Submit your post

Follow Us

2016 की पूरी दुनिया के माहौल को बयान कर रहा है ये शब्द

नफरतों के दौर में नफरती शब्द भी पॉपुलर हो जाते हैं. ऐसा ही एक शब्द है Xenophobia. इस शब्द को Dictionary.com ने 2016 काWord of the year (साल का सबसे मशहूर शब्द) घोषित किया है. तो क्यों है Xenophobia नफरती शब्द? कब इसका यूज किया जाता है?

जर्मनी में एक छोटी मूंछों वाला तानाशाह था. हिटलर. उसने लोगों में छिपी नफरतों का जमकर इस्तेमाल किया था. यहूदियों के खिलाफ लोगों के दिमाग में ज़हर भर दिया था. उन्हें होलोकॉस्ट के दौरान गैस चैम्बर में डाल कर मार दिया गया. और ये सब किया गया ‘शुद्ध आर्य नस्ल’ के नाम पर. हिटलर ने उग्र राष्ट्रवाद का कॉकटेल लोगों को पिलाया था. उसकी हर स्पीच में We the Germans का जिक्र ज़रूर होता था. उसका मानना था सिर्फ जर्मन ही शुद्ध नस्ल वाले हैं. यहूदी उनके दुश्मन है. उनकी हर चीज जर्मंस से अलग है. वो ‘बाहरी’ हैं, इसलिए उनका ख़त्म होना ज़रूरी है ताकि हम राज कर सकें.

हिटलर ने यहूदियों के खिलाफ जो नफरत फैलाई, यही Xenophobia है. Xenophobia विदेशियों या अजनबियों को लेकर पैदा होने वाला डर है. इसमें कोई एक ग्रुप दूसरे ग्रुप से नफरत करता है. एक ग्रुप खुद को सुपीरियर मानता है. ये आइडेंटिटी क्राइसिस से भी जुड़ा है. लोग अपनी आइडेंटिटी को लेकर घबराए रहते हैं और इसकी वजह दूसरी आइडेंटिटी के लोगों की मौजूदगी को मानते हैं. नेता भी उनके इस डर का फायदा उठाते हैं. ऐसा दुनिया के कई कोनों में आज कल हो रहा है. अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप की जीत के पीछे भी इसी को वजह माना गया. ट्रंप ने नेटिव और मुसलमान लोगों के खिलाफ लोगों के अन्दर नफरत पैदा की.

कई बार लोग xenophobia औरracism के बीच कंफ्यूज कर जाते हैं. लेकिन रेसिज्म एक ही देश के लोगों के बीच हो सकता है, क्योंकि एक ही देश में अलग-अलग तरह के लोग रहते हैं. लेकिन xenophobia सिर्फ बाहरियों से नफरत के लिए इस्तेमाल किया जाता है. ये एक पॉलिटिकल टर्म है. इसका मेडिकल टर्म Phobia से कोई लेना-देना नहीं है.

इसमें अगले को ‘बाहरी’ बता कर उसके रीति-रिवाजों, पहनावों और धर्म पर भी सवाल उठाए जाते हैं. इसमें लोगों के अन्दर एक तरह का ‘सुपीरिऑरिटी काम्प्लेक्स’ पैदा किया जाता है कि तुम श्रेष्ठ हो. तुम मूल निवासी हो. ये दूसरे लोग तुम्हारी जगह ले लेंगे. एक दिन इनकी संख्या तुमसे ज्यादा हो जाएगी.

Dictionary.com में Xenophobia सर्च करने पर इसके रिजल्ट में दो मतलब आते हैं. ‘fear or hatred of foreigners, people from different cultures, or strangers’ और ‘fear or dislike of the customs, dress, etc., of people who are culturally different from oneself’. ये शब्द 2016 में Brexit vote के दौरान, सीरियन रिफ्यूजी, अमेरिका में आए दिन होने वाली पुलिस शूटिंग और चर्चा में आए गेविन ग्रिम केस में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया गया. गेविन ग्रिम का केस एक स्कूल में ट्रांसजेंडर के बाथरूम इस्तेमाल करने को लेकर था.

ये शब्द पुराने समय में ग्रीक लोगों ने ईजाद किया था. ये शब्द xeno और phobos को मिलाकर बना है. Xeno का मतलब होता है अजनबी या विदेशी. Phobos का मतलब होता है ‘डर’.

पहले ग्रीक कल्चर को सुप्रीम माना जाता था. इसलिए बाहर से आए लोगों के लिए ये शब्द इस्तेमाल होता था.इससे पहले वहां दूसरे कल्चर के लोगों के लिए barbarian शब्द इस्तेमाल होता था. वो इन्हें दास मानते थे. साउथ अफ्रीका जैसे देशों में इस तरह की बातों का एक लंबा इतिहास है. भारत में भी ऐसे शुद्धतावादियों की कमी नहीं है.

आज तक समझ में नहीं आया किसी ख़ास जगह, समुदाय, जाति, धर्म में पैदा होने में किसी का क्या कंट्रोल है. ये सब महज एक संयोग है. फिर ऐसी बातों को लेकर घमंड करना या शर्म महसूस करना अजीब बात है.


ये स्टोरी निशान्त ने की है.

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.