Submit your post

Follow Us

इंदौर के इस मोहल्ले में क्या पुलिस ने ज़बरन लोगों को पीटा और जेल में डाल दिया?

मध्य प्रदेश का इंदौर. कोरोना वायरस का हॉट स्पॉट बना हुआ है. 1500 से ज्यादा पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं. लॉकडाउन अभी भी जारी है. इसी के साथ जारी है पुलिस की सख्ती. पत्रकार राहुल कारिया ने जानकारी दी कि दो दिन पहले इंदौर की गुलज़ार कॉलोनी में पुलिस ने जमकर लाठियां बरसाई. सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो भी वायरल हुए. ये बोलकर शेयर किया गया कि वो इंदौर पुलिस के हैं.

क्या दिख रहा है वीडियो में?

पुलिस लाठियां बरसाते दिख रही है. एक वीडियो में दिख रहा है कि बाइक पर सवार दो आदमी जा रहे हैं. पुलिस ने उन्हें रोका और डंडे पर डंडे बरसाने शुरू कर दिए.

दूसरे वीडियो में दिख रहा है कि एक आदमी गैस की टंकी लेकर आ रहा है. सामने से पुलिस की गाड़ी आई. पुलिसवाले उतरे और उस आदमी को पीटना शुरू कर दिया.

राहुल कारिया ने बताया कि दोनों वीडियो 2 मई के हैं. उस दिन गुलज़ार कॉलोनी में करीब 8-10 लोगों को पुलिस ने पीटा था. एक व्यक्ति की गिरफ्तारी भी की. व्यक्ति का नाम- राज़िक खान है.

गिरफ्तार हुए आदमी की पत्नी क्या बोली?

इनकी पत्नी शाहीना से ‘दी लल्लनटॉप’ ने बात की. उन्होंने बताया कि वो आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हैं. एक दिन पहले कार्यकर्ताओं की एक मीटिंग में गई थीं. कार्यकर्ताओं की मीटिंग में. उनके पति उन्हें लेकर गए थे. वहां आशा कार्यकर्ता भी मौजूद थीं. मीटिंग में उनसे पूछा गया कि उनके इलाके में किसी तरह की कोई परेशानी तो नहीं हो रही? जवाब में शाहीना ने बताया कि लॉकडाउन का पालन ठीक से नहीं हो रहा.

अगले दिन पति गिरफ्तार हो गए

शाहीना ने बताया कि अगले दिन वो उनके पति बाइक लेकर उन्हें ड्यूटी पर ड्रॉप करने गए. उस वक्त शाहीना के ससुर, यानी राज़िक के पिता चौहारे पर मौजूद थे. उन्होंने ऑनलाइन दवा मंगाई थी, वही देने के लिए डिलीवरी बॉय आया था. उसे घर नहीं मिल रहा था, इसलिए उनके ससुर चौहारे तक गए थे. शाहीना बताती हैं,

‘मुझे ड्यूटी पर छोड़ने के बाद मेरे पति अपने पिता को गाड़ी में बैठाकर घर जाने लगे. तभी पुलिसवाले आए. उन्होंने मेरे पति को पीटा. वो किसी तरह भागते हुए दूसरे रास्ते से घर पहुंचे. मेरे ससुर भी घर पहुंचे. फिर मेरे पति घर जाकर सो गए. दोपहर करीब दो बज वो कलेक्टर ऑफिस जाने के लिए निकले. पुलिसवालों की शिकायत करने. तभी मैं भी उन्हें रास्ते में मिल गई. मैं भी साथ जाने लगी. उसी वक्त पुलिस की गाड़ियां आईं. उन्होंने मेरे पति को गाड़ी में डाला और लेकर चले गए. मैं वहीं रह गई.’

शाहीना बताती हैं कि उनके पति इस वक्त महू जेल में बंद हैं. उनका कहना है कि राज़िक ने कुछ नहीं किया, लेकिन फिर भी उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

इसके अलावा और भी बहुत से लोगों की शिकायत हमें मिली, जिन्होंने बताया कि वो दूध लेने बाहर निकले थे और पुलिसवालों ने उन्हें बुरी तरह पीट दिया. उनकी एक न सुनी. जिन्हें पीटा गया, उनमें नगर निगम के असिस्टेंट रेवेन्यू इंस्पेक्टर अज़ीम खान भी शामिल हैं. उनका कहना है कि दूध लेने निकले थे और पुलिस ने पीट दिया.

Indore Police
इन तस्वीरों में पुलिस की मार खाए लोग अपना जख्म दिखा रहे हैं. (फोटो क्रेडिट- राहुल कारिया)

क्या कहती है पुलिस?

