेकर मोदी सरकार झूठ बोल रही है?

अलग-अलग आंकड़े क्या कहानी बताते हैं?

लक्षद्वीप में दारू और बीफ़ वाले नियमों पर बवाल बढ़ा तो अमित शाह ने क्या कहा?

लक्षद्वीप में दारू और बीफ़ वाले नियमों पर बवाल बढ़ा तो अमित शाह ने क्या कहा?

लक्षद्वीप के सांसद मोहम्मद फैज़ल ख़ुद मिलने गए थे अमित शाह से

पत्रकार से IAS बने अलपन बंदोपाध्याय, जो ममता और मोदी सरकार में रस्साकशी की नई वजह बन गए हैं

पत्रकार से IAS बने अलपन बंदोपाध्याय, जो ममता और मोदी सरकार में रस्साकशी की नई वजह बन गए हैं

ममता बनर्जी ने केंद्र के आदेश की क्या काट ढूंढ निकाली है?

वैक्सीनेशन पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को घेरा, पूछा- वैक्सीन का एक रेट क्यों नहीं?

वैक्सीनेशन पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को घेरा, पूछा- वैक्सीन का एक रेट क्यों नहीं?

वैक्सीन की कमी, राज्यों के टेंडर जैसे मुद्दों पर भी सरकार से तीखे सवाल किए.

यूपी के महोबा में कूड़ा ढोने वाली गाड़ी से शव मोर्चरी में पहुंचाया

यूपी के महोबा में कूड़ा ढोने वाली गाड़ी से शव मोर्चरी में पहुंचाया

विवाद बढ़ता देख अब जांच के आदेश दिए गए.

इस जिले के DM का आदेश- वैक्सीनेशन के बिना नहीं मिलेगी सरकारी कर्मचारियों को सैलरी

इस जिले के DM का आदेश- वैक्सीनेशन के बिना नहीं मिलेगी सरकारी कर्मचारियों को सैलरी

कुछ सरकारी कर्मचारियों ने इस फैसले पर नाराजगी जताई.

छेड़छाड़ कर स्लॉट गायब करने की बात पर सरकार ने कहा-कोविन प्लेटफॉर्म हैक नहीं हो सकता

छेड़छाड़ कर स्लॉट गायब करने की बात पर सरकार ने कहा-कोविन प्लेटफॉर्म हैक नहीं हो सकता

सोशल मीडिया पर कुछ लोगों का कहना है कि ऐप के साथ छेड़छाड़ कर स्लॉट गायब किए जा रहे हैं.