Submit your post

Follow Us

CBI ने जज उत्तम आनंद की मौत के मामले में अब तक की सबसे बड़ी जानकारी दी है

धनबाद जज उत्तम आनंद की मौत के मामले में बड़ी जानकारी सामने आई है. केस की जांच कर रही CBI ने झारखंड हाई कोर्ट को बताया है कि जज उत्तम आनंद को जानबूझकर ऑटो से टक्कर मारी गई थी. CBI के इस बयान से ये शक और मजबूत हुआ है कि जज उत्तम आनंद की मौत किसी हादसे की वजह से नहीं हुई, बल्कि साजिश के तहत उनकी हत्या की गई.

गुरुवार 23 सितंबर को झारखंड हाई कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई की. इस दौरान CBI के जॉइंट डायरेक्टर शरद अग्रवाल ने जांच से जुड़ी चार फोरेंसिक रिपोर्ट कोर्ट के सामने रखीं. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, शरद अग्रवाल ने साफ किया कि जिस ऑटो से टकराकर दिवंगत न्यायाधीश की मौत हुई थी, उसके चालक ने जानबूझकर उन्हें टक्कर मारी थी. CBI ने अदालत को बताया कि उसकी टीम हर तरह से इस केस की जांच में जुटी हुई है और कोई भी एंगल छोड़ा नहीं जाएगा.

सीबीआई के 20 अफसरों की टीम कर रही जांच

सुनवाई के दौरान सीबीआई अधिकारी ने कहा कि इस मामले में पकड़े गए दो आरोपियों में से एक पेशेवर मोबाइल चोर है. उन्होंने ये भी बताया कि दोनों आरोपी बार-बार अपने बयान बदल रहे हैं. हालांकि सीबीआई की 20 अफसरों की स्पेशल टीम लगातार उनसे पूछताछ में जुटी हुई है. यही जानकारी देते हुए जांच एजेंसी के उच्च अधिकारी ने कहा कि अब तक की जांच में पता चल गया है कि ऑटो चालक ने जज को जानबूझकर टक्कर मारी थी. लेकिन उसने ऐसा किसके कहने पर किया, इसका पता अभी भी लगाया जा रहा है.

सुनवाई के बाद झारखंड हाई कोर्ट ने सीबीआई को अगले हफ्ते भी रिपोर्ट पेश करने को कहा है.

बता दें कि इसी साल 28 जुलाई की सुबह जज उत्तम आनंद को एक ऑटो ने टक्कर मार दी थी. वे उस समय मॉर्निंग वॉक कर रहे थे. टक्कर से घायल हुए उत्तम आनंद की उसी दिन इलाज के दौरान मौत हो गई थी. शुरू में इसे हादसा समझा जा रहा था. लेकिन घटना का सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद मामला पूरी तरह बदल गया. फुटेज में दिख रहा था कि उत्तम आनंद सड़क के किनारे चल रहे थे. जबकि ऑटो ने बीच सड़क से अपना रास्ता बदलते हुए किनारे-किनारे जा रहे जज को टक्कर मारी थी. ये देखकर हर किसी को संदेह हुआ कि ऑटो चालक ने जानबूझकर ऐसा किया है.

सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा था मामला

घटना के बाद देशभर में हंगामा हुआ, विशेषकर न्यायपालिका से जुड़े लोगों ने इसका जमकर विरोध किया. यहां तक की सुप्रीम कोर्ट ने स्वतः संज्ञान लेते हुए इसकी सुनवाई शुरू की. उसने झारछंड के DGP और मुख्य सचिव से मामले की पूरी रिपोर्ट मांगी थी.

Uttam Anand's Alleged Murder Case
केस की जांच के दौरान सीबीआई की टीम. (तस्वीर- पीटीआई)

वहीं, जज उत्तम आनंद के परिवार ने उनकी मौत के पीछे की वजह उनका एक फैसला बताया था. खबरों के मुताबिक, पीड़ित जज के पिता सदानंद प्रसाद ने कहा था,

“ऑटो ने टक्कर जानबूझकर मारी है. कुछ दिन पहले मेरे बेटे ने  एक व्यक्ति को उम्रकैद की सजा सुनाई थी. हो सकता है कि ये लोग मेरे बेटे के पीछे पड़ गए होंगे.”

वहीं, उत्तम आनंद के भाई सुमन शंभु ने कहा था,

“सजा पाने वाले आरोपियों ने ही खुन्नस के तहत भाई की हत्या करवाई है. क्योंकि उन्होंने दो मामलों में दो सगे भाई समेत तीन लोगों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी.”

Additional District Judge Uttam Anand's Alleged Murder Case
हादसे को रीक्रिएट करने की कोशिश करती सीबीआई की टीम. (तस्वीर- पीटीआई)

वहीं, मीडिया रिपोर्टों में न्यायाधीश उत्तम आनंद की मौत को रंजय हत्याकांड से भी जोड़कर देखा गया था. हादसे से छह महीने पहले ही उत्तम आनंद ने धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश के रूप में काम संभाला था. वे चर्चित रंजय हत्याकांड की सुनवाई कर रहे थे. रंजय सिंह धनबाद के बाहुबली नेता और झरिया के पूर्व विधायक संजीव सिंह के काफी करीबी माने जाते थे. जनवरी 2017 में उनकी हत्या कर दी गई थी. बताया गया कि इसी से जुड़े मामले की सुनवाई कर रहे उत्तम आनंद ने शूटर अभिनव सिंह और एक अन्य आरोपी की जमानत याचिका खारिज कर दी थी.

(ये स्टोरी हमारे यहां इंटर्नशिप कर रहीं सृष्टि ने लिखी है.)


वीडियो- मॉर्निंग वॉक पर निकले जज की रोड एक्सीडेंट में मौत का वीडियो वायरल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.