टीआई भरत सिंह ठाकुर से जब पिटाई के वायरल वीडियो को लेकर सवाल किया गया, तब उन्होंने कहा कि उनकी जानकारी में ऐसी कोई घटना नहीं आई है.

मामले को और ठीक से जानने के लिए ‘दी लल्लनटॉप’ ने चीफ सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस (CSP) दिनेश अग्रवाल से बात की. पिटाई के वायरल वीडियो पर उन्होंने साफ कह दिया कि वो गुलज़ार कॉलोनी के वीडियो नहीं हैं. CSP ने कहा,

‘वो वीडियो गुलज़ार कॉलोनी के नहीं हैं, न ही मेरी पुलिस ने इस तरह से मार-पीट की है. कई बारी कोई सा भी वीडियो प्रोजेक्ट हो जाता है और बोल दिया जाता है कि इस जगह का है या उस जगह का है. जब हम बारीकी से उस वीडियो को देखते हैं, तब असलियत पता चलती है. पहले भी ऐसा मामला हो चुका है.’

राज़िक की गिरफ्तारी पर क्या बोले?

CSP दिनेश अग्रवाल ने कहा कि राज़िक ने उनके सिपाही से बदतमीजी की थी. सिपाही चेकिंग कर रहे थे, उस दौरान राज़िक ने लड़ाई की. CSP ने कहा,

‘राज़िक कानून का उल्लंघन कर रहा था, इसलिए उसे गिरफ्तार किया. उसने चेकिंग कर रहे सिपाही से मार-पीट की, फिर सामने थूककर भागने की कोशिश की. IPC की धारा 353 और 188 के तहत कार्रवाई हुई.’

आगे CSP ने कहा कि उनकी पुलिस दिन-रात काम कर रही है. पूरी ईमानदारी के साथ काम कर रही है, इसलिए पुलिस पर इस तरह के आरोप न लगाए जाएं. फिर हमने लोगों की पिटाई को लेकर सवाल किया. पूछा, ‘दूध लेने निकले लोगों को क्यों पीटा गया.’ उन्होंने जवाब दिया,

‘क्या कर्फ्यू में दूध खरीदना अलाऊ है? इंदौर में कलेक्टर का आदेश है कि सुबह 8 से 10 बजे तक घर-घर दूध पहुंचाया जाएगा. किसी को बाहर नहीं निकलना है. किसी को परमिशन नहीं है. हर ज़िले में अलग-अलग आदेश है. इंदौर में मेडिकल इमरजेंसी के अलावा किसी भी तरह से बाहर घूमने की परमिशन नहीं है. दूध, सब्ज़ी, फल लेना किसी भी तरह से अलाऊ नहीं है. घर-घर नगर निगम द्वारा इसका वितरण किया जा रहा है. ये बात सबको पता है, पुलिस पेट्रोलिंग में लगातार ऐलान भी करती है.’

इंदौर DIG हरिनारायण चारी से भी हमारी बात हुई. उन्होंने बताया कि पिटाई के वायरल वीडियो का मामला उन तक पहुंच गया है और उन्होंने जांच के आदेश दे दिए हैं.

इंदौर पिछले कई दिनों से न्यूज़ में बना हुआ है. कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की वजह से, तो कभी डॉक्टर्स की टीम पर हमला होने की वजह से. अब एक बार फिर ये खबरों में है. इस बार सवाल पुलिस पर उठ रहे हैं.

देखिये भारत में कोरोना कहां-कहां और कितना फैल गया है.


वीडियो देखें: तबलीगी जमात के सदस्यों की तारीफ में IAS अधिकारी ने क्या कहा कि बवाल मच गया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

ये पूरा मामला तो वाकई हैरान कर देने वाला है.

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

कहा- आर्टिकल 370 को हटाया जाना चीन कभी स्वीकार नहीं करेगा.

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

2024 तक देश के 6.62 लाख गांवों तक सुविधा पहुंचाने का लक्ष्य है.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने CJI को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना पर लगाए गंभीर आरोप

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने CJI को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना पर लगाए गंभीर आरोप

जस्टिस एनवी रमन्ना अगले संभावित चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया बन सकते हैं.

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

रिपब्लिक टीवी का आरोप है कि FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर एक्शन नहीं लिया गया.

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

सीजन बदला पर पंजाब की हालत नहीं.

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

रैकेट में दो और चैनलों के भी नाम हैं, उनके मालिक गिरफ्तार कर लिए गए है.

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

गणित के मास्टर भी हैं CSK को पीटने वाले राहुल त्रिपाठी.

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

क्या ये चिराग पासवान के लिए ज़मीन तैयार करने की रणनीति है?