Submit your post

Follow Us

'16 दिसंबर दोहराए जाने के डर से रेप के दौरान स्ट्रगल नहीं किया'

फिल्मकार महमूद फारूकी पर रेप का इल्जाम लगाने वाली अमेरिकी औरत ने अपने बयान में कहा है कि रेप के समय उसने किसी तरह का विरोध नहीं जताया क्योंकि उसे डर था कि उसके साथ 16 दिसंबर वाला कांड दोहरा न दिया जाए.

लड़की की वकील वृंदा ग्रोवर ने बताया कि लड़की ने ‘निर्भया’ केस के बाद बनी डाक्यूमेंट्री देखी थी. जिसमें रेपिस्ट ने कहा था कि अगर निर्भया रेप के दौरान खुद को छुड़ाने के लिए स्ट्रगल न करती, तो आज वो जिंदा होती. जब आरोपी यानी फारूकी ने लड़की को जबरन नीचे ढकेला, उसे लगा कि इसका विरोध करने पर उसकी जान जा सकती है. इसलिए वो चुप रही.

वृंदा के मुताबिक कोर्ट के लिए जरूरी है कि केस का कल्चरल बैकग्राउंड समझा जाए. “वो एक अमेरिकी लड़की है. उसे रजामंदी से किए गए एक किस और जबरन किए गए रेप के बीच फर्क पता है. उसने कोर्ट से कुछ भी नहीं छिपाया है.”

फारूकी के डिफेंस में कहा गया कि लड़की का दिमागी संतुलन ठीक नहीं था. जिसके जवाब में वृंदा का कहना है कि लड़की यहां स्कॉलरशिप पर रिसर्च के लिए आई थी. स्कॉलरशिप कभी किसी ‘डिस्टर्ब्ड’ दिमाग वाली लड़की को नहीं मिल सकती.

19 जून 2015 को इस अमेरिकी रिसर्च स्कॉलर ने फिल्मकार और दास्तानगो महमूद फारूकी के खिलाफ FIR लिखवाई थी. फारूकी पर लड़की को रेप करने का इल्जाम था. सितंबर में केस पर सुनवाई शुरू हो गई थी.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

गलवान घाटी में अपने सैनिकों के मारे जाने पर चीन ने क्या कहा?

भारत को आशंका है कि चीन के करीब 40 जवान मारे गए थे.

बस कंडक्टर 4 साल तक हाईवे पर ट्रक ड्राइवरों के साथ घूमे, डॉक्यूमेंट्री शूट की, अब बेस्ट फिल्म का अवॉर्ड मिला

अमर माईबाम ने डॉक्यूमेंट्री बनाई है – Highways of Life.

नक्सल प्रभावित क्षेत्र में बच्चों को IIT के लिए पढ़ाने वाले IPS पर बनी फिल्म, कहां रिलीज़ हो रही है?

जाने-माने निर्देशक प्रकाश झा ने बनाई है, 'परीक्षा-दी फाइनल टेस्ट'.

विराट कोहली को सचिन जैसा बताने वालों को गावस्कर की ये बात सुननी चाहिए

किस मामले में रिचर्ड्स, लक्ष्मण और विश्वनाथ जैसे हैं कोहली?

जिस छोटी सी कंपनी ने भारत पर दो सौ साल राज किया, उस पर हिंदी सीरीज़ बनने जा रही है

मशहूर लेखक ने इस पर मशहूर किताब लिखी, अब इसके एक्सक्लूसिव राइट्स भारतीय प्रड्यूसर ने हासिल किए.

बिहार चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने ये सात बड़े संकेत दिए हैं

कंटेनमेंट जोन में रहने वाले और कोरोना संक्रमित कैसे वोट करेंगे?

पाकिस्तान क्रिकेट के लिए बुरी खबर, ये 10 क्रिकेटर कोरोना वायरस की चपेट में हैं

पाकिस्तान के इंग्लैंड दौरे पर संकट हो गया है.

पतंजलि की कोरोना की दवा पर आयुष मंत्रालय ने कहा- ज़रा रुक जाइए!

रामदेव कोरोना की दवा बेचने की तैयारी में थे, लेकिन...

क्या है फैविपिराविर टैबलेट, जिसे अब तक कोरोना के लिए सबसे कारगर बताया जा रहा

आसान भाषा में इसका सारा गणित समझिए.

सुतपा सिकदर ने सुशांत के डॉक्टर पर जो लिखा था, वो गलत निकला तो माफी मांग ली

ऐसा क्या था उस खबर में जो सुतपा ने शेयर की थी?